अस्पतालों से गायब हो जा रहा स्वाब नमूना

अस्पतालों से गायब हो जा रहा स्वाब नमूना

नमूना जांच की सुस्त गति व नमूना जांच का परिणाम एसएमएस के माध्यम से नहीं मिलने से लोगों की परेशानी बढ़ गई है। लोगों को नमूना संग्रह के लिए एक-दो दिन जबकि नमूना की जांच रिपोर्ट प्राप्त करने के लिए आधा दर्जन बार अस्पताल का चक्कर या स्वास्थ्य कर्मियों से दूरभाष पर संपर्क करना पड़ता है।

JagranMon, 19 Apr 2021 07:46 PM (IST)

संवाद सहयोगी, जामताड़ा : नमूना जांच की सुस्त गति व नमूना जांच का परिणाम एसएमएस के माध्यम से नहीं मिलने से लोगों की परेशानी बढ़ गई है। लोगों को नमूना संग्रह के लिए एक-दो दिन जबकि नमूना की जांच रिपोर्ट प्राप्त करने के लिए आधा दर्जन बार अस्पताल का चक्कर या स्वास्थ्य कर्मियों से दूरभाष पर संपर्क करना पड़ता है।

जिले में तीन तरीके से नमूना की जांच चल रही है। पहला रैपिड एंटीजन टेस्ट किट से नमूना संग्रह के 30 मिनट बाद जांच रिपोर्ट संबंधित व्यक्ति को मिल जाती है। लेकिन रैपिड एंटीजन टेस्ट किट के अभाव होने के कारण इस प्रकार की जांच जिले में प्रभावित है। दूसरी जांच ट्रूनेट मशीन के माध्यम से की जाती है। इसके लिए जिला स्तरीय कोरोना अस्पताल उदलबनी जांच घर में छह ट्रूनेट मशीन लगी है। ट्रूनेट जांच मशीन के माध्यम से 24 घंटे में दो से ढाई सौ नमूना की जांच होने का लक्ष्य निर्धारित है। आरटीपीसीआर जांच की तीसरी विधि है। इसमें आर्टिफिशियल जांच कराने के लिए नमूना संग्रह किया जाता है। इसके उपरांत जिले से संग्रहित नमूना पीएमसीएच धनबाद स्थित लैब जांच के लिए भेजा जाता है। आरटीपीसीआर की जांच रिपोर्ट नमूना भेजने के आठ से 12 दिन के बाद जांच रिपोर्ट मिलती है। ऐसे में लक्षण वाले व्यक्तियों का उपचार आरंभ नहीं हो पाता है। इस कारण मरीज की स्थिति गंभीर हो जाती है। इतना ही नहीं संबंधित व्यक्ति के संपर्क में कई लोग आ जाते हैं।

-- 2184 नमूना लंबित : जिला स्तरीय कोरोना डेडिकेटेड अस्पताल में पिछले एक पखवारे से ट्रूनेट मशीन के माध्यम से नमूना जांच कार्य धीमी चल रही है। इसी का परिणाम है कि 24 घंटे के अंदर मिलने वाली जांच रिपोर्ट अब पांच दिन बाद भी नहीं मिल पाती। वर्तमान समय में कोरोना अस्पताल स्थित लैब में 2184 ट्रूनेट जांच के लिए संग्रहित नमूना लंबित पड़ा हुआ है। संबंधित व्यक्ति नमूना जांच रिपोर्ट के लिए कभी लैब कर्मियों से कभी चिकित्सक से संपर्क करते हैं। लेकिन उसे जांच रिपोर्ट नहीं मिल पाती। । इतना ही नहीं जांच से पूर्व कई व्यक्तियों के संग्रहित नमूना भी गायब हो जा रहा।

-- 5338 नमूना लंबित : जिले में पिछले अप्रैल माह से अब तक आरटीपीसीआर जांच के लिए स्वास्थ्य विभाग ने 65625 व्यक्तियों का नमूना संग्रह किया है। जबकि अब तक 60287 संग्रहित नमूनों की जांच आरटीपीसीआर के माध्यम से हो चुकी है। वर्तमान समय में 5338 नमूना की जांच विभिन्न लैब में लंबित है। संबंधित व्यक्ति नमूना जांच रिपोर्ट प्राप्त करने के लिए यत्र तत्र भटक रहे हैं। नमूना जांच गति में तेजी लाने और संग्रहित नमूना गायब नहीं हो, इसको लेकर सोमवार को जिला स्तरीय कोरोना अस्पताल उदलबनी का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के क्रम में तीन लड़कियां समेत 5-6 लोगों का संग्रहित नमूना जांच से पूर्व गायब हो गया था। तत्काल उक्त लोगों को नया नमूना संग्रह करवा कर जांच कराई गई। अस्पताल प्रबंधन को निर्देश दिया गया है कि संग्रहित नमूना किसी भी स्थिति में गायब नहीं होना चाहिए। नमूना जांच रिपोर्ट प्रत्येक व्यक्ति को समय पर एसएमएस के माध्यम से देने निर्देश दिया गया।

संजय पांडे, अनुमंडल पदाधिकारी, जामताड़ा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.