दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

तकनीकी गड़बड़ी से दोपहर बाद ऑनलाइन पास बनना शुरू

तकनीकी गड़बड़ी से दोपहर बाद ऑनलाइन पास बनना शुरू

जामताड़ा वाहन आवाजाही के लिए राज्य परिवहन कार्यालय से ऑनलाइन ई-पास बनने का काम रविवार

JagranSun, 16 May 2021 07:31 PM (IST)

जामताड़ा : वाहन आवाजाही के लिए राज्य परिवहन कार्यालय से ऑनलाइन ई-पास बनने का काम रविवार दोपहर बाद शुरू हो गया है। लोगों को पास बनाने के लिए जिला या राज्य परिवहन कार्यालय का चक्कर नहीं लगाना पड़ा। घर बैठे जरूरतमंद लोग मोबाइल के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन करने के उपरांत उन्हें तत्काल निश्शुल्क ई-पास उपलब्ध कराया जा रहा है। पहले दिन सुबह से दोपहर तक विभागीय वेबसाइट की तकनीकी गड़बड़ी के कारण ई-पास का आवेदन व ई-पास निर्गत का कार्य बाधित रहा। वेबसाइट की तकनीकी खराबी दोपहर बाद दुरुस्त हुई। उसके बाद ई-पास का ऑनलाइन आवेदन व निर्गत की प्रक्रिया शुरू हुई। दोपहर बाद जिले के पांच दर्जन जरूरतमंद लोगों ने परिवहन ई-पास निर्गत हुआ।

16 मई से जिले में लॉकडाउन को सख्ती से लागू करने का प्रयास किया गया, लेकिन ई-पास निर्गत करने से संबंधित वेबसाइट झारखंड ट्रेवल ई-पास ऐडदरेट ऑफ ई-पास झारखंड डॉट एनआइसी डॉट इन में तकनीकी गड़बड़ी रहने के कारण रविवार को सुबह से दोपहर तक प्रशासन ने थोड़ी सी छूट दी। अब लोगों को घर से निकलने के लिए ई-पास की अनिवार्यता होगी। अगर आप घर से आसपास की दुकानों में खरीदारी करने जा रहे हैं तो भी। बाहर निकलने की अनिवार्यता खत्म करने की मंशा से सरकार ने यह व्यवस्था की है और इसके बावजूद किसी को निकलने की जरूरत पड़ रही है तो उन्हें अपने निजी वाहन के लिए ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से पास लेना होगा। ई-पास झारखंड डॉट एनआइसी डॉट इन शनिवार से आम लोगों के लिए उपलब्ध हो गया है।

आम लोग ऑनलाइन पोर्टल पर ही आवेदन कर रहे हैं और यहीं से पास भी जारी हो रहा है। इसके लिए ना तो डीटीओ या परिवहन विभाग के किसी दफ्तर में जाना होगा और ना ही किसी दलाल से मदद लेने की आवश्यकता है। ऐसी व्यवस्था में सबसे बेहतर होगा की सामग्रियों की खरीदारी के लिए भी उतनी ही दूर जाएं जितनी दूर पैदल चल सकते हैं।

अधिकारी के मुताबिक ई-पास बनाने की प्रक्रिया : सबसे पहले ई-पास झारखंड डॉट एनआइसीडॉट इन पर लॉग इन करना पड़ेगा। फिर एक्टिव मोबाइल नंबर को दो बार रिजस्टर्ड करने का ऑप्शन आएगा। जिसे रजिस्टर्ड करना होगा। फोन नंबर डालने के बाद आपको खुद ही एक पासवर्ड जनरेट करना होगा। पासवर्ड बनाने के लिए एक पॉलिसी बनाई गई है। यानी पासवर्ड में एक कैपिटल लेटर, एक लोअर केश लेटर एक न्यूमेरिक नंबर (0-9) और एक स्पेशल कैरेक्टर रखना अनिवार्य होगा। जैसे आप पासवर्ड इस तरह बना सकते है। एएमएएन ऐडदरेट ऑफ 21 पुन: पासवर्ड कंफर्म करने का ऑप्शन आएगा। इस पर बनाया गया पासवर्ड डालना होगा। फिर आपके सामने झारखंड सरकार का डैशबोर्ड आएगा। जिसपर फोन नंबर, पासवर्ड डालने के बाद पर्सनल जानकारी देने का ऑप्शन खुल जाएगा। पर्सनल जानकारी और डॉक्यूमेंट जमा करने के ऑप्शन में पूरी जानकारी देनी होगी। डॉक्यूमेंट के लिए वोटर आइडी कार्ड, आधार कार्ड, पासपोर्ट, पैन कार्ड, ड्राइविग लाइसेंस का ऑप्शन दिया गया है। जो भी डॉक्यूमेंट आप सबमिट करते हैं, उसका आइडी नंबर और एक फोटो में होना चाहिए। पर्सनल जानकारी देने के बाद आपके पास ई-पास का ऑप्शन आएगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.