B School Placement : बिजनेस स्कूलों में धनवर्षा, समर इंटर्नशिप के स्टाइपेंड में 10 प्रतिशत तक उछाल

B School Placement कोरोना संक्रमण की रफ्तार धीमी होने के साथ ही अर्थव्यवस्था पटरी पर आ रही है। इसका सीधा असर बिजनेस स्कूल पर पड़ा है जो छात्रों के लिए सुखद संकेत है। समर इंटर्नशिप के दौरान मिलने वाले स्टाइपेंड में उछाल देखने को मिल रहा है...

Jitendra SinghPublish:Sat, 23 Oct 2021 11:15 AM (IST) Updated:Sat, 23 Oct 2021 11:15 AM (IST)
B School Placement : बिजनेस स्कूलों में धनवर्षा, समर इंटर्नशिप के स्टाइपेंड में 10 प्रतिशत तक उछाल
B School Placement : बिजनेस स्कूलों में धनवर्षा, समर इंटर्नशिप के स्टाइपेंड में 10 प्रतिशत तक उछाल

जमशेदपुर, जासं। यदि कुछ शीर्ष बिजनेस स्कूलों (बी-स्कूलों) में गर्मियों के शुरुआती प्लेसमेंट के परिणाम पर नजर करें तो आगामी अंतिम प्लेसमेंट बेहतर होने के संकेत है। न केवल दो महीने के औसत स्टाइपेंड में 5-10 प्रतिशत की वृद्धि हुई है, बल्कि पिछले वर्ष की तुलना में उच्चतम स्टाइपेंड में भी वृद्धि हुई है।

एक्सएलआरआई में 6.8 लाख का स्टाइपेंड

उदाहरण के लिए एक्सएलआरआई-जेवियर स्कूल ऑफ मैनेजमेंट ने न केवल दो दिनों में समर प्लेसमेंट को पूरा किया। इस संस्थान को बीएफएसआई सेक्टर में दो महीने के लिए 6.8 लाख रुपये का उच्चतम स्टाइपेंड भी छात्रों को आकर्षित किया। पिछले वर्ष यह दो महीने के लिए 5 लाख रुपये के उच्चतम स्टाइपेंड से ऊपर था।

एक्सएलआरआई जमशेदपुर और दिल्ली-एनसीआर कैंपस में समर इंटर्नशिप के लिए बिजनेस मैनेजमेंट और ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट प्रोग्राम के 470 छात्रों के अपने सबसे बड़े बैच (2021-23) ने फर्मों सहित 127 कंसल्टिंग कॉहोर्ट द्वारा किए गए सबसे अधिक ऑफर दिखा।

आईआईएम कोझोकोड

एफएमएस दिल्ली के स्टाइपेंड में भी उछाल

इसी तरह फैकल्टी ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज (एफएमएस) दिल्ली ने अपने दो महीने के लिए 2.62 लाख रुपये के औसत स्टाइपेंड में नौ प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की। साथ ही बीएफएसआई क्षेत्र द्वारा छात्र को 5 लाख रुपये की उच्चतम स्कॉलरशिप प्रदान की।

आईआईएम कोझीकोड का भी बेहतर प्रदर्शन

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट (आईआईएम) कोझीकोड ने अपने सभी 559 छात्रों के लिए इंटर्नशिप ऑफर हासिल करके अपनी समर प्लेसमेंट प्रक्रिया को समाप्त कर दिया। पिछले वर्ष की तुलना में 2 लाख रुपए प्रति वर्ष के औसत स्टाइपेंड में 6.4 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई।

अपने प्रमुख स्नातकोत्तर कार्यक्रम (पीजीपी) के 25 वें बैच के लिए वर्चुअल समर प्लेसमेंट प्रक्रिया, पीजीपी लिबरल स्टडीज एंड मैनेजमेंट के दूसरे बैच और आईआईएम कोझीकोड में पीजीपी फाइनेंस में भी सालाना 3.74 लाख रुपये का उच्चतम छात्रवृत्ति प्रदान किया। दूसरी ओर आईआईएम इंदौर ने अपने 2 लाख रुपये के औसत छात्रवृत्ति में ग्यारह प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की। इस साल यहां 4 लाख रुपए सबसे अधिक छात्रवृत्ति प्रदान की गई।

एक्सएलआरआई जमशेदपुर

साल दर साल बढ़ता जा रहा है समर प्लेसमेंट का महत्व

TAPMI सहित बी-स्कूलों में प्री-प्लेसमेंट ऑफर से आने वाले कुल फाइनल प्लेसमेंट ऑफर का लगभग 30-35 प्रतिशत तेजी से बढ़ रहा है। समर प्लेसमेंट का महत्व साल-दर-साल बढ़ता जा रहा है। उदाहरण के लिए एक्सएलआरआई के 33.33 प्रतिशत छात्रों ने पहले समाप्त हुए अंतिम प्लेसमेंट में पीपीओ प्राप्त किया था। पिछले साल एफएमएस दिल्ली ने 65 प्री-प्लेसमेंट ऑफर (पीपीओ) को आकर्षित किया था, जो इस दौरान प्राप्त कुल ऑफर का लगभग 30 प्रतिशत था। इसी तरह आईआईएम कोझीकोड में लगभग 29 प्रतिशत छात्रों ने पिछली समर इंटर्नशिप की सफलता को उजागर करते हुए 2021 में आयोजित पिछली अंतिम प्लेसमेंट प्रक्रिया में पीपीओ की खरीद की।

इस बार सभी रिकार्ड टूटने के आसार

एक्सएलआरआई-जेवियर स्कूल ऑफ मैनेजमेंट में प्लेसमेंट के प्रेसिडेंट ए कनगराज के अनुसार आर्थिक पुनरुत्थान के मौजूदा चरण के कारण बी-स्कूल अपने पिछले सभी रिकॉर्ड तोड़ने में सक्षम था।

आईआईएम कोझीकोड के निदेशक देबाशीष चटर्जी ने कहा कि प्रमुख बी-स्कूल एक चुनौतीपूर्ण आर्थिक और कारोबारी माहौल के बीच प्रस्तावों का एक व्यापक जनादेश हासिल करने में सक्षम था, जो नियोक्ताओं और पूर्व छात्रों के समर्थन से संभव हो पाया। चटर्जी ने कहा कि हम यह भी मानते हैं कि ग्रीष्मकालीन प्लेसमेंट के लिए जबरदस्त प्रतिक्रिया हमारे आगामी अंतिम प्लेसमेंट सीजन के लिए एक आशावादी शगुन है।