Saraikela News: खरकाई नदी में डूबे मां, बेटी और बेटा, दूसरे दिन बेटा शुभम का शव बरामद

सोमवार की देर शाम सरायकेला-खरसावां जिले के राजनगर थाना क्षेत्र के कुजू स्थित खरकाई नदी में डूबने से मां बेटी और बेटा समेत एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत हो गई। पुलिस ने मंगलवार को तीसरी लाश शुभम यादव(12) की बरामद कर ली।

Rakesh RanjanTue, 03 Aug 2021 04:25 PM (IST)
नदी में मां के साथ डूबे मासूम पंखुड़ी व शुभम की फाइल फोटो।

जागरण संवाददाता, सरायकेला। सोमवार की देर शाम सरायकेला-खरसावां जिले के राजनगर थाना क्षेत्र के कुजू स्थित खरकाई नदी में डूबने से मां, बेटी और बेटा समेत एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत हो गई। पुलिस ने मंगलवार को तीसरी लाश शुभम यादव(12) की बरामद कर ली। स्थानीय लोगों ने घटनास्थल से पांच सौ मीटर दूर मिड़की सीमा पर नदी में तैरता हुआ शुभम का शव को देखा। जिसके बाद नदी से स्थानीय लोगों की मदद से शव को निकाला गया।

सोमवार को रेणु यादव(30) एवं बेटी पंखुड़ी(9) के शव को बरामद किया गया था। पुलिस ने शवों को सरायकेला में पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया। जानकारी के अनुसार चाईबासा ग्वाला पट्टी के रहने वाले बंगाली यादव अपने परिवार के साथ राजनगर के चालियामा स्थित रूंगटा प्लांट के क्वार्टर में रहते थे। बंगाली यादव के जीजा विनोद यादव रूंगटा प्लांट में काम करते हैं। बंगाली यादव भी राजनगर के किसी राइस मील में काम करते हैं। सोमवार की शाम रेणु यादव अपनी बेटी पंखुड़ी, बेटा शुभम और पड़ोस में रहने वाली एक अन्य महिला और उसके छोटे बच्चे के साथ कुजू नदी में रूंगटा कंपनी द्वारा निर्मित ओवरब्रिज पर घूमने गए थे।

नहाने की जिद करने लगे बच्चे

इस दरम्यान शुभम नदी में बने घाट पर उतरकर नहाने के लिए जिद करने लगा। जिसके बाद वह अपने कपड़े उतारकर नदी में नहा रहा था। वहां ज्यादा गहराई थी। जिससे शुभम गहराई में चल गया और डूबने लगा। शुभम को डूबता देख रेणु भी कूद गई। परंतु वह खुद भी डूब गई। मां और भाई को डूबता देख पंखुड़ी भी नदी में कूद गई। जिससे तीनों ही डूब गए। इस दरम्यान पड़ोस की महिला ने उनको बचाने का प्रयास किया। मगर ज्यादा गहराई होने के चलते वह किसी को बचा नहीं पाई। साथ में अपना छोटा बच्चा भी था। जिसके बाद महिला ने जोर जोर से चिल्लाया। तब तक रूंगटा के सुरक्षा गार्ड और अन्य लोग दौड़ कर आये और रेणु एवं उसकी बेटी पंखुड़ी को पानी से निकाल लिया गया। परंतु काफी देर खोजबीन बाद भी शुभम का शव नहीं खोज पाए। पानी से निकालने के बाद एम्बुलेंस से रेणु एवं पंखुड़ी को चाईबासा सदर अस्पताल पहुंचाया गया। जहां दोनों को डाक्टरों ने मृत घोषित किया।

एक हादसे ने बंगाली यादव के परिवार को उजाड़ दिया

मृतका रेणु देवी की फाइल फोटो।

कुजू नदी में हुए दर्दनाक हादसे ने बंगाली यादव के पूरे परिवार को उजाड़ दिया। एक साथ पत्नी और दोनों बच्चों की मौत ने बंगाली को गहरे सदमें में डाल दिया। वह घटना के बाद से गुमशुम है। किसी से ठीक से बातचीत तक नहीं कर पा रहा है। परिवार वालों का रो रो कर बुरा हाल है।

पटना मायके से रेणु के माता पिता पहुंचे, रो रो कर था बुरा हाल

रेणु यादव एवं उसके दोनों बच्चों की मौत की खबर सुनते ही पटना स्थित मायके वालों का रो रो कर बुरा हाल है। मायके से रात में रेणु के माता पिता, चाचा एवं अन्य रिश्तेदार निकले। मंगलवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र राजनागर में अपनी बेटी एवं नाती नतनी के शव को देखकर रेणु के मां बाप एवं रिश्तेदारों का रो रो कर बुरा हाल हो रहा था।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.