Natural Gift Oxygen : डीएफओ ने लगाए आम व महोगनी के पौधे, कहा- दैनिक जागरण का अभियान सराहनीय

दैनिक जागरण के ऑक्सीजन है वरदान अभियान के तहत मंगलवार को दलमा वन्य प्राणी आश्रयणी के मानगो रेंज कार्यालय परिसर में पौधरोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर दलमा के डीएफओ डा. अभिषेक कुमार व एसीएफ आरपी सिंह उपस्थित थे।

Rakesh RanjanTue, 15 Jun 2021 05:51 PM (IST)
दैनिक जागरण के अभियान के तहत पौधरोपण करते दलमा के डीएफओ डॉ अभिषेक कुमार एवं एसीएफ आरपी सिंह।

जमशेदपुर, जासं। दैनिक जागरण के ऑक्सीजन है वरदानअभियान के तहत मंगलवार को दलमा वन्य प्राणी आश्रयणी के मानगो रेंज कार्यालय परिसर में पौधरोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर दलमा के डीएफओ डा. अभिषेक कुमार व एसीएफ आरपी सिंह उपस्थित थे।

कार्यक्रम के दौरान डीएफओ व एसीएफ ने महोगनी व आम का पौधा लगाया। इस अवसर पर डीएफओ डा. अभिषेक कुमार ने कहा कि दैनिक जागरण द्वारा ऑक्सीजन है वरदान के तहत पौधरोपण का जो कार्यक्रम चलाया जा रहा है  सराहनीय और दूसरों के लिए अनुकरणीय है। डा. अभिषेक ने बताया कि आज के समय पौधारोपण काफी आवश्यक है। इसका जीता-जाता उदाहरण है जब कोराेना महामारी चरम पर थी तो देश में ऑक्सीजन की कमी के कारण आम जनता से लेकर सरकार को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। इस अवसर पर एसीएफ आरपी सिंह ने कहा कि जागरण के पौधारोपण अभियान से लोगों को सीखना चाहिए और बढ़चढ़ कर इस तरह के कार्यक्रम में भाग लेना चाहिए। इस अवसर पर रविंद्र कुमार, रीना कुमारी के अलावा फारेस्ट गार्ड उपस्थित थे।

लगाए गए पौधे व उसकी उपयोगिता

महोगनी के पौधे- महोगनी के पेड़ बड़े और हरे-भरे होते हैं। लंबे समय तक रहने के कारण लंबे समय तक ऑक्सीजन भी देते हैं। इस पेड़ का उपयोग इमारती लकड़ी के लिए किया जाता है। महोगनी बेसकीमती होता है। इसमें औषधीय गुण भी पाए जाते हैं। महोगनी के पत्तों का उपयाेग कैंसर, ब्लड प्रेशर, अस्थमा, सर्दी व मधुमेह जैसे रोगों में इलाज के लिए किया जाता है। यह पौधा पांच साल में एक बार बीज देता है। इसके बीज काफी महंगे होते हैं। एक पेड़ पांच किलो तक बीज देते हैं, जो बाजार में एक हजार रुपये किलो बिकता है।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.