अपने देश में हैं टाटा ग्रुप की ऐसे तीन होटल, जहां एक रात ठहरने का किराया लगता है 10 लाख रुपये

भारत में ऐसी होटलें हैं जहां एक रात ठहरने का किराया यूरोप टूर में आने वाले खर्च से भी ज्यादा है। टाटा समूह की ताज ग्रुप की ऐसी ही होटलें देश में हैं जिसका किराया सुनकर आप भी दंग हो जाएंगे।

Jitendra SinghMon, 26 Jul 2021 06:26 AM (IST)
अपने देश में हैं ऐसे तीन होटल, जहां एक रात ठहरने का किराया लगता है 10 लाख रुपये

जमशेदपुर, जासं। हम फिल्मों या मैगजीन में एक से बढ़कर एक विदेशी होटलों का नजारा देखकर हैरान हो जाते हैं, लेकिन शायद आपको पता नहीं होगा कि अपने देश में भी एक से बढ़कर एक लग्जरी होटल हैं। तीन होटल तो ऐसे हैं, जहां एक रात ठहरने का किराया 10 लाख रुपये लगता है।

इसमें सबसे पहला नाम टाटा ग्रुप का ताज होटल समूह का आता है, जिसके कमरे बेहद शानदार होते हैं। इसके सुइट्स की तो बात ही निराली है। हालांकि यहां एक रात ठहरने का जो खर्च आता है, उसमें आप न जाने कितने जगह की सैर कर सकते हैं। इसके बावजूद शौकीन लोग यहां ठहरने का लोभ संवरण नहीं कर पाते हैं।

रामगढ़ पैलेस, जयपुर

रामबाग पैलेस : पहले भारतीय शाही महलों में से एक जयपुर का रामबाग पैलेस है। 1880 तक यह घने जंगल के बीच स्थित था। बताया जाता है कि इसे एक ब्रिटिश सेना अधिकारी सर सैमुअल स्विंटन जैकब के डिजाइन व सोच के बाद एक महल में बदल दिया गया था। 1931 में महाराजा सवाई मान सिंह द्वितीय ने रामबाग को अपना प्रमुख निवास बनाया और कई शाही सुइट जोड़े। इसमें सुख निवास और सूर्यवंशी सूट सबसे अधिक कीमत वाले हैं। जयपुर के रामबाग पैलेस में ताज होटल द्वारा पेश किए जाने वाले सबसे भव्य आवास हैं। इंडो-सरसेनिक वास्तुकला पर आधारित इसकी छत पर की गई नक्काशी सम्मोहित कर देती है। इसके अलावा पूरे होटल की साज-सज्जा आपको महाराजा होने का अहसास कराती रहती है।

सुखनिवास सुट, रामगढ़ पैलेस, जयपुर

ताज लेक पैलेस : राजस्थान के ही उदयपुर में ताज लेक पैलेस है। इसकी कांच की खिड़कियों से सूरज की पहली खूबसूरत किरणों से लेकर अंधेरे झील के पानी तक को प्रतिबिंबित करने वाली चांदनी होटल के सुइट्स तक पहुंचाती है। जगनिवास पैलेस को उदयपुर के पहले लग्जरी पैलेस होटल में बदल दिया गया था।

शंभु प्रसाद सूट, ताज लेक पैलेस 

मेवाड़ राजवंश के वर्तमान प्रमुख महाराणा महेंद्र सिंह 1971 तक होटल के प्रभारी थे। जब ताज होटल ने इसका अधिग्रहण किया, तो इसका नाम बदलकर ताज लेक पैलेस कर दिया। यह भव्य भारतीय और यूरोपीय सजावट का संगम है। इसमें शंभू प्रकाश सुइट ताज लेक पैलेस की सबसे महंगी पेशकश है।

क्या-क्या हैं इसकी खूबियां

एडिनबर्ग के ड्यूक प्रिंस फिलिप ने 2010 में साझा किया था कि मुंबई में टाटा सुइट मेहमानों के लिए अदभुत अहसास है। लाउंज रूम, ऑफिस स्पेस, मीटिंग रूम, 12-सीटर डाइनिंग रूम, संलग्न मास्टर और गेस्ट बेडरूम, वॉक-इन वॉर्डरोब, निजी स्पा और जिम के साथ 7,500 वर्ग फुट का स्थान। दिलचस्प बात यह है कि उन्होंने ताजमहल पैलेस होटल में शानदार टाटा सुइट बनाने के लिए 16 नियमित कमरों को जोड़ा। बेहतरीन बिस्तरों की नियमित विलासिता और सजावट के लिए सबसे भव्य गहनों के अलावा, इसमें 19वीं शताब्दी के अंत से अंतरंग अध्ययन, एमएफ हुसैन और अंजलि ईला मेनन की कला और 19वीं सदी के लिथोग्राफ में टाटा परिवार की दुर्लभ तस्वीरें भी हैं। सुइट का केंद्रबिंदु जर्मनी का प्राचीन एमएफ रैचल्स पियानो है, जो 1883 में बना था।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.