top menutop menutop menu

पत्‍थलगड़ी का विरोध करने पर सात ग्रामीणों की हत्या Jamshedpur News

संवाद सूत्र (सोनुवा)। पश्चिमी सिंहभमू जिले के नक्सल प्रभावित गुदड़ी प्रखंड के बुरुगुलीकेरा गांव में पत्थलगड़ी समर्थकों ने पत्थलगड़ी का विरोध करने वाले पर सात ग्रामीणों की हत्या कर दी गई है। यह घटना गुलीकेरा ग्राम पंचायत के बुरुगुलीकेरा गांव में हुई है।

मृतकों में एक पंचायत प्रतिनिधि और छह ग्रामीण शामिल हैं। ग्रामीणों के मुताबिक शव गांव के पास स्थित जंगल में फेंक दिया गया है। घटना रविवार की है। इसके अलावा गांव के दो अन्य ग्रामीणों के भी गायब होने की भी बात बताई जा रही है। इन दो ग्रामीणों की भी हत्या करने की आशंका जताई जा रही है। पुलिस अभी तक कोई शव बरामद नहीं कर पाई है। बुधवार दोपहर तक शव बरामद होने की संभावना है।

पुलिस के अनुसार, मंगलवार की दोपहर हत्या की घटना की सूचना मिलने के बाद गुदड़ी थाना पुलिस सोनुवा क्षेत्र की ओर से घटनास्थल तक पहुंचने की तैयारी कर रही है। घटनास्थल बुरुगुलीकेरा गांव सोनुआ से 35 किलोमीटर दूर सुदूर जंगल और घोर नक्सल प्रभावित क्षेत्र में है। इस कारण से पुलिस वहां पहुंचने में सुरक्षा के दृष्टिकोण से काफी सावधानी बरत रही है। 

पंचायत प्रतिनिधि और ग्रामीणों को पिटाई के बाद उठा ले गए जंगल

ग्रामीणों के अनुसार, पत्थलगड़ी समर्थकों ने रविवार को गांव में ग्रामीणों के साथ एक बैठक आयोजित की थी। इसमें पत्थलगड़ी समर्थकों ने पत्थलगड़ी का विरोध करने पर एक पंचायत प्रतिनिधि और छह ग्रामीणों की जमकर पिटाई की। इसके बाद डर कर जब स्वजन वहां से भाग गए तो पत्थलगड़ी समर्थक सभी को उठाकर जंगल की ओर ले गए। रविवार को उनके घर वापस नहीं लौटने पर सोमवार को सभी पीडि़तों के परिजन गुदड़ी थाना पहुंचे। उन्होंने पुलिस को मामले की जानकारी दी।

पुलिस मामले की छानबीन में लगी ही थी कि मंगलवार दोपहर पुलिस को सात लोगों की हत्या कर शव जंगल में फेंके जाने की सूचना मिली। इसके बाद पुलिस रेस हो गई। इलाका सुदूर और नक्सल प्रभावित होने के कारण अभी तक पुलिस मौके पर नहीं पहुंच पाई है। संभावना है कि बुधवार सुबह पुलिस वहां जाएगी। शव बरामद होने के बाद पुलिस इस पर कुछ कहने की स्थिति में होगी। पत्थलगड़ी समर्थकों ने रविवार को गांव में ग्रामीणों के साथ बैठक की फोटो पुलिस अधीक्षक ने जारी की है।

ये कहते एसपी

गुदड़ी में सात पत्थलगड़ी विरोधियों की हत्या की सूचना मिली है। प्राथमिक जांच में ऐसा प्रतीत हो रहा है कि यह मामला पत्थलगड़ी समर्थकों व विरोधियों के बीच का है। ऐसी भी सूचना है कि घटना के बाद पत्थलगड़ी समर्थकों ने गोईलकेरा में बैठक भी की थी। हालांकि, अभी तक कोई शव बरामद नहीं हुआ है। इस कारण कुछ भी कहना जल्दबाजी होगा। पुलिस का सर्च ऑपरेशन जारी है।

- इंद्रजीत माहथा, पुलिस अधीक्षक, पश्चिमी  सिंहभमू ।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.