टाटा ग्रुप के अध्यक्ष चंद्रशेखरन दूसरी पारी में Digital Everywhere पर देंगे जोर

153 साल पुरानी टाटा ग्रुप के अध्यक्ष एन चंद्रशेखरन को दूसरी पारी मिलना तय माना जा रहा है। एन चंद्रशेखरन का पहला कार्यकाल फरवरी 2022 में समाप्त हो रहा है। वर्तमान कार्यकाल में उन्होंने समूह को नई ऊंचाईयां प्रदान की।

Jitendra SinghSat, 24 Jul 2021 06:00 AM (IST)
टाटा ग्रुप के अध्यक्ष चंद्रशेखरन दूसरी पारी में Digital Everywhere पर देंगे जोर

जमशेदपुर। टाटा संस के अध्यक्ष एन चंद्रशेखरन को दूसरा कार्यकाल मिलना तय माना जा रहा है। चंद्रशेखरन से उम्मीद की जाती है कि वे अध्यक्ष के रूप में अपने दूसरे कार्यकाल में टाटा समूह में सरलीकरण, तालमेल और पैमाने की रणनीति जारी रखेंगे। टाटा संस के अध्यक्ष के रूप में एन चंद्रशेखरन का पहला चार साल का कार्यकाल अगले साल फरवरी में समाप्त होगा, लेकिन बोर्ड जल्द ही नवीनीकरण की घोषणा कर सकता है।

सूत्रों का कहना है, "बोर्ड उनके प्रदर्शन पर संतोष व्यक्त करने के लिए जल्द से जल्द उनकी अध्यक्षता का विस्तार करना चाहता है। यह बाजार को एक सकारात्मक संदेश देगा।"

चंद्रशेखरन ने टाटा डिजिटल जैसे नए व्यवसायों को जन्म दिया

चंद्रशेखरन के अध्यक्ष के रूप में अपने दूसरे कार्यकाल में टाटा समूह में सरलीकरण, तालमेल और पैमाने की रणनीति को जारी रखने की उम्मीद है। अध्यक्ष के रूप में पिछले साढ़े तीन वर्षों में उन्होंने टाटा डिजिटल, टाटा इलेक्ट्रॉनिक्स, टाटा मेडिकल डिवाइसेस और डायग्नोस्टिक्स और टाटा पेमेंट्स सहित--- नए युग के व्यवसायों को जन्म दिया है। साथ ही, स्टील, ऑटोमोबाइल, बिजली और कंज्यूमर प्रोडक्ट जैसे पारंपरिक व्यवसायों को पुनर्जीवित किया है। हालांकि कुछ पुराने मुद्दे अभी भी अनसुलझे हैं, लेकिन वह वहां नुकसान को कम करने पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं।

153 साल पुराने टाटा समूह की मानसिकता बदलने को तैयार

चंद्रशेखरन ने 153 साल पुराने टाटा समूह को बदलने के लिए पुरानी मानसिकता को बदलने और तालमेल की वकालत करने का प्रयास किया है। उन्होंने कंपनियों को हितों के सामान्य क्षेत्रों में सहयोग करने के लिए प्रेरित किया। चंद्रशेखरन ने इन वर्षों में बैलेंस शीट फिटनेस और वित्तीय रिटर्न पर ध्यान केंद्रित किया है। सरलीकरण के परिणामस्वरूप 10 समूहों का निर्माण हुआ। क्लस्टर-विशिष्ट दृष्टिकोण तालमेल में लाया। मुख्य व्यवसाय को बढ़ाना अगला कदम था।

Digital Everywhere की रणनीति पर चल रहे चंद्रशेखरन

वह 'Digital Everywhere' की रणनीति पर चल रहे हैं। उनकी योजना के अनुसार, हर कंपनी चाहे वह निर्माता हो या सर्विस फर्म, बी 2 बी या बी 2 सी, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस, डेटा एनालिटिक्स, क्लाउड कंप्यूटिंग और मशीन लर्निंग द्वारा संचालित होगी।

टाटा डिजिटल ने चंद्रशेखरन की देखरेख में सुपर ऐप लॉन्च करने की योजना बनाई है। यह ओपन आर्किटेक्चर होगा। इसमें एक मजबूत लॉयल्टी प्रोग्राम, पेमेंट इंजन, फायनेंसियल प्रोडक्ट्स और अन्य श्रेणियां होंगी।

सुपरएप में अधिकांश कैटेगरी जैसे इलेक्ट्रॉनिक्स, ग्रोसरी, फैशन और लाइफस्टाइल, ब्यूटी, ट्रैवल, हेल्थ, एजुकेशन और एंटरटेनमेंट समेत कई कैटेगरी होंगी।

टाटा स्टील यूरोप को मजबूत करने की कवायद

चंद्रशेखरन टाटा स्टील यूरोप और मुंडरा में टाटा पावर के अल्ट्रा मेगा पावर प्लांट की समस्याओं को हल करने के लिए भी कड़ी मेहनत कर रहे हैं। इलेक्ट्रिक मोबिलिटी पर टाटा मोटर्स का जोर आने वाले वर्षों में इसे प्रतिद्वंद्वियों पर बढ़त देने की संभावना है। संक्षेप में, चंद्रशेखरन से उसी एजेंडे को चलाने की उम्मीद की जाती है, जिसने दूसरे कार्यकाल में टाटा समूह के लिए अच्छा काम किया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.