पीएम स्वनिधि योजना ने दिखाई अंधेरे में उजाले की किरण, लॉकडाउन के बाद इस तरह पटरी पर लौटी जिंदगी

पीएम स्वनिधि योजना से कारोबार चला रहे जमशेदपुर के अशोक शर्मा।

ठेला-रेहड़ी व अन्य फुटपाथ विक्रेताओं के लिए लॉकडाउन कहर बनकर टूटा था। फुटपाथ पर दुकान लगाकर रोजाना कमाने-खाने वालों के लिए कोरोना काल में लगा लॉकडाउन किसी बुरे सपने से कम नहीं था। इसी बीच पीएम स्वनिधि योजना आयी जो आशा की किरण जगा गई।

Publish Date:Sun, 17 Jan 2021 04:57 PM (IST) Author: Rakesh Ranjan

जमशेदपुर, जासं। ठेला-रेहड़ी व अन्य फुटपाथ विक्रेताओं के लिए लॉकडाउन कहर बनकर टूटा था। फुटपाथ पर दुकान लगाकर रोजाना कमाने-खाने वालों के लिए कोरोना काल में लगा लॉकडाउन किसी बुरे सपने से कम नहीं था। इसी बीच पीएम (प्रधानमंत्री) स्वनिधि योजना आयी, जो अशोक शर्मा के लिए आशा की किरण जगा गई। 

 लाभुक अजय शर्मा बताते हैं कि लॉकडाउन के दौरान जो जमापूंजी थी वो तो खत्म हुई ही, आगे रोजगार को कैसे शुरू किया जाए ये सवाल भी मेरे सामने पहाड़ बनकर खड़ा हो गया। इसी उधेड़बुन में पड़ा था कि मानगो नगर निगम के कर्मियों से पीएम स्वनिधि योजना के बारे में जानकारी मिली। उन्होंने बताया कि सरकार फुटपाथ विक्रेताओं को बैंक से 10 हजार रुपए लोन दे रही है। नगर निकाय कार्यालय से संपर्क करने के बाद अजय शर्मा को लोन मिल गया, जिसके बाद वो अपना चाय बेचने के रोजगार को फिर से शुरू करने में सफल हुए हैं। 

 दूसरों ने भी पटरी पर लाई जिंदगी

मानगो नगर निगम के कार्यपालक पदाधिकारी दीपक सहाय ने बताया कि अशोक शर्मा जैसे और लाभुक हैं।  लक्ष्मी सिंह (सब्जी विक्रेता), जितनेश कुमार (सब्जी विक्रेता), संजय यादव (ठेला में चिप्स, पॉपकॉर्न), मोहम्मद नजीर (रजाई, गद्दा दुकान) आदि ने पीएम स्वनिधि योजना का लाभ लेकर छोटा-मोटा कारोबार शुरू किया और वे खुश हैं कि उन्हें लॉकडाउन के बाद रोजगार शुरू करने में दिक्कत नहीं हुई।  

  883 आवेदकों में से 476 ले चुके योजना का लाभ

मानगो नगर निगम के कार्यपालक पदाधिकारी दीपक सहाय के मुताबिक पीएम स्वनिधि योजना के तहत मानगो नगर निगम कार्यालय में अब तक 883 लोगों का आवेदन प्राप्त हुआ है जिनमें 476 से ज्यादा लोगों को सफलतापूर्वक लोन उपलब्ध करा दिया गया है। उन्होंने बताया कि बहुत कम ब्याज पर लोन उपलब्ध कराया गया है। लाभुक अगर डिजिटल लेनदेन करते हैं तो उन्हें सालाना 1200 रूपए का कैशबैक भी मिलेगा। वह बताते हैं कि लाभुकों को लोन लेने में परेशानी नहीं हो, इस बाबत मानगो नगर निगम कार्यालय द्वारा लेटर आफ रिकमेंडेशन निर्गत किया गया था। इसके साथ ही फुटपाथ विक्रेता पहचान पत्र भी लाभुकों को दिया गया। इन सबके अतिरिक्त जिला अग्रणी प्रबंधक एवं बैंकों से लगातार समन्वय स्थापित करते हुए लाभुकों को उक्त योजना का लाभ दिलाया गया तथा जो शेष हैं उनका आवेदन भी प्रक्रियाधीन है, जल्द उन्हें लाभ मिलेगा।  

 पीएम स्वनिधि के लाभुकों का संदेश

इस योजना का लाभ सभी फुटपाथ विक्रेताओं को लेना चाहिए, क्योंकि एक तो ब्याज की राशि काफी कम है (ब्याज में 7% की सब्सिडी प्रतिवर्ष), वहीं एक साल में अगर यह राशि वापस कर देते हैं तो बैंक से लोन के लिए फिर अप्लाई कर सकते हैं। सरकार द्वारा शहरी क्षेत्र के फुटपाथ विक्रेताओं के रोजगार में पूंजीगत सहयोग के लिए पीएम स्वनिधि योजना लाई गई है। आवश्यकता है कि  सभी फुटपाथ विक्रेता नगर निकाय कार्यालय में जाकर निबंधन कराते हुए इस योजना का लाभ लें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.