Tata Bluescope Bonus: टाटा-ब्लूस्कोप कर्मियों के बोनस फार्मूले पर बनी सहमति, समझौता आज

प्रबंधन पूर्व ही बोनस देना चाहता था जबकि यूनियन अन्य कंपनियों की तर्ज पर फार्मूले बनाने को लेकर अड़ी हुई थी। इसी मामले को लेकर पिछले दिनों प्रबंधन-यूनियन के बीच माहौल गरमाया था। कर्मचारियों ने भी प्रबंधन-यूनियन के विरोध में आवाज बुलंद की थी।

Rakesh RanjanSun, 31 Oct 2021 05:01 PM (IST)
बोनस फार्मूले को लेकर प्रबंधन-यूनियन के बीच कायम विवाद समाप्त हो गया है।

जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : टाटा -ब्लूस्कोप कर्मचारियों के बोनस फार्मूले को लेकर प्रबंधन-यूनियन के बीच कायम विवाद समाप्त हो गया है। अब सोमवार को बोनस फार्मूले व उसके मुताबिक मिलने वाली बढ़ी राशि पर समझौता हो जाएगा। उम्मीद है कि उस दिन प्रबंधन-यूनियन के बीच समझौते को लेकर हस्ताक्षर भी जाएगा। इसी फार्मूले को लेकर बीते दो साल से गतिरोध चल रहा था।

प्रबंधन पूर्व ही बोनस देना चाहता था जबकि यूनियन अन्य कंपनियों की तर्ज पर फार्मूले बनाने को लेकर अड़ी हुई थी। इसी मामले को लेकर पिछले दिनों प्रबंधन-यूनियन के बीच माहौल गरमाया था। कर्मचारियों ने भी प्रबंधन-यूनियन के विरोध में आवाज बुलंद की थी। उस दिन के बाद प्रबंधन मामले पर गंभीरता दिखाते हुए यूनियन के साथ वार्ता जारी रखी थी। एक दिन पूर्व शुक्रवार को दोनों पक्ष फार्मूले बनाने व उसी के अनुरूप बोनस राशि भेजने पर सहमत हो गए। सोमवार को प्रबंधन-यूनियन के वरीय अधिकारियों के बीच समझौता हो जाएगा।

छठ बाद होगी टीएसडीपीएल में नियोजन परीक्षा, शामिल होंगे सभी ठेका मजदूर

 टाटा स्टील टाउनस्ट्रीम लिमिटेड (पुराना नाम टाटा रायसन) में स्थायीकरण के लिए ठेका कर्मियों के परीक्षा में शामिल होने की पात्रता को लेकर प्रबंधन और यूनियन के बीच उत्पन्न गतिरोध समाप्त हो गया है। यूनियन अध्यक्ष राकेश्वर पांडेय की कंपनी के शीर्ष अधिकारियों के साथ वार्ता के बाद त्रिपक्षीय समझौते के तहत पात्रता रखने वाले सभी ठेका कर्मचारियों के स्थायीकरण के लिए होने वाली चयन परीक्षा में शामिल करने पर सहमति बन गई। शुक्रवार को राकेश्वर पांडेय ने कोलकाता में प्रबंधन के शीर्ष अधिकारियों से बात की। उन्होंने त्रिपक्षीय समझौते का हवाला दिया और इसका अनुपालन करने का आग्रह किया। साथ ही उन्होंने कहा कि 10-15 वर्षों से अधिक समय से वे लोग कंपनी में काम कर रहे हैं। ऐसे में उन्हें परीक्षा से वंचित रखना उचित नहीं होगा। प्रबंधन ने उनके दलील को तर्कसंगत माना और सभी को परीक्षा देने पर सहमति दे दी। समझौते में परीक्षा में शामिल होने के लिए आइटीआइ डिग्रीधारी ठेका कर्मी के लिए कम से कम दो वर्ष तथा नन टेक्नीकल ठेकाकर्मियों के लिए कम से कम तीन वर्ष का कंपनी में काम का अनुभव होना अनिवार्य है। लेकिन प्रबंधन के नये प्रस्ताव में सिर्फ स्किल्ड को ही परीक्षा में शामिल करने की बात थी। इस नियम के तहत 241 ठेका कर्मी ही परीक्षा में शामिल होने की पात्रता रख रहे थे। अब 180 ठेका कर्मी और इसमें जुड़ जाएंगे जो कुल मिलाकर 421 ठेका कर्मी होता है। अब छठ पूजा के बाद परीक्षा की नई तिथि तय करने की बात है।

टीएसडीपीएल कर्मियों के वेतन में गया दो हजार

टाटा स्टीलडाउन स्ट्रीम के कर्मचारियों के वेतन में अक्टूबर माह से 2000 रुपये की वृद्धि हुई। कंपनी प्रबंधन ने ग्रेड रिवीजन समझौते का अनुपालन करते हुए अक्टूबर माह के वेतन में यह राशि बढ़ाकर कर्मियाें के बैंक खाते में भेज दिया है। शनिवार को कर्मचारियों के बैंक खाते में बढ़ा हुआ पैसा चला गया है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.