दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

Corona Warriors : ये हैं त्रिदेव जो डटे हैं कोरोना के खिलाफ मोर्चे पर

चाकुलिया की मुख्य सड़क पर गश्त करते प्रशासनिक पदाधिकारी।

Covid Helper कोरोना संक्रमण के इस भयानक दौर में भी इन्होंने न केवल खुद को सुरक्षित रखा है बल्कि आम लोगों की सुरक्षा के लिए भी दिन रात एक किए हुए हैं। ये तीनों प्रशासनिक पदाधिकारी हैं- बीडीआे देवलाल उरांव सीआे जयवंती देवगम एवं प्रखंड कृषि पदाधिकारी देव कुमार।

Rakesh RanjanMon, 03 May 2021 05:58 PM (IST)

चाकुलिया (पूर्वी सिंहभूम), पंकज मिश्रा। वैश्विक महामारी कोरोना के खिलाफ जंग में चाकुलिया के त्रिदेव (देवलाल, देवगम व देवकुमार) बखूबी मोर्चा संभाल रहे हैं। संक्रमण के इस भयानक दौर में भी इन्होंने न केवल खुद को सुरक्षित रखा है बल्कि आम लोगों की सुरक्षा के लिए भी दिन रात एक किए हुए हैं। ये तीनों प्रशासनिक पदाधिकारी हैं- प्रखंड विकास पदाधिकारी देवलाल उरांव, अंचलाधिकारी जयवंती देवगम एवं प्रखंड कृषि पदाधिकारी देव कुमार।

हालांकि इन्हें प्रखंड कल्याण पदाधिकारी गौरीशंकर साव, थाना प्रभारी रंजीत उरांव, अवर पुलिस निरीक्षक जयकांत राय, सिटी मैनेजर मोनिस सलाम आदि का भी बखूबी साथ मिल रहा है। पूरी टीम कदम से कदम मिलाकर कोरोना के बढ़ते कदम को रोकने के लिए प्रयासरत हैं। बीडीओ सह इंसिडेंट कमांडर देवलाल उरांव टीम की कप्तान की भूमिका में हैं। कोरोना की दूसरी लहर आने के पूर्व से ही उरांव इस वैश्विक महामारी को लेकर काफी गंभीर रहे हैं। इस बात का अनुमान इसी से लगाया जा सकता है कि करीब 9 महीने के कार्यकाल के दौरान अभी तक शायद ही चाकुलिया के किसी व्यक्ति ने बीडीओ साहब का पूरा चेहरा देखा होगा। यहां तक कि प्रखंड कार्यालय के कर्मियों ने भी नहीं। वे बगैर मास्क के घर से निकलते नहीं और रास्ते में कभी मास्क उतारते नहीं। इसके जरिए वे आम लोगों को भी संक्रमण से बचने का संदेश देते हैं। कोरोना के अन्य दिशा निर्देशों का भी उरांव खुद अक्षरश: पालन करते हैं तथा दूसरों को भी ऐसा करने के लिए प्रेरित करते हैं।

दूसरी लहर के साथ हो गए सक्रिय

जैसे ही कोरोना की दूसरी लहर शुरू हुई, बीडीओ ने प्रखंड क्षेत्र में इसकी रोकथाम के लिए कोशिशें शुरू कर दी। मास्क जांच अभियान, शारीरिक दूरी का पालन, संदिग्ध मरीजों की त्वरित जांच तथा शहर से लेकर सुदूर गांव तक टीकाकरण अभियान को गति देने के लिए हर संभव प्रयास किया। किसी प्रकार के दबाव में आए बगैर कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन करने वालों पर सख्त कार्रवाई करने से भी वे नहीं चूके। अनुमंडल में सबसे पहले चाकुलिया में तीन दुकानों को सील कर उन्होंने लापरवाही बरतनेवाले दुकानदारों को कड़ा संदेश दिया। रविवार को भी उन्होंनेे तीन दुकानों को सील किया।

आनंदलोक अस्पताल को चालू कराने में महती भूमिका

सीओ जयवंती देवगम ने करीब डेढ़ महीने के अपने अल्प कार्यकाल में ही कोरोना के खिलाफ मुहिम में बढ़ चढ़कर भूमिका निभाई है। चाकुलिया की सड़कों पर उन्हें कई बार गश्त करते तथा हाथों में डंडा लेकर कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन करने वालों को फटकार लगाते देखा गया है। कोविड मरीजों की बेहतर व्यवस्था के लिए उन्होंने बीडीओ देवलाल उरांव के साथ मिलकर आनंदलोक अस्पताल को चालू कराने में महती भूमिका निभाई।

यह पहल भी बेजोड

प्रखंड में जन सेवक के रूप में पदस्थापित तथा कृषि पदाधिकारी का कार्यभार संभाल रहे देव कुमार अपने वरीय पदाधिकारियों के मार्गदर्शन में कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए दिन रात एक किए हुए हैं। प्रशासनिक वाहन में उनकी आवाज हमेशा गूंजती रहती है। प्रखंड कार्यालय में कोविड सामग्री बैंक की स्थापना में भी देव ने अहम भूमिका निभाई। उन्होंने कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन कर बगैर मास्क के घूमनेवाले लोगों को लज्जित करने के लिए पोस्टर पकड़ा कर फोटो खींचने जैसा अनूठा कदम उठाया, जिसने खूब सुर्खियां बटोरी। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.