EV Battery : अब आ रही है Sodium Ion Battery, जो इलेक्ट्रिक वाहनों के उत्पादन में लाएगी एक नई क्रांति

EV Battery टाटा मोटर्स से लेकर टेस्ला ह्यूंडई से लेकर मारूति तक सभी ऑटोमोबाइल कंपनियां अब इलेक्ट्रिक व्हीकल पर जोर दे रही है। लेकिन आपके मन में सवाल उठता होगा कि इसमें लगने वाले बैटरी की कीमत क्या होगी? आपके ऐसे ही कई सवालों का जवाब यहां है....

Jitendra SinghFri, 17 Sep 2021 12:09 AM (IST)
अब आ रही है Sodium Ion Battery, जो इलेक्ट्रिक वाहनों के उत्पादन में लाएगी एक नई क्रांति

जमशेदपुर, जासं। उद्योग जगत में इलेक्ट्रिक वाहन बैटरी स्टार्टअप या अरबों डॉलर के निवेश के लिए उत्साह की कोई कमी नहीं है, क्योंकि कंपनियां, समर्थक और वैज्ञानिक जीत के खेल की तलाश में हैं। चीन पहले से ही इस दौड़ में सोडियम-आयन बैटरी के साथ अगले चरण में आगे बढ़ रहा है। इस तकनीक से बड़े पैमाने पर सब्सिडी पर निर्भर बाजार में व्यापक रूप से अपनाया जा सकता है और जहां इलक्ट्रिक वाहनों की बिक्री अभी भी सभी कारों का एक अंश है।

सस्ता व तेज चार्जिंग होगी खासियत

चीन की कंटेम्परेरी एम्पेरेक्स टेक्नोलॉजी कंपनी यानि दुनिया की सबसे बड़ी बैटरी निर्माता CATL ने जुलाई में अपने नवीनतम उत्पाद - सोडियम-आयन बैटरी का अनावरण किया। अगले महीने चीन के उद्योग और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने कहा कि यह इस प्रकार के पावर-पैक के विकास, मानकीकरण और व्यावसायीकरण को बढ़ावा देगा, जो कि वर्तमान उत्पादन के लिए एक सस्ता, तेज-चार्जिंग और सुरक्षित विकल्प प्रदान करेगा।

सोडियम-आयन बैटरी पर 1970 में किया गया था शोध

सोडियम-आयन बैटरी कोई नया विकास नहीं है। 1970 के दशक में उन पर शोध किया जा रहा था, लेकिन रुचि नहीं दिखाई गई। इस दौरान लिथियम-आयन बैटरी आगे निकल गई। उस समय सोडियम आधारित बैटरी के खरीदार नहीं थे। अब, दशकों बाद लिथियम-आयन बैटरी के साथ चुनौतियां स्पष्ट होती जा रही हैं। कार निर्माता और बैटरी निर्माता लागत कम करने पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं।

सोडियम का भंडार लिथियम से अधिक

सोडियम आधारित बैटरियां लिथियम कैन से आगे इलेक्ट्रिक कारों को नहीं ले जा सकती हैं। जेफरीज ग्रुप एलएलसी के विश्लेषकों के अनुसार पृथ्वी के भंडार में सोडियम की सामग्री लगभग 2.5% से 3% या लिथियम से 300 गुना अधिक है और समान रूप से वितरित की जाती है। इसका मतलब है कि इसका एक बड़ा लागत लाभ है। इन पावर पैक की कीमत वर्तमान में उपलब्ध सबसे सस्ती इलेक्ट्रिक कार बैटरी विकल्पों की तुलना में लगभग 30% से 50% कम हो सकती है। इसके अलावा लिथियम की तुलना में सोडियम की कीमत बाजार के उतार-चढ़ाव के प्रति कम संवेदनशील है।

ठंडे तापमान पर बेहतर तरीके से चलती है सोडियम-आयन बैटरियां

सोडियम-आयन बैटरियों में वर्तमान में अपेक्षाकृत कम ऊर्जा घनत्व होता है, वे ठंडे तापमान पर बेहतर तरीके से चलती हैं और उनका जीवन काल अधिक होता है, जिससे वे सिद्धांत रूप में बेहतर दीर्घकालिक निवेश बन जाते हैं। CATL के नवीनतम उत्पाद का ऊर्जा घनत्व 160 वाट-घंटा प्रति किलोग्राम होने की उम्मीद है और इसके 80% चार्ज तक पहुंचने में 15 मिनट का समय लगेगा।

यह वर्तमान में बाजार में उपलब्ध बैटरियों के बराबर है। अंततः बाजार में सस्ते और सुरक्षित विकल्पों को रखने की क्षमता का अर्थ मूल्य-सचेत उपभोक्ताओं या संसाधन-विवश राष्ट्रों के लिए व्यापक पहुंच भी है। भारत और दक्षिण अफ्रीका जैसे देश वैश्विक हरित लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए बड़ी महत्वाकांक्षी योजनाओं के साथ इलेक्ट्रिक कार बैंडवागन पर उतरने की होड़ में हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.