Super-30 की तर्ज पर झारखंड के भी छात्र-छात्राएं करेंगे मेडिकल व इंजीनियर की तैयारी

Super-30 वेदांता इंस्टीट्यूट की ओर से हर साल 30 छात्रों को चयनित किया जाएगा। इसमें 15 मेडिकल व 15 इंजीनियरिंग के छात्र शामिल होंगे। उनका तैयारी से लेकर पढ़ाई और खाने का सारा खर्च वेदांता इंस्टीट्यूट उठाएगा। ये रही पूरी जानकारी।

Rakesh RanjanPublish:Sun, 28 Nov 2021 04:54 PM (IST) Updated:Sun, 28 Nov 2021 04:54 PM (IST)
Super-30 की तर्ज पर झारखंड के भी छात्र-छात्राएं करेंगे मेडिकल व इंजीनियर की तैयारी
Super-30 की तर्ज पर झारखंड के भी छात्र-छात्राएं करेंगे मेडिकल व इंजीनियर की तैयारी

जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : सुपर-30 का नाम आपने सुना होगा। इसके माध्यम से वैसे छात्रों को मौका मिलता है जिसमें प्रतिभा होती है। इसमें गरीबी मायने नहीं रखती बल्कि गरीब छात्र अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाते हैं। जी हां, अब सुपर-30 की तर्ज पर ही जमशेदपुर के भी गरीब छात्रों के भविष्य संवर सकेगा। रविवार को सुपर-30 के संस्थापक आनंद कुमार ने साकची महल प्लाजा स्थित वेदांता इंस्टीट्यूट का उद्घाटन किया।

इस मौके पर आनंद कुमार ने कहा कि यह अच्छी बात है कि जमशेदपुर में गरीब छात्रों के लिए यह प्रयास शुरू हुआ है। झारखंड में प्रतिभा की कमी नहीं है, बस उसे उचित मंच मिलना चाहिए। वेदांता इंस्टीट्यूट की ओर से हर साल 30 छात्रों को चयनित किया जाएगा। इसमें 15 मेडिकल व 15 इंजीनियरिंग के छात्र शामिल होंगे। उनका तैयारी से लेकर पढ़ाई और खाने का सारा खर्च वेदांता इंस्टीट्यूट उठाएगा। वहीं, वेदांता इंस्टीट्यूट के धीरज विशाल ने बताया कि इंस्टीट्यूट की ओर से एक टैलेंट हंट एग्जाम का भी आयोजन किया जा रहा है, जिसमें क्लास सात से 12 तक के छात्र भाग ले सकते हैं। इस टैलेंट हंट में छात्रों को एक लाख रुपये तक के कैश अवार्ड व 100 प्रतिशत तक छात्रवृति सहभागिता का प्रमाणपत्र जीतने का सुनहरा मौका है। यह परीक्षा 18 से 26 दिसंबर तक ऑनलाइन व ऑफलाइन लिया जाएगा। इसमें भाग लेने के लिए वेदांता के वेबसाइट पर जाकर पंजीकरण कराना होगा। संवाददाता सम्मेलन में अश्विनी कुमार केशरी व रविशेक कुमार भी मौजूद थे।