ट्यूब-टिस्को निबंधित संघ में दो फाड़, मोहन पांडेय के खिलाफ खड़ा हुआ एक धड़ा

पत्र सौंपने टाटा वर्कर्स यूनियन कार्यालय पहुंचे ट्यूब टिस्को निबंधित पुत्र-पुत्री संघ के सदस्‍य।

Tube-Tisco Registered Son dauthter sangh. ट्यूब टिस्को निबंधित पुत्र-पुत्री संघ ने यूनियन नेतृत्व का टाटा स्टील में निकाली जाने वाली 500 बहाली पर आभार व्यक्त करते हुए निबंधित कर्मचारी पुत्र संघ के सक्रिय सदस्य मोहन पांडेय की निंदा की है।

Publish Date:Wed, 13 Jan 2021 02:49 PM (IST) Author: Rakesh Ranjan

जमशेदपुर, जासं। ट्यूब टिस्को निबंधित पुत्र-पुत्री संघ ने बुधवार को टाटा वर्कर्स यूनियन अध्यक्ष के नाम एक पत्र सौंपा। इसमें यूनियन नेतृत्व का टाटा स्टील में निकाली जाने वाली 500 बहाली पर आभार व्यक्त करते हुए निबंधित कर्मचारी पुत्र संघ के सक्रिय सदस्य मोहन पांडेय द्वारा चलाए जा रहे आंदोलन की घोर निंदा की गई। 

अपने ज्ञापन में संघ ने आरोप लगाया निबंधित पुत्र-पुत्री संघ मोहन पांडेय द्वारा किए जा रहे निबंधित विरोधी कार्यों की घोर निंदा करता है। संघ मोहन पांडेय को अपना नेता नहीं मानता है और उनके विचार व अपने निजी स्वार्थ के लिए किए जा रहे आंदोलन से खुद को अलग करता है। मात्र पांच-दस की संख्या निबंधित कर्मचारी पुत्रों के आंदोलन को देखकर 15 हजार निबंधित पुत्रों के भविष्य पर कंपनी प्रबंधन या यूनियन नेतृत्व कोई भी निर्णय न ले। बहाली में अवरोध डालने की कोशिश का आरोप

संघ ने आरोप लगाया कि मोहन पांडेय का एकमात्र उद्देश्य टाटा स्टील में होने वाली बहालियों में किसी तरह से अवरोध डालना है। उन्होंने आज तक निबंधित कर्मचारी पुत्रों के आंदोलन के नाम पर  केवल उगाही की है। वो अच्छी तरह से जानते हैं कि यदि निबंधित कर्मचारी पुत्रों की यूटिलिटी हैंड या नीट में हो गई तो आंदोलन के नाम पर उनकी कमाई और अखबारों में बने रहने का माध्यम भी खत्म हो जाएगा। 

 बरगलाने का आरोप

संघ का कहना है कि आज निबंधित पुत्र-पुत्री का कंपनी में जो नियोजन हो रहा है वह केवल टाटा स्टील प्रबंधन और यूनियन की नैतिकता के आधार पर हो रहा है। लेकिन मोहन पांडेय 42 वर्ष के अधिक वाले निबंधित कर्मचारी पुत्रों को बरगलाने का काम कर रहे हैं। संघ ने आरोप लगाया कि अधिक उम्र वाले निबंधित पुत्र-पुत्रों के पास काम नहीं है इसलिए मोहन पांडेय अपने स्वार्थ के लिए उनसे ऐसा काम कराते हैं जिससे टाटा स्टील और टाटा वर्कर्स यूनियन की छवि को नुकसान पहुंचता है। इसलिए हमारी मांग है कि 42 वर्ष से अधिक उम्र वाले निंबंधित कर्मचारी पुत्रों के लिए नीट कंपनी में नियोजन का रास्ता तैयार करे।

इन्‍होंने सौंपा ज्ञापन

ज्ञापन सौंपने वालों में विशाल सिंह, अनिल कुमार, हरजीत सिंह, अभिषेक सिंह, दीपक पांडेय, संजय पांडेय, नीतीन मुखी, रंजीत कुमार, संतोष कुमार ओझा, मनीष कुमार, सन्नी सिंह, अप्पू, साइमन दास, प्रमोद कुमार ओझा शामिल थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.