मदर टेरेसा वेलफेयर ट्रस्ट के संचालक समेत अन्य आरोपित मध्यप्रदेश से गिरफ्तार, जमशेदपुर लाए गए

आखिरकार जमशेदपुर के मदर टेरेसा वेलफेयर ट्रस्ट के संचालक समेत अन्य मध्यप्रदेश से गिरफ्तार कर लिए गए। सभी यौन शोषण का मामला सामने आने के बाद फरार चल रहे थे। पुलिस उनकी तलाश में जुटी थी। मामले को लेकर राजनीति भी गरमायी हुइ थी।

Rakesh RanjanWed, 16 Jun 2021 11:54 AM (IST)
नाबालिग से यौन शोषण के आरोपित गिरफ्तार कर लिए गए हैं।

जमशेदपुर, जासं। पूर्वी सिंहभूम जिले के टेल्को स्थित मदर टेरेसा वेलफेयर ट्रस्ट के संचालक हरपाल सिंह थापर, सीडब्ल्यूसी की चेयरपर्सन पुष्पा रानी तिर्की समेत अन्य आरोपितों को जमशेदपुर पुलिस ने मध्यप्रदेश के सिंगरौली से सोमवार को गिरफ्तार कर लिया। सबों को लेकर पुलिस बुधवार सुबह जमशेदपुर पहुंची।

सभी आरोपित एक ही साथ किसी परिचित के यहां ठहरे हुए थे। जमशेदपुर की पुलिस टीम चार दिनों से मध्यप्रदेश में कैंप कर रही थी। आरोपितों पर गिरफ्तारी या आत्मसमर्पण करने को लेकर स्वजनों पर पुलिस का दबाव था। ट्रस्ट में रहनेवाली दो नाबालिगों ने ट्रस्ट के संचालक हरपाल सिंह थापर, सीडब्ल्यूसी के चेयरपर्सन पुष्पा रानी तिर्की, वार्डेन गीता देवी, आदित्य सिंह, टोनी डेविड और एक अन्य के खिलाफ पोक्सो एक्ट के तहत यौन उत्पीड़न की प्राथमिकी दर्ज कराई थी। नाबालिगों का अदालत में 164 के तहत बयान भी दर्ज कराया था। इसके बाद सात जून से सभी आरोपित टेल्को शमशेर टावर से फरार हो गए थे।

मदर टेरेसा वेलफेयर ट्रस्ट के बैंक खाता को बंद करने का आदेश

पूर्वी सिंहभूम जिला के टेल्को मदर टेरेसा वेलफेयर ट्रस्ट पर प्रशासन की सख्ती लगातार जारी है। शेल्टर होम में बच्चियों के संग यौन उत्पीड़न, बालश्रम, प्रताड़ना के आरोपों में नामजद आरोपित हरपाल सिंह थापर, सीडब्ल्यूसी की चेयरपर्सन पुष्पा रानी तिर्की सहित गीता देवी, आदित्य सिंह, टोनी डेविड सहित अन्य की मुश्किलें दिनों दिन बढ़ रही है। इसी कडी में ट्रस्ट के पीएनबी के बैंक खाते को बंद करते हुए सभी प्रकार के लेन-देन पर पर रोक लगाने के आदेश जारी किए गए हैं। पिछले दिनों जमशेदपुर महानगर भाजपा के पूर्व प्रवक्ता अंकित आनंद ने मदर टेरेसा ट्रस्ट के संचालक हरपाल सिंह थापर की एक इंटरनेट मीडिया पोस्ट को साझा करते हुए बैंक एकाउंट को फ्रीज़ व ब्लॉक करने की मांग उठाई थी। जिला उपायुक्त सूरज कुमार ने उप विकास आयुक्त (डीडीसी) ने पंजाब नेशनल बैंक के खड़ंगाझार शाखा प्रबंधक को पत्र लिखकर अविलंब मदर टेरेसा वेलफेयर ट्रस्ट के बैंक खाते को ब्लॉक करने का लिखित निर्देश दिया है। साथ ही सभी प्रकार के ट्रांसेक्शन पर रोक लगाने को कहा है। जांच टीम के सदस्यों ने ट्रस्ट के संचालक और अन्य पर लगे उत्पीड़न के आरोपों और चल रही कार्रवाई का हवाला देते हुए यह आदेश जारी किया है। शाखा प्रबंधक को विगत तीन वर्षों के खाता ट्रांसेक्शन का विवरण भी उपलब्ध कराने को कहा है। प्रशासन बैंक डिटेल्स के सहारे हरपाल सिंह थापर और पुष्पा रानी तिर्की के मददगारों तक पहुंचने को प्रयासरत है।

लग रहे नए-नए आरोप

इधर, ट्रस्ट में यौन उत्पीड़न मामले में प्राथमिकी की कार्रवाई के बाद नामजद आरोपितों पर नए-नए आरोप लग रहे हैं। प्रशासन भी पूरी गंभीरता से सभी आरोपों की जांच करने में जुटी है। उपायुक्त सूरज कुमार और एसएसपी एम तमिल वानन शेल्टर होम में बच्चियों संग घटित घटना को लेकर गंभीर हैं। मामले पर त्वरित संज्ञान लेते हुए जांच के लिए 11 सदस्यीय समिति का गठन किया है जो विभिन्न बिंदुओं पर जांच कर रही है। रविवार को उपायुक्त के आदेश पर जमशेदपुर प्रखंड के अंचल कर्मचारी ट्रस्ट भवन और अतिक्रमण की जांच करने को गए थे।

 

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.