अनिश्चितकाल हड़ताल पर गए परसुडीह मंडी के मजदूर, जमशेदपुर में हो सकती की खाद्यान्न की किल्लत

परसुडीह कृषि बाजार उत्पादन समिति के मजदूर माल ढुलाई की दर बढ़ाने की मांग को लेकर शुक्रवार से अनिश्चितकाल हड़ताल पर चले गए हैं। मजदूरों के हड़ताल पर जाने से मंडी में लोडिंग-अनलोडिंग का कार्य पूरी तरह से ठप पड़ गया है।

Rakesh RanjanFri, 23 Jul 2021 05:12 PM (IST)
मजदूरी दर बढ़ाने की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन करते परसुडीह मंडी के मजदूर।

जासं, जमशेदपुर। परसुडीह कृषि बाजार उत्पादन समिति के मजदूर माल ढुलाई की दर बढ़ाने की मांग को लेकर शुक्रवार से अनिश्चितकाल हड़ताल पर चले गए हैं। मजदूरों के हड़ताल पर जाने से मंडी में लोडिंग-अनलोडिंग का कार्य पूरी तरह से ठप पड़ गया है। अगर मजदूर लंबी अवधि के लिए हड़ताल पर रहते हैं तो शहर में खाद्यान्न की किल्लत होना लाजिमी है। परसुडीह मंडी में करीब 150 मजदूर हैं जो लोडिंग-अनलोडिंग का कार्य करते हैं।

जो भी मालवाहक ट्रक मंडी में प्रवेश करता है या निकलता है इन मजदूरों के माध्यम से ही लोडिंग-अनलोडिंग का कार्य किया जाता है। एकाएक मजदूरों के हड़ताल पर चले जाने से मंडी का व्यापार पूरी तरह से ठप पड़ गया है। मजदूर दिनेश कुमार वर्मा का कहना है कि महंगाई चरम पर है। पिछले तीन वर्षों से मजदूर कई बार व्यापारियों को दर बढ़ाने की मांग करते आ रहे है मगर आज तक माल ढुलाई की दर नहीं बढ़ायी गयी। ऐसे में थक-हारकर मजदूरों ने हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि जब तक मजदूरी की मांगे पूरी नहीं होती हड़ताल जारी रहेगी। इधर, व्यापार मंडल के उपाध्यक्ष भीमसेन शर्मा ने कहा कि बगैर किसी पूर्व सूचना के मजदूर हड़ताल पर चले गए हैं। कोरोनाकाल होने के कारण व्यापारी बैठक नहीं कर पा रहे हैं। ऐसे में अगर शहर में अनाज की किल्लत होती है तो इसकी पूरी जिम्मेवारी मजदूरों की होगी। वहीं व्यापार मंडल के महासचिव करण ओझा ने कहा कि परसुडीह मंडी से ही शहर में अनाज की आपूर्ति की जाती है। मजदूरों के हड़ताल पर चले जाने से व्यापार पूरी तरह से ठप हो गया है। दूसरे राज्यों से ट्रक लेकर मंडी पहुंचे ट्रक चालक भी परेशन हैं। व्यापारी फोन पर आपस में संपर्क कर रहे हैं। जल्द ही मामले का समाधान निकाल लिया जाएगा। हड़ताल में शामिल मजदूरों में विक्की यादव, दुर्गा दास, विनोद यादव समेत अन्य शामिल हैं।

मजदूरों की मांगे एक नजर में

25 केजी लोडिंग-अनलोडिंग का रेट

पुरानी दर- नयी दर

1.20 1.50 50 केजी लोडिंग-अनलोडिंग का रेट पुरानी दर - नयी दर 2.00 3.00 100 केजी लोडिंग-अनलोडिंग का रेट पुरानी दर नयी दर 4.00 6.00

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.