दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

Panjab के वांटेड अपराधी गैवी नकली परिचय पत्र दिखाकर भाड़े में लिया था फ्लैट

आदित्यपुर थाना की पुलिस गैवी सिंह की स्थानीय गतिविधि की जानकारी एकत्र कर रही है ।

Jharkhand Crime News. पंजाब के वांटेड अपराधी गैवी सिंह उर्फ विजय उर्फ ज्ञानी ने फर्जी आइडी का प्रयोग कर आदित्यपुर के श्रीनाथ ग्लोबल विलेज में किराये के फ्लैट में रह रहा था। अपना नाम अंकित शर्मा बताया था। ये रही जानकारी।

Rakesh RanjanFri, 30 Apr 2021 08:24 PM (IST)

जमशेदपुर, जासं। झारखंड के सरायकेला-खरसावां जिले के आदित्यपुर से गिरफ्तार किए गए पंजाब के वांटेड अपराधी गैवी सिंह उर्फ विजय उर्फ ज्ञानी ने फर्जी आइडी का प्रयोग कर आदित्यपुर के श्रीनाथ ग्लोबल विलेज में किराये के फ्लैट में रह रहा था। अपना नाम अंकित शर्मा बताया था।

इसी तरह पुलिस को चकमा देने को उसने आइ-20 कार बेचकर ड्रग मनी से लग्जरी खरीदी ली थी। पुलिस ने उसे फ्लैट से ही गिरफ्तार किया था। इससे पहले वह गोल्ड जिम में इंस्ट्रक्टर के तौर पर काम करना शुरु किया था। गिरफ्तारी के बाद उसके पास से लग्जरी कार, पांच मोबाइल और तीन डोेंगल बरामद हुए थे। वह नशा और आपराधिक नेटवर्क चलाने के लिए इनका प्रयोग कर रहा था। पंंजाब में अपने गिरोह को फंडिंग करने के लिए ड्रग कार्टेल चला रहा था। मूल रूप से पंजाब के फिरोजपुर वह रहने वाला है। उसके संपर्क पाकिस्तान और जम्मू-कश्मीर के नशा और हथियार तस्करों से भी उसके संपर्क रहे है। इसकी जानकारी गैवी सिंह ने आदित्यपुर में गिरफ्तारी के बाद सरायकेला-खरसावां जिले के वरीय पुलिस अधिकारियाें को पूछताछ में दी थी।

जालंधर पुलिस को थी तलाश

फरवरी 2020 में 11 किलो हेरोइन बरामदगी मामले में पंजाब के जालंधर थाना में वह वांछित था। उस पर हत्या, आर्म्स एक्ट, लूटपाट, डकैती और आर्म्स एक्ट समेत ड्रग्स तस्करी के 11 मामले पंजाब में दर्ज है। फिरोजपुर जेल में बंद गैंगस्टर चंदन उर्फ चंदू के साथ भी आरोपित संपर्क में रहा है। पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, यूपी के वांटेड अपराधी जयपाल भुल्लर का वह नजदीकी रहा है। विगत फरवरी में गैवी सिंह का साथी जालंधर में गिरफ्तार हुआ था। उससे मिली जानकारी के बाद पंजाब पुलिस गैवी सिंह को तलाश करते हुए सरायकेला-खरसावां जिले के आदित्यपुर थाना क्षेत्र हरिओम नगर तक पहुंची थी। आदित्यपुर थाना की पुलिस गैवी सिंह को फ्लैट दिलाने ओर गारंटर बनने वाले से बुधवार को पूछताछ की थी। फिलहाल आदित्यपुर थाना की पुलिस गैवी सिंह की स्थानीय गतिविधि की जानकारी एकत्र कर रही है कि वह किस-किस के संपर्क में था। कहां आना-जाना करता था।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.