टाटा स्टील ने की अनोखी पहल, माल ढुलाई के लिए कर रही भारी इलेक्ट्रिक वाहनों का इस्तेमाल, जानिए क्या है विशेषता

टाटा समूह की कंपनियां ऐसी पहल करती है जो हमेशा उसे दूसरी कंपनियों से अलग करता है। जमशेदपुर स्थित टाटा स्टील ने अपने प्लांट में भारी इलेक्ट्रिक वाहन का प्रयोग कर रहा है। यह पहल ऐसे समय में किया जा रहा है जब कंपनियां इलेक्ट्रिक कार बना रही है।

Jitendra SinghSat, 31 Jul 2021 06:10 AM (IST)
माल ढुलाई के लिए कर रही भारी इलेक्ट्रिक वाहनों का इस्तेमाल

जमशेदपुर : पर्यावरण संरक्षण की दिशा में एक और कदम बढ़ाते हुए टाटा स्टील ने नई पहल की है। जमशेदपुर में 15 और साहिबाबाद में 12 भारी इलेक्ट्रिक वाहन लाए गए हैं। 35 टन माल ढुलाई की क्षमता वाले इन वाहनों की मदद से कंपनी अपने स्टील उत्पादों की ढुलाई करेगी।

पैसेंजर कार व दो पहिया वाहनों में ही अब तक इलेक्ट्रिक तकनीक का इस्तेमाल होता रहा है। लेकिन यह पहली बार है जब टाटा स्टील ने इलेक्ट्रिक वाहन ट्रक का इस्तेमाल अपने उत्पादों की ढुलाई के लिए करेगी। कंपनी ने इसके लिए एक भारतीय स्टार्टअप कंपनी के साथ समझौता किया है। जिसके तहत टाटा स्टील ने पहली बार माल ढुलाई के लिए भारी वाहन वाले इलेक्ट्रिक व्हीकल का इस्तेमाल किया है। 29 जुलाई को ऑनलाइन कार्यक्रम के तहत 38 किलोमीटर दूर साहिबाबाद प्लांट से पिलखुवा स्टॉक यार्ड के लिए माल लदे भारी वाहन को औपचारिक रूप से झंडा दिखाकर रवाना किया गया। इस नई पहले के लिए टाटा स्टील के वाइस प्रेसिडेंट (सेफ्टी एंड हेल्थ) संजीव पॉल ने बधाई देते हुए कहा कि लंबी दूरी के लिए हमें इको सिस्टम को विकसित करना होगा।

इलेक्ट्रिक वाहन में लगे हैं 230.4 केडब्ल्यूएच लिथियम बैटरी

टाटा स्टील के लिए माल ढुलाई करने वाले भारी इलेक्ट्रिक वाहन 2.2 टन के 230.4 केडब्ल्यूएच लिथियम आयन बैटरी पैक लगा हुआ है। जो इस वाहन को 60 डिग्री सेल्सियस में भी संचालित करने में मदद करेगा। इस ट्रक में 160 केडब्ल्यूएच चार्जर सेटअप है जो मात्र 90 मिनट में शून्य से 100 प्रतिशत चार्ज हो जाएगा। प्रत्येक इलेक्ट्रिक वाहन से प्रतिवर्ष 125 टन सीओ 2 गैस उत्सर्जन में कमी लाएगा।

कार्बन उत्सर्जन कम करना उद्देश्य : वीपी

टाटा स्टील के वाइस प्रेसिडेंट (सप्लाई चेन) दिब्येंदु बोस का कहना है कि कार्बन उत्सर्जन को कम करना हमारा मुख्य उद्देश्य है। इसके लिए हम एक स्थान से दूसरे स्थान तक माल ढुलाई के लिए पहली बार इलेक्ट्रिक वाहनों का उपयोग कर रहे हैं। माल ढुलाई के लिए इलेक्ट्रिक वाहन के आने से सप्लाई चेन डिविजन में नए युग की शुरूआत है।

टाटा स्टील रहा है पथ प्रदर्शक : पीयूष

टाटा स्टील के वाइस प्रेसिडेंट (सप्लाई चेन नामित) पीयूष गुप्ता का कहना है कि हर अच्छी पहल में टाटा स्टील पथ प्रदर्शक रहा है। माल ढुलाई के लिए इलेक्ट्रिक वाहनों का उपयोग पर्यावरण के प्रति हमारी प्रतिबद्धता को दर्शाता है। हमारी यह पहल केंद्र सरकार के जलवायु एजेंड़े से भी जुड़ी हुई है। निश्चित रूप से हमारी पहल के बाद अन्य कंपनियां भी इस दिशा में पहल करेंगी।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.