Cyclone Jawad Big Update : जवाद तूफान ने रोका ट्रेनों का रास्ता, 95 ट्रेनें रद, जानिए आपके इलाके की कौन सी ट्रेन हुई कैंसिल

Cyclone Jawad Big Update जवाद चक्रवाती तूफान कितना खतरनाक है इसका अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि भारतीय रेल ने 94 ट्रेनों को रद कर दिया है। सभी ट्रेन ओडिशा बंगाल व आंध्रप्रदेश से होकर गुजरने वाली है....

Jitendra SinghThu, 02 Dec 2021 06:15 AM (IST)
ALERT for Train Passengers : 'जवाद' तूफान को लेकर रेलवे ने रद की 95 ट्रेनें

जमशेदपुर : भारतीय रेलवे ने 'जवाद' चक्रवाती तूफान (Cyclone Jawad) को देखते हुए 95 ट्रेनों को रद कर दिया है। देश के तटवर्ती क्षेत्रों में चक्रवात जवाद आने की संभावना है। दक्षिण पूर्व रेलवे ने अप लाइन में 49 जबकि डाउन लाइन में 46 ट्रेनों को दो से चार तक अलग-अलग दिन रद किया है। टाटानगर रेलवे स्टेशन से गुजरने वाली भुवनेश्वर राजधानी, पुरुषोत्तम एक्सप्रेस और टाटा यशवंतपुर व कलिंग उत्कल जैसी वे सभी ट्रेनें प्रभावित हो रही है जो तटवर्ती क्षेत्र को जाती है।

दक्षिण पूर्व रेलवे ने बुधवार को इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है।

रेल प्रबंधन ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिया है कि उन सभी यात्रियों को बल्क मैसेज भेज कर ट्रेनों के रद होने की जानकारी दें, ताकि उन्हें किसी तरह की परेशानी न हो। नीचे कैंसिल होने वाली ट्रेनों की पूरी सूची है....

टाटानगर से गुजरने वाली ये ट्रेनें रद हो गई

अप लाइन में रद ट्रेन

12889 : टाटा-यशवंतपुर : 03 दिसंबर 12802 : नई दिल्ली-पुरी : 02 दिसंबर 18478 : योग नगरी ऋषिकेश-पुरी : 02 दिसंबर

डाउन लाइन में रद ट्रेन

18477 : पुरी-योग नगरी ऋषिकेश : 03 दिसंबर 12801 : पुरी-नई दिल्ली पुरुषोत्तम एक्सप्रेस : 03 दिसंबर 20817 : भुवनेश्वर-नई दिल्ली राजधानी : 04 दिसंबर

मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने चक्रवात जवाद के गठन के लिए अपना पहला अलर्ट जारी किया है। आईएमडी के अनुसार, चक्रवात के चार दिसंबर की सुबह आंध्र प्रदेश-ओडिशा तटों पर पहुंचने की संभावना है।

मौसम एजेंसी ने अपने चक्रवात अपडेट में कहा कि 30 नवंबर की सुबह दक्षिण थाईलैंड में एक कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। 2 दिसंबर तक दक्षिण पूर्व बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक दबाव में बदल जाएगा।

गुरुवार से अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में महत्वपूर्ण वर्षा का कारण बन सकता है। द्वीपों को शुरुआत में 40-50 किलोमीटर प्रति घंटे की हवा की गति का अनुभव हो सकता है, जो 50-60 किमी / घंटा तक बढ़ सकता है। तीसरे दिन 70 किमी/घंटा की रफ्तार से हवाएं चलेंगी।

तीन दिसंबर को तेज होगा चक्रवात

3 दिसंबर को चक्रवात में और तेज होने की भविष्यवाणी की गई है। आईएमडी को उम्मीद है कि चक्रवात की बंगाल की खाड़ी में 110 किमी / घंटा की गति के साथ 90-100 किमी / घंटा की चरम हवा की गति होगी।

मौसम विभाग के अनुसार चक्रवात जवाद 4 दिसंबर की सुबह तक उत्तरी आंध्र प्रदेश और दक्षिण ओडिशा के तटों पर पहुंच जाएगा।

आंध्र और ओडिशा तटों के साथ संभावित भूस्खलन के बाद यह प्रणाली उत्तर पूर्व की ओर झुक सकती है और पश्चिम बंगाल तक पहुंच सकती है, जिससे पूरे रास्ते में बारिश हो सकती है। उत्तर ओडिशा और पश्चिम बंगाल में लोग 4 दिसंबर से भारी बारिश की उम्मीद कर सकते हैं। बारिश 5 दिसंबर से पूर्वोत्तर भारत में चली जाएगी। वह क्षेत्र जो हाल ही में वर्षा के मामले में कम अवधि से गुजर रहा है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.