70 से ज्यादा तोरणद्वार लगाए जाएंगे नगर कीर्तन के रास्ते पर

जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : सिखों के प्रथम गुरु गुरुनानक देव जी के प्रकाश देहाड़ा के मौके पर 23 नवंबर को गुरुद्वारा साहिब रामदास भंट्टा से नगर कीर्तन निकलेगा। इसमें इस वर्ष पंच प्यारे के नेतृत्व में पालकी साहिब सबसे आगे-आगे कारपेट केपर चलेगी। इस बार सेंट्रल गुरुद्वारा प्रबंधन कमेटी (सीजीपीसी) के पदाधिकारी हो या अन्य गुरुद्वारा के पदाधिकारी सभी पालकी साहिब के पीछे पीछे ही चलेंगे। उनके पीछे स्कूली छात्र, फिर स्त्री सभा व उनके पीछे फिर संगत चलेगी।

नगर कीर्तन में शामिल होने के लिए स्कूली बच्चों द्वारा बैंड बजाने व गतका टीम में शामिल बच्चों ने गतका (मार्शल आर्ट) का अभ्यास शुरू कर दिया है, ताकि नगर कीर्तन में वे अच्छा प्रदर्शन कर सकें।

कतारबद्ध तरीके से बढ़ेगा नगर कीर्तन : नगर कीर्तन में शामिल छोटे- छोटे स्कूली बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक कतार बद्ध तरीके से गुरवाणी कीर्तन करते हुए आगे बढ़ेंगे। नगर कीर्तन गुरुद्वारा साहिब रामदास भंट्टा से निकलकर होटल अलकोर के पास से गुजरते हुए बिष्टुपुर गुरुद्वारा के समीप से होते हुए बिष्टुपुर लाइट सिग्नल, से जुस्को गोलचक्कर तक पहुंचेगा। फिर नगर कीर्तन वहां से स्ट्रेट माइल रोड होते कीनन स्टेडियम पार करते हुए साकची गोलचक्कर से होते हुए साकची गुरुद्वारा में आकर नगर कीर्तन की समाप्ति होगी।

धर्म प्रचार कमेटी की टीम साफ करेगी सड़क : धर्म प्रचार कमेटी की तीन टीम टीम नगर कीर्तन के दौरान सक्रिय रहेगी। पहली टीम में गतका टीम, दूसरी में प्रचार टीम व तीसरी टीम में सफाई टीम शामिल रहेगी जो नगर कीर्तन गुजरने के बाद सड़क पर गिरे फूल, कप, प्लेट की सफाई करते हुए नजर आएंगे।

ये टीमें होंगी शामिल

धार्मिक स्कूल :18

मिडिल स्कूल: 10

हाई स्कूल : 6

स्त्री सतसंग सभा : 39

कीर्तनी जत्था : 16

गतका टीम : 2

यूनिफार्म में रहेंगे नौजवान सभा व स्त्री सभा : नगर कीर्तन में शामिल नौजवान सभा के सदस्य सफेद पेंट-शर्ट व केशरिया पगड़ी व स्त्री सतसंग सभा की महिलाएं सफेद सलवार सूट व सफेद ओढ़नी में नगर कीर्तन में शामिल होंगे। ट्राफिक कंट्रोल की सेवा भी नौजवान सभा के सदस्य ही करेगे।

कल तक जमा कराना होगा फोटो : नगर कीर्तन में सेवा करने वाले सिख नौजवान सभा के सदस्यों को 19 नंबर तक अपनी फोटो सीजीपीसी कार्यालय में जमा करानी होगी। जिससे सीजीपीसी द्वारा पास बनाकर नौजवान सभा के सदस्यों व पदाधिकारियों को दिया जाएगा।

50 से ज्यादा शिविर लगाए जाएंगे रास्ते में : गुरुद्वारा साहिब रामदास भंट्टा से साकची गुरुद्वारा के बीच करीब 70 से ज्यादा तोरण द्वार व 50 से ज्यादा शिविर लगाये जाएंगे। इन शिविरों में उपस्थित सदस्यों द्वारा नगर कीर्तन में शामिल बच्चों, बुजुर्गो व शिक्षक शिक्षिकाओं के बीच चाय, काफी, बिस्कुट, फल, आइस्क्रीम, चाकलेट, पानी सहित अन्य खाद्य पदार्थ का वितरण करेंगे।

स्त्री सभा को मिला नंबर : नगर कीर्तन में शामिल होने के लिए कतारबद्ध तरीके से स्त्री सभा को नंबर मिले, जिसमें 1. साकची ए, साकची बी, 2. कदमा, 3. चाईबासा, 4. टुइलाडुंगरी, 5. गोलपहाड़ी, 6. सोनारी, 7. सीतारामडेरा, 8.मुसाबनी, 9. इंद्रानगर,10. मनीफीट, 11.कीताडीह, 12. किरुबुरु, 13. बर्मामाइंस, 14. हरहरगुंट्टू, 15. स्टेशन रोड गुरुद्वारा, 16. बागबेड़ा, 17. बिरसानगर, 18. चक्रधरपुर, 19. बारीडीह, 20. मानगो, 21. टेल्को, 22. बिष्टुपुर, 23. रामदास भंट्टा, 24. टिनप्लेट, 25. गम्हरिया, 26, सीनी, 27. रिफ्यूजी कालोनी, 28 सरजामदा, 29. ह्यूंपपाइप, 30.परसुडीह, 31. घाटशिला, 32. आजादबस्ती, 33, गौरी शकंर रोड जुगसलाई, 34, नामदा बस्ती, 35. आनंद बिहार कालोनी मानगो, 36. सुंदर नगर, 37. प्रकाश नगर, 38.संत कुटिया, 39. शिव सिंह बगान।

'पालकी साहिब के आगे फूलों की वर्षा की जाएगी। नगर कीर्तन में सेवा करने के लिए इस बार नौजवान सभा को पास जारी किया जाएगा, ताकि बेहतर तरीके से वे अपनी सेवा दे सकें ।'

-गुरमुख सिंह मुखे, प्रधान सीजीपीसी

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.