Tata Motors Hospital OPD में कौन-कौन चिकित्सक आज हैं तैनात, जानिए

Tata Motors Hospital OPD Doctor अस्पताल में दिखाने के लिए रोगियों को पहले से नंबर लेना होता है। संबंधित डॉक्टर से दिखाने के लिए ऑनलाइन व ऑफलाइन दोनों तरह की व्यवस्था है। सोमवार से शुक्रवार तक दोनों पाली में ओपीडी खुला रहता है।

Rakesh RanjanPublish:Fri, 03 Dec 2021 06:52 AM (IST) Updated:Fri, 03 Dec 2021 06:52 AM (IST)
Tata Motors Hospital OPD में कौन-कौन चिकित्सक आज हैं तैनात, जानिए
Tata Motors Hospital OPD में कौन-कौन चिकित्सक आज हैं तैनात, जानिए

जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : टाटा मोटर्स अस्पताल के ओपीडी में दिखाने के लिए मरीज सुबह सात बजे से ही अस्पताल पहंचने लगते हैं। फिर आठ बजे से ओपीडी सेवा शुरू हो जाती है जो दोपहर एक बजे तक चलती है। दूसरी पाली दोपहर दो बजे से सायं पांच बजे खुला रहता है। यहां मेडिकल व सर्जिकल ओपीडी में भीड़ रहती है। मरीज दिखाने के लिए लंबी कतार में लोग लगे रहते हैं। कर्मचारियों व उनके परिजनों के अलावा आमलोग भी इलाज कराने पहुंचते हैं।

आज शुक्रवार को ओपीडी में ये चिकित्सक रहेंगे तैनात

मेडिकल डा. आरके ठाकुर, डा. आरके मेहता, एसी सेनगुप्ता व डा. आसिक हुसैन

दूसरीपाली डा. आरके मेहता, एसी सेनगुप्ता, कुंदन कुमार व डा. आयुष कुमार

शिशु रोग डा. विवेक शर्मा

दूसरी पाली डा.विवेक शर्मा

ऑर्थोपेडिक्स सुबह पाली डा. अरविंद

दूसरी पाली डा. अरविंद

त्वचा रोग कोई नहीं

इएनटी पहली पाली कोई नहीं

दूसरी पाली एस. रस्तोगी व डा. संतोष कुमार

सर्जिकल डा. अरूणिमा व डा.एस देव

दूसरी पाली डा.एस देव व डा.रौशन

आंख डा. आर वर्मा

दूसरी पाली कोई नहीं

मनोविज्ञानिक सुदेशना दास

दूसरी पाली डा. सुदेशना दास

डायट क्लिनिक डा. प्रतिभा सोनी

दूसरीपाली डा. प्रतिभा सोनी

स्त्री रोग डा. अनिंदता राय

दूसरी पाली सोमनाथ घोष

मनोरोगी डा. अर्निबन बासु व डा ए. भट्टाचार्य

दूसरी पाली डा. अर्निबन बासु व डा.ए. भट्टाचार्य

पहले लेना होता है नंबर

अस्पताल में दिखाने के लिए रोगियों को पहले से नंबर लेना होता है। संबंधित डॉक्टर से दिखाने के लिए ऑनलाइन व ऑफलाइन दोनों तरह की व्यवस्था है। सोमवार से शुक्रवार तक दोनों पाली में ओपीडी खुला रहता है। शनिवार को सिर्फ सुबह पाली में डाॅक्टर बैठते हैं। इस दिन दूसरी पाली बंद रहता है। वहीं रविवार को ओपीडी बंद रहता है लेकिन इमरजेंसी सेवा 24 घंटे बहाल रहती है। चारों पाली में चार डाॅक्टर मौजूद रहते हैं।