Potka, Jamshedpur News : असामाजिक तत्वों से विद्या निकेतन स्कूल की छात्राएं परेशान

Potka Jamshedpur News एसएमडीसी की बैठक में अध्यक्ष श्रीकांत सरदार ने बताया कि बहुत ही पुराना विद्यालय है मगर आज इन असामाजिक तत्वों के कारण पूरी तरह से पढ़ाई बाधित हो रही है। विद्यालय के लिए भवन बनकर बरसों पहले तैयार हुआ था।

Rakesh RanjanSat, 25 Sep 2021 04:44 PM (IST)
चारदीवारी नहीं होने से असामाजिक तत्व के हौसले बुलंद हैं।

पोटका (पूर्वी सिंहभूम), जागरण संवाददाता। कोरोना काल में सरकार के निर्देश के बाद मैट्रिक की परीक्षा में शत - प्रतिशत छात्रों को उत्तीर्ण कर दिए जाने के कारण सभी विद्यालयों में बच्चों की संख्या काफी बढ़ चुकी है। वही विद्या निकेतन प्लस टू हाई स्कूल की बात करें तो यहां कुल वर्ग 1 से लेकर 12 वीं तक में 1200 बच्चे नामांकित हैं। इन बच्चों को बैठाने के लिए विद्यालय के पास न तो कमरे हैं,  न ही चारदीवारी ही है। इसके कारण बाहर से असामाजिक तत्व बाइक एवं कार लेकर आते हैं  और जोर-जोर से हाॅर्न बजाकर विद्यालय के माहौल को बिगाड़ने का काम करते हैं।

साथ ही बच्चियों के साथ भी कई तरह की घटनाएं सामने आती रहती है। मामले को लेकर जब शिकायत की जाती है तो किसी तरह की कोई कारर्वाइ नहीं होती। इस संबंध में कोवाली थाना को भी कई बार विद्यालय प्रशासन की ओर से लिखित दी गयी। कुछ दिनों तक पेट्रोलिंग कोवाली थाना द्वारा की गयी मगर जैसे ही पेट्रोलिंग बंद हुई, असामाजिक तत्व के हौसले बुलंद हो गए। असमाजिक तत्व विद्यालय में आसानी से प्रवेश कर पढ़ाई के माहौल को खराब करने का काम कर रहे हैं । वही लाखों रुपए की लागत से एक भवन तैयार है  जिसको विद्यालय को हैंडओवर नहीं किए जाने से बच्चों के पठन-पाठन को लेकर कई सारी परेशानियां सामने आ रही हैं। बच्चों को बैठाने की जगह नहीं है। भवन जर्जर हो चुके हैं  जिससे पानी टपक रहा है।

बैठक में उठे ये मामले

एसएमडीसी की बैठक में अध्यक्ष श्रीकांत सरदार ने बताया कि बहुत ही पुराना विद्यालय है  मगर आज इन असामाजिक तत्वों के कारण पूरी तरह से पढ़ाई बाधित हो रही है। विद्यालय के लिए भवन बनकर बरसों पहले तैयार हुआ था  मगर उसको हैंडोवर नहीं किए जाने से वह भी जर्जर होकर गिरने के कगार पर है। रोज चोरी हो रही है।  विद्यालय के शिक्षक मानस रंजन पात्र कहते हैं कि चारदीवारी हो तो असामाजिक तत्वों से विद्यालय को राहत मिल जाती। मगर चारदीवारी नहीं होने से असामाजिक तत्व के हौसले बुलंद हैं। पढ़ाई का माहौल खराब हो रहा है। विद्यालय की शिक्षिका माला कुमारी कहती हैं कि विद्यालय में आने के दो रास्ते हैं। दोनों ही इतने जर्जर है कि प्रतिदिन कुछ न कुछ घटनाएं घटित होती रहती हैं। विधायक ने आश्वासन दिया कि सड़क बना देंगे। चारदीवारी बना देंगे। मगर कुछ नहीं हो पायां प्रशासन को चाहिए कि जल्द से जल्द चारदीवारी एवं पुरानी नवनिर्मित खंडहर में तब्दील हो रहे भवन को विद्यालय को हैंडओवर करे।

बैठक में ये रहे मौजूद

विद्यालय की एसएमडीसी की बैठक में अध्यक्ष  राम सरदार, संजय नायक, मोहम्मद अली जान, शहजादा तबस्सुम, बाबूलाल सरदार, लखपति कुटिया, फिरोजा खातून, रेखा रानी कुंडू, अफसाना खातून, श्रीराम शर्मा, रुकसाना खातून, सौदा खातून, तापस कुंडू, लालू सरदार, महमूद, दिलीप मोरल, कार्तिक मुंडा, रतन सरदार, शशीकांत सिंह, कुमारी गीता, सुनीता शर्मा, विजय कुमार सिंह, नरेंद्र सीट प्रधानाध्यापक, कुमारी संगीता रानी, संजीव शर्मा, माला कुमारी, सहदैव पाल आदि उपस्थित रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.