Top Jamshedpur News of the day, 22nd October 2019, पीएम आवास, अरुण मिश्रा का इस्‍तीफा, पन्‍ना खनन, इजरायल की तर्ज पर

जमशेदपुर (जेएनएन)। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत लॉटरी निकाली गई। कुल 1136 लोगों के नाम आवास आवंटन के लिए निकले। टाटा स्‍टील के वाइस प्रेसीडेंट अरुण मिश्रा ने इस्‍तीफा दे दिया है।गुड़ाबांदा में पन्‍ना खदान में एनएमडीसी व जेएमडीसी मिलकर खनन करेंगे। इजरायल से लौटे किसान अब इजरायल की तर्ज पर खेती करेंगे। 

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत निकली लॉटरी

 सिदगोड़ा टाउन हॉल में बहुप्रतिक्षित पीएम आवास के लिए चयनित 1136 लोगों के लिए जमशेदपुर के सांसद विद्युत वरण महतो ने कंप्यूटरीकृत बटन दबाकर लॉटरी निकाली। लॉटरी में निकले नामों की घोषणा विशेष पदाधिकारी कृष्ण कुमार की ओर से की गई। जिसके नाम लॉटरी में निकल रहे थे उनके चेहरे पर खुशी तो जिनके नाम नहीं पुकारा जा रहा था, उनके चेहरे पर मायूसी देखी जा रही थी। मौके पर मौजूद सिटी मैनेजर लोगों को आश्वासन देते रहे कि अभी नहीं मिला तो अगले चरण में जरुर निकलेगा। इस अवसर पर सांसद विद्युत वरण महतो, डीडीसी बी माहेश्वरी, एडीसी सौरव कुमार सिन्हा, एडीएम नंदकिशोर लाल, डीपीओ अजय कुमार, जेएनएसी के विशेष पदाधिकारी कृष्ण कुमार, सांसद प्रतिनिधि संजीव कुमार, विधायक प्रतिनिधि पवन अग्रवाल, संजीव सिंह आदि उपस्थित थे।   

टाटा स्‍टील के वाइस प्रेसीडेंट अरुण मिश्रा का इस्‍तीफा 

टाटा स्टील के वाइस प्रेसीडेंट रॉ मटेरियल अरुण मिश्रा ने निजी कारण बताते हुए अपने पद से इस्‍तीफा दे दिया है। निजी कारणों से इस्तीफा देने की बात कही है। अरुण मिश्रा 18 नवम्बर 2019 तक अपने पद पर बने रहेंगे। कंपनी प्रबंधन ने उनके स्थान पर एमडी टीवी नरेंद्रन के पर्सनल एग्जीक्यूटिव ऑफिसर डी बी सुंदर रमन को नया वाईस प्रेसिडेंट रॉ मटेरियल बनाया गया है। साथ ही  प्रिंसिपल एग्जीक्यूटिव ऑफिसर जुबिन पालिया की जगह टाटा स्टील कलिंगनगर के महाप्रबंधक (ऑपरेशन) चैतन्य भानु को नया प्रिंसिपल एग्जीक्यूटिव ऑफिसर बनाया गया है।  कंपनी प्रबंधन ने मंगलवार को इस सम्बंध में सर्कुलर जारी कर दिया है। अरुण मिश्रा का जुड़ाव टाटा स्‍टील से 1988 से रहा है। उन्‍होंने इस कंपनी में विभिन्‍न पदों की जिम्‍मेदारी संभाली। 

गुड़ाबांदा में पन्ना खदान में एनएमडीसी और जेएमडीसी मिलकर करेंगी खनन

पूर्वी सिंहभूम जिले के गुड़ाबांदा में पन्ना खदान को नेशनल मिनरल डेवलपमेंट कारपोरेशन (एनएमडीसी) लिमिटेड और झारखंड स्टेट मिनरल डेवलपमेंट कारपोरेशन (जेएसएमडीसी) मिलकर चलाएंगी। भारत सरकार की ओर से पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग्‍स (पीएसयू) को पन्ना खदान को चलाने का निर्णय लिया गया था। इसी के तहत ही खान सचिव अबुबक्कर सिद्दीकी और खान निदेशक कुमारी अंजली के स्तर पर एनएमडीसी और जेएसएमडीसी को गुड़ाबांधा की बारुनमुति और बवाटिया खदान देने का फैसला लिया गया है। कोल्हान के खान उपनिदेशक संतोष कुमार ङ्क्षसह ने इन पन्ना खदानों की जियोलॉजिक सर्वे रपोर्ट दो साल पहले ही सरकार के पास जमा कर दी थी। मगर इंडियन ब्यूरो आफ माइंस (आइबीएम) द्वारा पन्ना खनिज का रेट फिक्स नहीं किया गया था। 

अब इजराइल की तर्ज पर खेती करेंगे यहां के किसान 

पूर्वी सिंहभूम जिले के किसान अब इजराइल की तर्ज पर खेती करेंगे। तकनीक आधारित खेती करने से किसानों को कम खर्च पर अधिक मुनाफा होगा। ये बातें एक्सपोजर विजिट के लिए इजरायल गए पूर्वी सिंहभूम के घाटशिला अनुमंडल की बडख़ुर्शी पंचायत अंतर्गत गिधिबील गांव के किसान राम प्रताप महतो और डुमरिया प्रखंड के जादूगोड़ा गांव के सुदाम चंद्र मुर्मू ने कही। इजराइल से लौटने के बाद दैनिक जागरण से अनुभव साझा करते हुए दोनों किसानों ने बताया कि वहां की खेती का तकनीक उत्साहित करने वाला है। इजराइल में धान और गेंहू की खेती नहीं कर वहां के किसान फल और सब्जी की खेती बाजार में मांग के अनुसार करते हैं। जिससे उन्हें उत्पाद की सही कीमत मिलती है। वहां के किसान संयुक्त रूप से वृहद पैमाने पर खेती करते हैं।  

 

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.