जांच की ऐसी व्यवस्था से छूट सकती है यात्रियों की ट्रेन

जांच की ऐसी व्यवस्था से छूट सकती है यात्रियों की ट्रेन
Publish Date:Wed, 21 Oct 2020 07:57 PM (IST) Author: Jagran

जासं, जमशेदपुर : कोरोना काल में टाटानगर स्टेशन में जांच की ऐसी व्यवस्था की है कि यदि उसका पालन किया जाए तो ट्रेन ही छूट जाए। जी हां, रेलवे ने टाटानगर प्लेटफार्म पर एक ही गेट यात्रियों के प्रवेश के लिए रखा है। ऐसे में प्रतिदिन सुबह पुरुषोत्तम एक्सप्रेस व टाटा-हावड़ा पूजा स्पेशल के यात्रियों की लंबी कतार रहती है। गेट पर मौजूद टीटीई इन यात्रियों की बारी-बारी से थर्मल स्क्रीनिग व उनके टिकटों की जांच कर चार्ट में दर्ज कर यात्रियों को आगे जाने की इजाजत देते हैं। एक यात्री की जांच करने पर करीब 5-7 मिनट लग जाते हैं। यह व्यवस्था तब की थी जब टाटानगर स्टेशन में मात्र राजधानी एक्सप्रेस व पुरुषोत्तम एक्सप्रेस का ही परिचालन होता था। तब जांच की व्यवस्था कारगर थी। लेकिन, वर्तमान में सात जोड़ी ट्रेनों का परिचालन हो रहा है। यात्रियों की संख्या भी बढ़ी है। एक सप्ताह में तीन जोड़ी और ट्रेनों का परिचालन होने वाला है। यात्री की संख्या बढ़ने के बाद कोई अतिरिक्त इंतजाम नहीं किए गए हैं।

----------------

व्यवस्था से नाराज यात्री बिना जांच के ही दौड़ पड़ते हैं ट्रेन की ओर

कतार में अपनी बारी का इंतजार करने वाले यात्रियों को सब्र तब टूट जाता है जब ट्रेन गंतव्य के लिए प्रस्थान से पूर्व हॉर्न देना शुरू करती है। हॉर्न की आवाज सुनते ही यात्री कतार तोड़ कर बिना टिकट की जांच व थर्मल स्क्रीनिग कराए ही ट्रेन की ओर दौड़ लगा देते हैं और ट्रेन में सवार हो जाते हैं। यह दृश्य देखकर मुख्य गेट पर खड़े टीटीई या आरपीएफ के जवान भी कुछ कह नहीं पाते। यदि यात्रियों को रोका जाता है तो उसकी ट्रेन निश्चित छूट जाती। ऐसे में प्रतिदिन दर्जनों यात्री बिना टिकट व थर्मल स्क्रीनिग कराए ही ट्रेन में सवार हो रहे हैं।

----------------

90 की जगह मात्र दस मिनट पहले पहुंच रहे यात्री

रेलवे ने यात्रियों को 90 मिनट पहले स्टेशन में पहुंचने का आग्रह किया था। ताकि उनकी थर्मल स्क्रीनिग टिकटों की जांच आदि करने के बाद उन्हें प्लेटफार्म में प्रवेश करने की इजाजत मिले। लेकिन, लौहनगरी के यात्री ट्रेन का परिचालन शुरू होने से पांच से दस मिनट पहले ही स्टेशन पहुंच रहे हैं। ऐसे में उन्हें कतार के पीछे खड़ा होना पड़ रहा है। उनकी ट्रेन हर हालत में छूटने की संभावना रहती है।

----------------

सात जोड़ी ट्रेनों को होता है परिचालन

नई दिल्ली-भुवनेश्वर-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस, हावड़ा-सीएसएमटी-हावड़ा (मुंबई मेल), पुर-नई दिल्ली-पुरी पुरुषोत्तम एक्सप्रेस, हावड़ा-टाटा-हावड़ा पूजा स्पेशल, हावड़ा-अहमदाबाद-हावड़ा एक्सप्रेस, पुरी-आनंदविहार-पुरी-नीलांचल एक्सप्रेस, रांची-टाटा-रांची एक्सप्रेस।

--------

इन ट्रेनों का परिचालन होना है

ट्रेन संख्या 02889 टाटा-यशवंतपुर साप्ताहिक एक्सप्रेस का परिचालन 23 अक्टूबर को प्रत्येक सप्ताह शुक्रवार को होगा। ट्रेन संख्या 02890 यशवंतपुर-टाटा साप्ताहिक एक्सप्रेस का परिचालन 26 अक्टूबर से प्रत्येक सप्ताह सोमवार को होगा। ट्रेन संख्या 02820 आनंदविहार- भुवनेश्वर एक्सप्रेस का परिचालन 23 अक्टूबर से प्रत्येक सप्ताह शुक्रवार व मंगलवार को होगा। ट्रेन संख्या 02893 बिलासपुर-पटना सुपरफास्ट साप्ताहिक पूजा स्पेशल का परिचालन प्रत्येक सप्ताह शुक्रवार को 23 अक्टूबर से 27 नवंबर तक होगा। ट्रेन संख्या 02894 पटना- बिलासपुर साप्ताहिक सुपरफास्ट एक्सप्रेस का प्रत्येक सप्ताह शनिवार को 24 अक्टूबर से 28 नवंबर तक होगा। ट्रेन संख्या 02860 टाटा-पटना पूजा स्पेशल का परिचालन 18 नवंबर को टाटानगर स्टेशन से सुबह चार बजे होगा। ट्रेन संख्या 02859 पटना-टाटा पूजा स्पेशल का परिचालन 18 नवंबर को पटना स्टेशन से होगा।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.