NIT Jamshedpur : केंद्रीय शिक्षा मंत्री बोले,श्रेष्ठ एवं आत्मनिर्भर भारत का रास्ता एनआइटी जैसे संस्थान से ही होकर गुजरेगा

एनआइटी जमशेदपुर में हीरक जयंती व्याख्यान हाल का ऑनलाइन उद्घाटन करते केंद्रीय शिक्षा मंत्री।
Publish Date:Tue, 20 Oct 2020 06:03 PM (IST) Author: Rakesh Ranjan

आदित्यपुर, जासं।  एनआइटी जमशेदपुर में अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस 130 करोड़ की लागत से बने हीरक जयंती व्याख्यान हाल का उद्घाटन केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने मंगलवार को ऑनलाइन किया।  इसमें 4400 छात्र एवं 160 फैकल्टी के बैठने की क्षमता है। पूरा कांप्लेक्स वातानुकूलित है। इस मौके पर उन्होंने कहा कि एनआइटी जैसे संस्थानों से श्रेष्ठ भारत एवं आत्मनिर्भर भारत का रास्ता गुजरेगा।

उन्‍होंने कहा कि लोग कहते हैं हमारे शैक्षणिक संस्थानों में शीर्षता नहीं है, यह गलत है। अगर ऐसी ही बात है तो दुनिया में भारतीय छात्रों का परचम क्यों लहरा रहा है। शीर्षता है इस कारण यह हो रहा है। गूगल, माइक्रोसॉफ्ट जैसी कंपनियों का सीईओ भारतीय ही है। हां, हमारे यहां शोध अनुसंधान की कमी है। इस कमी को नई शिक्षा नीति पूरा करेगी। शोध अनुसंधान के लिए आइआइटी, ट्रिपल आइटी, एनआइटी जैसे संस्थान अच्छा कार्य कर रहे हैं। जमशेदपुर में एनआइटी की ओर से 236 शोध कार्य हो चुके हैं। अच्छे शोध कार्य होने लगे हैं।

तकनीकी शिक्षा के माध्‍यम से भारत बनेगा विश्‍व गुरु

 केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने कहा कि तकनीकी शिक्षा एक ऐसा माध्यम है, जिसके माध्यम से भारत विश्व गुरु बनेगा। भारत तेजी से ज्ञान-अनुसंधान के रास्ते पर आगे बढ़ रहा है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.