Power Block in Tatanagar : टाटानगर स्टेशन में लगाया जा रहा है दूसरा ब्रिज गाडर, लिया गया है पावर ब्लॉक

Power Block in Tatanagar टाटानगर रेलवे में सोमवार को दूसरा ब्रिज गाडर लगाया जा रहा है इसके लिए छह घंटे का पावर ब्लॉक लिया गया है। टाटानगर रेलवे स्टेशन के बर्मामाइंस छोर की ओर से दूसरा सेकंड इंट्रीे गेट बनना है।

Rakesh RanjanPublish:Mon, 29 Nov 2021 05:08 PM (IST) Updated:Mon, 29 Nov 2021 05:08 PM (IST)
Power Block in Tatanagar : टाटानगर स्टेशन में लगाया जा रहा है दूसरा ब्रिज गाडर, लिया गया है पावर ब्लॉक
Power Block in Tatanagar : टाटानगर स्टेशन में लगाया जा रहा है दूसरा ब्रिज गाडर, लिया गया है पावर ब्लॉक

जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : टाटानगर रेलवे में सोमवार को दूसरा ब्रिज गाडर लगाया जा रहा है इसके लिए छह घंटे का पावर ब्लॉक लिया गया है। टाटानगर रेलवे स्टेशन के बर्मामाइंस छोर की ओर से दूसरा सेकंड इंट्रीे गेट बनना है। इसके लिए स्टेशन के दोनों छोर को फुट ओवर ब्रिज के माध्यम से जोड़ा जा रहा है और यह फुट ओवर ब्रिज 25,000 वोल्ट वाले ओवरहेड वायर के ऊपर पर जाना है। इसके लिए रेलवे ने छह घंटे का पावर ब्लॉक लिया गया है ताकि काम सुगमता से हो सके। सोमवार को फुट ओवर ब्रिज के लाइन पर आने वाले ओवरहेड वायर के खंभों को पहले हटाया गया।

इसके कारण काम में काफी विलंब हुई। दोपहर में 1 बजकर 42 मिनट पर फुट ओवरब्रिज के गार्डर को उठाया गया और लगभग दो बजे गार्डर को उसके सही स्थान पर लगा दिया गया। इस काम के लिए रेलवे ने चक्रधरपुर मंडल से 140 टन का बड़ा क्रेन मंगवाया है जिसकी मदद से गाडर को उठाया गया। इससे पहले रेलवे ने 26 नवंबर को भी एक पावर ब्लॉक लिया था जिसकी मदद से पहला बीच गार्डन को आपस में जोड़ा गया। हालांकि फुट ओवर ब्रिज के प्लेटफार्म संख्या पांच तक का काम पूरा हो चुका है जबकि एक और ब्रिज गार्डन के लिए रेलवे को फिर एक पावर ब्लॉक लेना होगा।

फरवरी तक शुरू होना है काम

बर्मामाइंस को आपस में जोड़ने और टाटानगर स्टेशन के इस सेकेंड इंट्री गेट को शुरू करने के लिए फरवरी 2022 तक का डेडलाइन है। ऐसे में काम को तेजी से किया जा रहा है। फुट ओवर ब्रिज का काम पूरा होने के बाद बर्मामाइंस छोर में इसका रेम्प भी तैयार होना है इसीलिए काम को तेजी से किया जा रहा है हालांकि रेलवे अपने डेडलाइन से लगभग डेढ़ साल पीछे है और इस काम को पहले ही कर लिया जाना था लेकिन टाटानगर स्टेशन पर गुड्स ट्रेन की ट्रैफिक काफी अधिक होती है इसलिए टेक्निकल कारण से इस काम में काफी देरी हुई।