मुसाबनी के टुमांगकोचा में निर्माणाधीन पानी टंकी पर चढ़ने के दौरान गिरने पर मजदूर की मौत

टुमांगकोचा में ग्रामीण पेयजल आपूर्ति योजना के तहत बनाए गइ पानी टंकी की रंगाई करने के लिए चढ़ने केे दौरान 35 फीट ऊपर से नीचे गिरने से धालभूमगढ़ सोनाखून सरजामडीह निवासी 35 वर्षीय करण मुर्मू की मौत हो गई।

Rakesh RanjanWed, 21 Jul 2021 06:41 PM (IST)
निर्माणाधीन पानी टंकी जिससे गिरकर मजदूर की हुई मौत।

मुसाबनी (पूर्वी सिंहभूम), जागरण संवाददाता। पूर्वी सिंहभूम के मुसाबनी थाना क्षेत्र के फॉरेस्ट ब्लॉक पंचायत के टुमांगकोचा में ग्रामीण पेयजल आपूर्ति योजना के तहत बनाए गइ पानी टंकी की रंगाई करने के लिए चढ़ने केे दौरान 35 फीट ऊपर से नीचे गिरने से धालभूमगढ़ सोनाखून सरजामडीह निवासी 35 वर्षीय करण मुर्मू की मौत हो गई। घटना बुधवार सुबह लगभग 11 बजे की है।

घटना के संबंध में करण मुर्मू के साथ काम करने वाले मजदूर साथियों ने बताया कि पानी टंकी को पेंट करने के लिए तीन पेंटर ऊपर चढ़ेेे हुए थे। चार आदमी नीचे काम कर रहा था। करण मुर्मू भी पेंट करने के लिए टंकी के ऊपर चढ़ रहा था। इसी दौरान वह फिसल गया और लगभग 35 से 40 फीट नीचे गिर पड़ा। करण मुर्मु के सिर पर गंभीर चोट लगी थी। सिर फट गया था। घटना की सूचना अन्य मजदूरों ने साइन इंजीनियरिंग प्राइवेट लिमिटेड के मुसाबनी साइट सुपरवाइजर अरविंद कुमार सिंह को दी। अरविंद कुमार सिंह घटनास्थल पर पहुंचकर घायल करण मुर्मू को गाड़ी से लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र केन्दाडीह ले गए, लेकिन उसकी हालत गंभीर होने के कारण डॉक्टर ने करण मुर्मू को एमजीएम अस्पताल जमशेदपुर रेफर कर दिया। यहां पर उसकी मौत हो गई। अरविंद सिंह ने करण के शव को बिना पोस्टमार्टम कराए मुसाबनी भेज दिया जिससे यहां बवाल मच गया।

मुआवजा देने की मांग

मुसाबनी के जिला पार्षद बुधेश्वर मुर्मू मजदूरों के साथ गिरीशडांगा मोड़ पहुंचकर करण मुर्मू के शव को देखा। एम्बुलेंस में करण का शव रखा हुआ था। जिला पार्षद ने इसकी सूचना मुसाबनी थाना प्रभारी को दी। हरकत में आई पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। जिला पार्षद बुद्धेश्वर मुर्मू ने करण मुर्मु की मौत को साइंन इंजीनियरिंग प्राइवेट लिमिटेड की लापरवाही बताते हुए पीड़ित परिवार को 5 लाख रुपए मुआवजा देने की मांग की है। कंपनी द्वारा सहायता स्वरूप तत्काल पीड़ित परिवार को 20 हज़ार दिया गया है। करण मुर्मू मुसाबनी लोको लाइन में भाड़े के मकान में रहता था। उसका एक 9 वर्ष का पुत्र व एक 4 वर्ष की पुत्री है।

विधायक ने कही ये बात

मजदूरों से बात करते जिला पार्षद बुधेश्वर मुर्मु।

पानी टंकी से गिरकर मजदूर करण मुर्मु की मौत को विधायक रामदास सोरेन साइन इंजीनियरिंग प्राइवेट लिमिटेड का सरासर लापरवाही बताया। उन्होंने मुसाबनी थाना प्रभारी से बात कर मजदूर के शव का पोस्टमार्टम कराने एवं दोषी के ऊपर मामला दर्ज कर कानूनी कार्रवाई करने की मांग की है। उन्होंने मृतक मजदूर के आश्रितों को 25 लाख रुपए मुआवजा देने की मांग की है। मुसाबनी पुलिस इस घटना की छानबीन में जुटी है। इस घटना को लेकर साइन इंजीनियरिंग प्राइवेट लिमिटेड के अधीन काम करने वाले मजदूरों में भारी आक्रोश है। मजदूरों ने सभी साइट पर काम बंद कर दिया है। मजदूरों ने बताया कि 28 जनवरी को आवेदन के माध्यम से मजदूरों ने जिला श्रम आयुक्त से मांग की थी कि साइन इंजीनियरिंग प्राइवेट लिमिटेड द्वारा मजदूरों को सुरक्षा मानक सामग्री उपलब्ध कराया जाय एवं उचित मजदूरी का भुगतान करवाया जाए। लेकिन कम्पनी द्वारा मजदूरों के सेफ्टी पर ध्यान नहीं दिया गया, जिसके कारण है घटना दूसरी बार घटी है। इससे पूर्व भी 5 जनवरी 2021 को मुसाबनी गुरुद्वारा के समीप निर्माणाधीन पानी टंकी से गिरकर चांडिल का एक मजदूर सालखान हेम्ब्रम गंभीर रूप से घायल हो गया था।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.