वन सुरक्षा को बने भवन का अब तक नहीं खुला ताला

वन सुरक्षा को बने भवन का अब तक नहीं खुला ताला
Publish Date:Fri, 30 Oct 2020 05:03 PM (IST) Author: Jagran

संवाद सहयोगी, मुरलीपहाड़ी (जामताड़ा): नारायणपुर वन क्षेत्र के चैनपुर में वन एवं पर्यावरण विभाग का वनरक्षी आवास इन दिनों भूत बंगला में तब्दील हो गया है। लाखों रुपए की लागत से बने इस आवास में रहने वाला कोई नहीं है।

पांच छह वर्ष पूर्व बने इस आवास में निर्माण के समय से दरवाजे में जो ताला लटका हुआ है उसे दोबारा खोलने वाले कोई नहीं मिला। चार कमरों का यह भवन सुंदर है। इसे इसलिए बनाया गया था ताकि चैनपुर के इलाके में जो जंगल हैं उसकी सुरक्षा ,देखभाल की जिम्मेदारी संभालने वाले कर्मी यहां रख सकें। लेकिन दुर्भाग्य कहिए भवन बनकर तैयार हो गया। सारे साज-सज्जा के सामान लगा दिए गए। क्षेत्र में पेड़-पौधे जंगल भी लगे। लेकिन आवास में रहकर कोई वनरक्षी इस भवन का उपयोग करें, यह अब तक संभव नहीं हो पाया। अभी तो हालत ऐसी है कि भवन के विभिन्न कमरों की खिड़कियां खुली रहती है। आंगन घास से भर गया है। साफ-सफाई करने वाला कोई नहीं है। लोहे का गेट जंग से बर्बाद हो रहा है। निर्माण के बाद से भवन का रंग-रोगन नहीं होने से बदरंग हो रहा है। यदि इसी हालत में इस भवन को छोड़ दिया जाए तो एक दो वर्ष बाद यह भवन खंडहर में बदलने लगेगा। प्रमुख अंजनी हेंब्रम ने बताया कि जब लाखों की लागत से वनरक्षी आवास बना हुआ है तो उसका उपयोग होना चाहिए । भवन का उपयोग नहीं होना विभाग की उदासीनता को दर्शा रहा है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.