Pimple Prevention: मुंहासों से बचना है तो इन छह खाद्य पदार्थों को करें बाय-बाय

Pimple Prevention डायटीशियन अनु सिन्हा के अनुसार दूध मांस और मीठे खाद्य पदार्थों और पेय पदार्थों सहित उच्च वसा वाले खाद्य पदार्थों के अधिक सेवन के कारण मुंहासों की संभावना अधिक बढ़ जाती है। इससे बचाव के ये रहे तरीके।

Rakesh RanjanSun, 19 Sep 2021 08:59 AM (IST)
जमशेदपुर की प्रसिद्ध डाइटिशियन अनु सिन्हा। फाइल फोटो

जागरण संवाददाता, जमशेदपुर। यदि आपको अपने चेहरे को सुंदर बनाना है तो इसके लिए आपको मुंहासों से छुटकारा लेना होगा। यही मुंहासे सुंदर चेहरा को भद्दा बना देते हैं। कई बार आपने देखा होगा कि कोई खाद्य पदार्थ खाने से मुंहासे और अधिक होने लगते हैं। ऐसा इसलिए होता है कि हमारे खाने की आदतें भी हमारी त्वचा को प्रभावित करती हैं। गलत खान-पान से मुंहासे निकलने का खतरा अधिक बढ़ जाता है।

इतनी ही नहीं गलत खान पान से लालिमा, बेचैनी और निशान भी पैदा कर सकते हैं। इससे छुटकारा दिलाने के लिए आज जमशेदपुर स्थित महात्मा गांधी मेमोरियल मेडिकल कॉलेज अस्पताल की डायटीशियन अनु सिन्हा जानकारी दे रही हैं कि मुंहासों से हम किस खाद्य पदार्थ को नहीं खाएंगे तो छुटकारा मिल सकेगा।

खान-पान का मुंहासों से है गहरा संबंध

डायटीशियन अनु सिन्हा के अनुसार दूध, मांस और मीठे खाद्य पदार्थों और पेय पदार्थों सहित उच्च वसा वाले खाद्य पदार्थों के अधिक सेवन के कारण मुंहासों की संभावना अधिक बढ़ जाती है। उच्च वसा और उच्च चीनी वाले खाद्य पदार्थों का अधिक सेवन मुंहासों से जुड़ा हुआ है। अनु सिन्हा कहती हैं कि जब उच्च शर्करा और कार्बोहाइड्रेट वाले खाद्य पदार्थ शरीर में पहुंचते हैं तो वे आपके इंसुलिन में बढ़ोत्तरी का कारण बन सकते हैं। और यह पाइलोसेबेसियस को अवरूद्ध करता है, जो मूल रूप से हमारे चेहरे पर तेल स्रावित ग्रंथियां हैं। अनु सिन्हा कहती हैं कि जब रक्त शर्करा का स्तर तेजी से बढ़ता है तो शरीर को इंसुलिन नामक एक हार्मोन जारी करने का कारण बनते हैं। रक्त में अतिरिक्त इंसुलिन होने से तेल ग्रंथियां अधिक तेल का उत्पादन करता है, जिससे मुंहासों का खतरा बढ़ जाता है।

मुंहासों से बचना है तो यह छह खाद्य पदार्थ को करना होगा बाय-बाय

रिफाइंड अनाज और चीनी

रिफाइंड अनाज और चीनी का प्रयोग नहीं के बराबर करना चाहिए। ऐसे में पास्ता, सफेद चावल, सफेद ब्रेड और चीनी जैसे खाद्य पदार्थ में इंसुलिन पैदा करने वाले प्रभाव होते हैं। इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

डेयरी उत्पाद का सेवन कम करें

यदि मुंहासों की समस्या से परेशान हैं तो डेयरी उत्पाद जैसे पनीर, फुल फैट दही और आइसक्रीम जैसे डेयरी उत्पादों को कम कर दें या पूरी तरह छोड़ दें।

चॉकलेट खाना बंद करें

चॉकलेट हमारी गो टू स्वीट है, लेकिन यह आपके लिए चिंता का कारण हो सकता है। क्योंकि बहुत अधिक चॉकलेट खाने से मुंहासों का खतरा बढ़ जाता है। ऐसा इसलिए कि चॉकलेट कोको, दूध और चीनी से भरी हुई होती है। जो आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली में हस्तक्षेप कर सकती है। जो पिंपल्स का कारण बन सकती है।

उच्च ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले खाद्य पदार्थ

कार्बोहाइड्रेट सहित जीआई में उच्च खाद्य पदार्थ, रक्त शर्करा के स्तर को तेजी से बढ़ाते हैं। जो सूजन को बढ़ाता है। यह त्वचा को अधिक तेल का उत्पादन करने और छिद्रों को बंद करने का कारण बनता है। इसलिए उच्च ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले खाद्य पदार्थ का सेवन नहीं करना चाहिए।

ओमेगा-6 फैटी एसिड से भरपूर खाद्य पदार्थ

जिन खाद्य पदार्थों में ओमेगा-6 फैटी एसिड होता है, वे भी मुंहासों से जुड़े होते हैं। बड़ी मात्रा में ओमेगा-6 फैटी एसिड युक्त आहार सूजन और मुंहासों में बढ़ोत्तरी करती है।

प्रोटीन पाउडर

प्रोटीन पाउडर एक लोकप्रिय डाइट सेप्लीमेंट है। इसका अधिक प्रयोग से मुंहासों को बढ़ाने में हो सकता है। प्रोटीन पाउडर अमीनो एसिड ल्यूसीन ग्लूटामाइन के समृद्ध स्रोत है। ये अमीनो एसिड त्वचा की कोशिकाओं को विकसित करते हैं और मुंहासों का कारण बनते हैं।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.