Indian Railways : रेलवे कराएगी सस्ते में एसी क्लास में सफर, कर रही है ये तैयारी

Railway Big Announcement भारतीय रेल देश की लाइफलाइन कही जाती है। यात्रियों का सफर आसान हो इसके लिए रेलवे हमेशा प्रयासरत रहती है। अब रेलवे ऐसी कोच ला रही है जो एसी होगा। लेकिन इसकी कीमत एसी थ्री टायर से कम होगी।

Jitendra SinghTue, 27 Jul 2021 06:00 AM (IST)
रेलवे कराएगी सस्ते में एसी क्लास में सफर, कर रही है ये तैयारी

जमशेदपुर : भारतीय रेल के स्लीपर क्लास में सफर करने वाले यात्रियों के लिए खुशखबरी। क्योंकि जल्द ही उन्हें स्लीपर वाले एसी सफर का मजा मिलने वाला है। क्योंकि भारतीय रेल देश भर के सभी जोन में जल्द ही यात्रियों को सस्ती दर पर एसी का मजा देने वाली है। भारतीय रेल अब तक एसी वातानुकूलित फर्स्ट क्लास से लेकर, सेकेंड क्लास व एसी थ्री टियर की सुविधा अपने यात्रियों को देती है। लेकिन कई ऐसे यात्री हैं जो एसी में सफर तो करना चाहते हैं लेकिन यह उनके बजट में नहीं है। ऐसे में भारतीय रेल एसी थ्री टियर से कम और स्लीपर क्लास से थोड़े से ज्यादा किराए पर यात्रियों को एसी का मजा देने की तैयारी कर रही है।

सस्ता होगा एसी का किराया

भारतीय रेल की ओर से जो सस्ती एसी कोच की शुरूआत की जा रही है वह सामान्य एसी थ्री टियर से थोड़ा सस्ता होगा। हालांकि इकोनॉमी एसी कोच में बर्थ की संख्या 72 होती है जबकि नए एसी में इसकी संख्या 83 करने की तैयारी की जा रही है। यानि सामान्य एसी कोच की तुलना में 11 बर्थ ज्यादा।

 

दो सीट के बीच का गैप किया गया है कम

नए एसी कोच में सामान्य कोच की तुलना में सीटों के बीच के गैप को थोड़ा कम किया गया है। हालांकि आधिकारियों का कहना है कि सामान्य कोच की तरह ही नए एसी कोच में बर्थ की लंबाई पूर्व की तरह रखी गई है। ऐसे में यात्रियों को कोई परेशानी नहीं होगी। हालांकि बर्थ के बीच की जगह को थोड़ा कम जरूर किया गया है लेकिन इससे यात्रियों को काेई फर्क नहीं पड़ेगा। इसके अलावा कोच में साइड अपर व लोअर बर्थ की लंबाई भी पूर्व की तरह रखी गई है।

नए कोच में रहेगी ये सुविधाएं

इकोनॉमी क्लास के नए एसी थ्री टियर कोच को हमसफर एक्सप्रेस की तरह ही बनाया गया है। इसमें पर्सनल रीडिंग के लिए लाइट, पर्सनल एसी वेंट्स, यूएसबी प्वाइंट, मोबाइल चार्जिंग प्वाइंट, अपर बर्थ पर चढ़ने के लिए सुविधाजनक सीढ़ी सहित खास तरह से तैयार किए हुए स्नैक टेबल बनाए गए हैं। इसके अलावा हर बर्थ के टॉयलेट में फुट ऑपरेटिंग टैब लगाए गए हैं।

पहले चरण में बनाए जा रहे हैं 25 काेच

रेलवे के मुताबिक पहले चरण में ऐसे 25 कोच का निर्माण किया जा रहा है। इसमें से पश्चिम रेलवे को 10, उत्तर मध्य रेलवे को सात, उत्तर पश्चिम रेलवे को पांच और उत्तर रेलवे को तीन कोच दिए जाएंगे। रेलवे इन किफायती कोचों को अपने तीन रेल कारखानो में तैयार कर रही है। उम्मीद की जा रही है दक्षिण पूर्व रेलवे में भी इन कोच से संचालन शुरू होगा।

806 कोच किए जा रहे हैं तैयार

रेलवे प्रबंधन वित्तीय वर्ष 2021-22 के अंत तक 806 ऐसे एसी थ्री टियर कोच तैयार कर रही है। रेलवे इन डिब्बों का डिजाइन रेल कारखाना कपूरथला में तैयार कर रही है। अक्टूबर 2020 से इन कोचों को युद्ध स्तर पर तैयार किया जा रहा है। उम्मीद की जा रही है। भविष्य में स्लीपर कोच की जगह ये किफायती एसी कोच जगह लेंगे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.