कैप्टन कूल धौनी ने जिस स्टार्टअप में किया निवेश, उसके मालिक जमशेदपुर में पले-बढ़े

हाल ही में महेंद्र सिंह धोनी ने एक स्टार्ट अप कंपनी होम लेन में निवेश किया है। क्या आपको पता है इंटीरियर डिजायन की इस कंपनी के मालिक जमशेदपुर के लोयोला स्कूल से पढ़े हैं। तनुज ने अपने दोस्त श्रीकांत के साथ मिलकर यह कंपनी खोली है।

Jitendra SinghThu, 05 Aug 2021 06:00 AM (IST)
धोनी ने जिस स्टार्टअप में किया निवेश, उसके मालिक जमशेदपुर में पले-बढ़े

जमशेदपुर, जासं। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने होमलेन नामक जिस स्टार्टअप में निवेश किया है, उसके मालिक तनुज चौधरी जमशेदपुर में पले-बढ़े हैं। टाटा स्टील में कारपोरेट कम्यूनिकेशन के पूर्व चीफ संजय चौधरी के बड़े पुत्र तनुज चौधरी ने श्रीकांत अय्यर के साथ मिलकर कंपनी स्थापित की है। ऑनटाइम होम डेकोरेशन की यह कंपनी 100 करोड़ रुपये निवेश करने जा रही है।

इस तरह धोनी ने निवेश के साथ ही एक तरह से अपनी कर्मभूमि जमशेदपुर कनेक्शन जोड़ लिया। यहां बताते चले कि रतन टाटा का शहर जमशेदपुर धोनी का कर्मभूमि रहा है। उन्होंने यहीं से रणजी ट्रॉफी की उड़ान भरी थी। उसके बाद कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

तीन साल का किया अनुबंध, इक्विटी पार्टनर भी बने

धोनी ने जिस कंपनी में निवेश किया है उसका नाम है होमलेन। यह होम इंटीरियर की कंपनी है। महेंद्र सिंह धोनी के साथ इस कंपनी ने इक्विटी पार्टनर और ब्रांड एंबेसडर के रूप में तीन साल का अनुबंध किया है। साझेदारी के हिस्से के रूप में, एमएस धोनी होमलेन में इक्विटी के मालिक होंगे। "कैप्टन कूल" के रूप में लोकप्रिय एमएस धोनी होमलेन के पहले ब्रांड एंबेसडर और एंड-टू-एंड होम इंटीरियर ब्रांड का प्रचार करने वाले पहले सेलिब्रिटी होंगे।

16 शहरों में है कंपनी का शो रूम

इंटीरियर कंपनी होमलेन अभी तक देश के 16 शहरों में अपनी उपस्थिति दर्ज करा चुकी है। एमएस धोनी के साथ इसका रणनीतिक सहयोग कंपनी को उपभोक्ताओं से जुड़ने में सक्षम बनाएगा। होमलेन ने अगले 2 वर्षों में 25 नए टियर-2 और टियर 3 शहरों को जोड़ने की योजना बनाई है और इस आक्रामक विस्तार के लिए 100 करोड़ रुपये खर्च करेगी। आगामी क्रिकेट और त्योहारी सीजन के साथ, होमलेन और एमएस धोनी संयुक्त रूप से एक नए अभियान पर काम कर रही हैं जो नए आईपीएल सीजन के दौरान जारी किया जाएगा।

बोले धोनी-मेरा घर कंफर्ट जोन

इस जुड़ाव पर टिप्पणी करते हुए, महेंद्र सिंह धोनी ने कहा, “मेरा घर, किसी और की तरह मेरा कंफर्ट जोन है। एक घर प्यार और सपनों के साथ बनाया जाता है और यह वह जगह है जहां हम अपने प्रियजनों के साथ जीवन भर की यादें संजोना चाहते हैं। मेरा मानना ​​है कि होमलेन घर के मालिकों को उनके सपनों के घर को साकार करने में मदद कर सकता है। देश भर के लोगों के लिए इंटीरियर को आसान और सुलभ बनाने के होमलेन के विजन ने मुझे इसका हिस्सा बनने के लिए प्रेरित किया।

धोनी के सानिध्य से तनुज चौधरी खुश

होमलेन के संस्थापक तनुज चौधरी ने कहा, हम धोनी के साथ साझेदारी करने के लिए उत्साहित हैं। वह न केवल एक खेल के दिग्गज हैं बल्कि भारत में सबसे सम्मानित व्यक्तियों में से एक हैं। वह जिस भरोसे और विश्वसनीयता के साथ सामने आए हैं, हमें विश्वास है कि वह हमारे ब्रांड विजन के लिए एकदम फिट हैं। होमलेन को देश में कहीं भी उपभोक्ताओं के लिए घर के अंदरूनी हिस्से को आसान और पारदर्शी बनाने के इरादे से बनाया गया था और यह रणनीतिक साझेदारी उस लक्ष्य की ओर एक छलांग है।

साझेदारी पर टिप्पणी करते हुए, राजीव जीएन, वीपी - मार्केटिंग ने कहा, एमएस धोनी का निजी ब्रांड होमलेन के विश्वास और पारदर्शिता के ब्रांड मूल्यों के साथ बहुत अच्छी तरह से मेल खाता है। वह एक खेल दिग्गज, एक देशभक्त, एक समर्पित पारिवारिक व्यक्ति है। वह काफी मिलनसार हैं और उनका यही गुण आने वाली पीढ़ियों को भी प्रेरित करती है।

प्रौद्योगिकी और विशेषज्ञता के साथ कि दोनों पक्षों के बीच समझौते के अनुसार इक्विटी साझेदारी की बारीकियों का खुलासा नहीं किया जाएगा।2014 में स्थापित, होमलेन व्यक्तिगत और पेशेवर एंड-टू-एंड इंटीरियर सेवाएं प्रदान करते हुए, ऑन-टाइम होम इंटीरियर के लिए भारत की पसंद बन गई है।

लोयोला में छठी तक की थी पढ़ाई

होमलेन कंपनी के मालिक तनुज चौधरी ने लोयला से छठी तक पढ़ाई की है। इसके बाद आगे की पढ़ाई लखनऊ के सिटी मांटेसरी स्कूल से की, जबकि कोलकाता से प्लस टू किया। सेंट स्टीफेंस कालेज, दिल्ली से गणित में स्नातक करने के बाद तनुज मैकेंजी में चले गए। फ्रांस की सबसे बड़े एमबीए संस्थान इंसेंड से पढ़ाई की।

यहीं से टाटा स्टील के पूर्व एमडी बी. मुथुरामन समेत कई कंपनियों के सीईओ व एमडी पढ़े हैं। इसके बाद तनुज ने अपने साथी के साथ कंपनी शुरू की। कंपनी अगले दो साल में 25 टू टीयर थ्री टीयर शहरों को जोड़ने की योजना बना रही है। तनुज फिलहाल बेंगलुरू में रह रहे हैं, जबकि उनके पिता संजय चौधरी पटना में रहते हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.