Tata Group: टीएसपीडीएल के सीआर प्लांट में लगेगा 60 करोड़ का नया प्रोजेक्ट, जानिए

कोविड-19 को लेकर जहां अन्य कंपनियों में कामगारों को बैठाया गया हैवही टीएसडीपीएल में 60 करोड़ के नए प्रोजेक्ट पर काम होना सुखद है। यहां दो माह के अंदर टीएसडीपीएल के सीआर प्लांट में तीसरा यूनिक लाइन बनकर तैयार हो जाएगा

Rakesh RanjanFri, 13 Aug 2021 03:57 PM (IST)
टीएसडीपीएल के सीनियर जीएम ऑपरेशन अश्विनी कुमार।

अरविंद श्रीवास्तव, जमशेदपुर। कोरोना काल के बीच टाटा स्टील डाउनस्ट्रीम प्रोडक्ट लिमिटेड (टीएसडीपीएल) का विस्तारीकरण किया जा रहा है। कोविड-19 को लेकर जहां अन्य कंपनियों में कामगारों को बैठाया गया है, कितनी की नौकरी चली गई है इसी बीच टीएसडीपीएल में 60 करोड़ का नया प्रोजेक्ट पर काम होना शहरवासियों के लिए सुखद है। यहां दो माह के अंदर टीएसडीपीएल के सीआर प्लांट में तीसरा यूनिक लाइन बनकर तैयार हो जाएगा, जो अब तक के सभी लाइन से बेहतर व अत्याधुनिक होगा। इसके निर्माण के बाद कंपनी का उत्पादन में काफी इजाफा होगा।

लाइन बनने से कंपनी में प्रतिवर्ष दो लाख टन उत्पादन बढ़ जाएगा। स्टील के क्वायल की अत्याधुनिक तरीके से कम समय व कम लागत में स्लीटिंग की जाएगी। ग्राहकों की मांग के अनुरुप लोहे की बेहतर तरीके से प्रोसेसिंग हो पाएगी। तीसरी लाइन के लिए विदेशों से मशीनें मंगाई जाएंगी तो यहां पहले दक्ष मजूदरों को काम पर लगाया जाएगा। उक्त जानकारी एक विशेष भेंट वार्ता में शुक्रवार को टीएसडीपीएल के सीनियर जीएम ऑपरेशन अश्विनी कुमार ने दी। मौके पर एचआर हेड शेखर झा व यूनियन नेता त्रिदेव सिंह मुख्यरूप से मौजूद थे।

कंपनी का भविष्य है उज्जवल : अश्विनी कुमार

टीएसडीपीएल तीनों प्लांट के प्रमुख अश्विनी कुमार ने कहा कि कंपनी का भविष्य का उज्जवल है। आने वाले दो साल के अंदर

कंपनी का और विस्तार होगा तथा मैनपावर भी बढ़ाया जाएगा। कहा कि टीएसडीपीएल के कलिंगनगर में टाटा स्टील के सहयाेग से एक पखवारे के अंदर एक अन्य प्लांट का श्रीगणेश होगा। टाटा स्टील के सीआर प्लांट के साथ मिलकर वहां भी उत्पादन किया जाएगा। वहां का प्रोजेक्ट एक हजार करोड़ से ज्यादा का होगा। 2022 तक वहां भी उत्पादन कार्य शुरू हो जाएगा।

कंपनी ने किया तीन हजार 600 करोड़ का टर्नओवर

टीएसडीपीएल का वित्तीय वर्ष 2019-20 में तीन हजार 600 करोड का टर्न ओवर हुआ है। वहीं कंपनी को बीते साल की अपेक्षा ज्यादा मु नाफा हुआ है। कंपनी को 65 करोड़ का शुुद्ध मुनाफा हुआ है।

टीएसडीपीएल ने खोले रोजगार के अवसर

टीएसडीपीएल के विस्तारीकरण के बाद यहां मैनपावर की जरूरत पड़ेगी। जमशेदपुर से लेकर कलिंग नगर तक लोगों को रोजगार मिलेगा। हालांकि पहले वैसे ठेका मजदूरों को काम मिलेगा जो वर्षों से यहां कार्यरत हैं तथा नियोजन परीक्षा में उत्तीर्ण होकर मेडिकल प्रक्रिया पास करेंगे। हालांकि कोरोना को लेकर ठेका मजदूरों को परीक्षा का आदेश नहीं मिल रहा है। जिला प्रशासन के आदेश के बाद यहां ठेका मजदूरों की नियोजन परीक्षा होगी जिसमें करीब 300 ठेका मजदूर हिस्सा लेंगे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.