इस बार चार सोमवारी को विशेष नक्षत्रों का संयोग, सावन की दूसरी सोमवारी पर घंटे-घड़ियाल से गूंज रहे शिवालय

सावन माह में इस बार चार सोमवारी पड़ रही है। हर सोमवार को विशेष नक्षत्र का संयोग बन रहा है जिसमें पूजा करने पर मनोकामना पूर्ण होती है। इसमें पहली सोमवारी 26 जुलाई को थी उस दिन धनिष्ठा नक्षत्र था। आज के बारे में जाने।

Rakesh RanjanMon, 02 Aug 2021 01:24 PM (IST)
झारखंड सरकार के प्रतिबंध पर आस्था का ज्वार भारी पड़ रहा है।

जमशेदपुर, जासं। भोलेबाबा की पूजा-अर्चना का विशेष सावन माह चल रहा है, जिसमें दूसरी सोमवार पर खास चहल-पहल देखने को मिल रही है। झारखंड सरकार के प्रतिबंध पर आस्था का ज्वार भारी पड़ रहा है। मंदिर में श्रद्धालुओं के प्रवेश की मनाही के बावजूद शहर के मंदिरों में घंटे-घड़ियाल गूंज रहे हैं।

साकची स्थित कचहरी बाबा मंदिर, शीतला मंदिर, शिव-दुर्गा मनोकामना नाथ मंदिर, श्रीश्री साकची शिव मंदिर, मानगो के जीवनदायिनी माता मंदिर, संकोसाई व उलीडीह के शिव मंदिर से लेकर दलमा बाबा शिव मंदिर तक श्रद्धालुअों की सुबह से ही कतार लगनी शुरू हो गई। यही हाल भालूबासा, बारीडीह, टेल्को, गोविंदपुर, कदमा, सोनारी, जुगसलाई, आदित्यपुर, गम्हरिया तक शिवभक्त पूजा की थाली व सामग्री लेकर मंदिरों के रास्ते पर दिख रहे हैं। कई मंदिरों में रूद्राभिषेक भी हो रहा है, जबकि भोलेबाबा के शिवलिंग को जलाभिषेक व दुग्धाभिषेक किया जा रहा है। शिवलिंग को मंदिर समिति ने फूल-बेलपत्र से श्रृंगार किया है। इस दौरान शिवभक्त पूजा करके प्रसाद भी बांट रहे हैं। कई मंदिरों में भोग वितरण की व्यवस्था की गई है। कोरोना की वजह से इस बार कहीं भी भजन संध्या का आयोजन नहीं किया गया है, लेकिन कुछ मंदिरों में लाउडस्पीकर पर भोले बाबा के भजन सुनाई दे रहे हैं।

शारीरिक दूरी का कराया जा रहा ख्याल

झारखंड सरकार ने मंदिरों में प्रवेश की मनाही कोरोना संक्रमण का प्रसार रोकने के लिए किया है। इसके बावजूद श्रद्धालु पूजा करने आ रहे हैं, लिहाजा मंदिर समिति के सदस्य शारीरिक दूरी का पालन करा रहे हैं। एक बार में पांच श्रद्धालुओं को ही जलाभिषेक करने के लिए जाने की अनुमति दे रहे हैं। सभी श्रद्धालुओं से मास्क लगाने व सैनिटाइजर का इस्तेमाल करने को कहा जा रहा है। अधिकतर मंदिरों में सैनिटाइजर की व्यवस्था की है। शारीरिक दूरी का पालन कराने के लिए चौक-चौराहों व प्रमुख मंदिरों में पुलिस बल भी तैनात किए गए हैं।

इस बार चार सोमवारी को विशेष नक्षत्रों का संयोग

सावन माह में इस बार चार सोमवारी पड़ रही है। हर सोमवार को विशेष नक्षत्र का संयोग बन रहा है, जिसमें पूजा करने पर मनोकामना पूर्ण होती है। इसमें पहली सोमवारी 26 जुलाई को थी, उस दिन धनिष्ठा नक्षत्र था। दूसरी सोमवारी दो अगस्त को है, जो कृतिका नक्षत्र में है। तीसरी सोमवारी को 9 अगस्त को पड़ेगी, जो अश्लेषा नक्षत्र में है। चौथी सोमवारी 16 अगस्त को है, जो अनुराधा नक्षत्र में होगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.