पीपला कांड की हो सकती पुनरावृत्ति, भारतीय जनतंत्र मोर्चा ने बिजली विभाग से कहा-जल्द बदले जाएं जर्जर तार

जमशेदपुर से सटे पीपला में 13 जून को तालाब (चेकडैम) पर 11000 वोल्ट का तार टूटकर गिर गया था। पूरे तालाब में करंट प्रवाहित होने लगी जिससे तालाब में नहा रहे तीन बच्चे और एक बुजुर्ग महिला की तत्काल मौत हो गई।

Rakesh RanjanWed, 16 Jun 2021 04:51 PM (IST)
जमशेदपुर के विद्युत महाप्रबंधक को ज्ञापन सौंपते भारतीय जनतंत्र मोर्चा के प्रतिनिधि।

जमशेदपुर, जासं। जमशेदपुर से सटे पीपला में 13 जून को तालाब (चेकडैम) पर 11,000 वोल्ट का तार टूटकर गिर गया था। पूरे तालाब में करंट प्रवाहित होने लगी, जिससे तालाब में नहा रहे तीन बच्चे और एक बुजुर्ग महिला की तत्काल मौत हो गई।

ऐसी घटनाएं जमशेदपुर में दोबारा हो सकती है, यदि समय रहते जर्जर तारों को नहीं बदला गया। इसी संबंध में भारतीय जनतंत्र मोर्चा के कार्यकर्ता बिजली विभाग के महाप्रबंधक प्रतोष कुमार से मिले। भाजमो ने उनसे बिजली की अनियमित आपूर्ति, जर्जर पोल व हाइवोल्टेज तारों को बांस के सहारे परिचालन की जानकारी दी। भाजमो, जमशेदपुर महानगर के जिला अध्यक्ष सुबोध श्रीवास्तव के नेतृत्व में विद्युत महाप्रबंधक को ज्ञापन सौंपा। सुबोध श्रीवास्तव ने कहा कि झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड द्वारा शहर के अधिकांश इलाकों में बिजली आपूर्ति की जा रही है। बिजली आपूर्ति व्यवस्था में कई प्रकार की खामियां देखने को मिलती हैं। शहर के अधिकांश इलाकों में जहां जेबीवीएनएल की बिजली आपूर्ति हो रही है, वहां आंधी-बारिश होने पर घंटों बिजली काट दी जाती है। इससे आम जनजीवन प्रभावित होता है। बच्चो के पठन पाठन सहित अन्य कई कार्य रूक जाते हैं। इसके साथ ही बिजली से जुड़ी सभी गतिविधियों पर असर पड़ता हैं।

बिरसानगर में स्थिति गंभीर

बिरसानगर व बागुनहातू क्षेत्र में बिजली की समस्या गंभीर है। कई इलाकों में बिजली के खंभे नहीं हैं और तारों को बांस के सहारे पार कराया जा रहा है। इसके अलावा भुइयांडीह के बाबूडीह, लालभट्ठा, कानूभट्ठा, कलयाणनगर, चंडीनगर सहित अन्य रिमोट इलाकों में निर्बाध बिजली आपूर्ति नहीं होती है। जुगसलाई विधानसभा अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में भी अधिकांश तारों का परिचालन बांस के सहारे किया जा रहा है, जिससे पूर्व में कई बार आंधी-तूफान में तार टूटने से गंभीर दुर्घटना हो चुकी है। आगे भी दुर्घटना की आशंका बनी हुई है। भाजमो नेताओं ने विद्युत जीएम से मांग की है कि जिला में बिजली के सभी अस्थायी खंभों की जगह सीमेंट के मजबूत खंभे लगाएं जाएं। शहर में जितने पावर ग्रिड, बिजली के खंभे और तार हैं, उनका उचित रखरखाव और नियमित रूप से निरीक्षण कराया जाए, ताकि भविष्य में होने वाली किसी गंभीर दुर्घटना को टाला जा सके। पीपला में 20 वर्ष पुराने हाई वोल्टेज तार का उचित रखरखाव और निगरानी नियमित नहीं होने के कारण एक भयावह हादसा हुआ था।

इन्होंने सौंपा ज्ञापन

ज्ञापन सौंपने के दौरान जिला महिला मोर्चा अध्यक्ष मंजू सिंह, महामंत्री कुलविंदर सिंह पन्नु, मनोज सिंह उज्जैन, उपाध्यक्ष भास्कर मुखी, मंत्री विकास गुप्ता, राजेश कुमार झा, प्रवक्ता आकाश शाह, गौतम धर, गणेश चंद्रा सहित अन्य कार्यकर्ता उपस्थित थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.