Jamshedpur के कलाकारों की मदद कर रहीं Malini Awasthi, भजन गायिका निधि मिश्रा कलाकारों के घर तक पहुंचा रहीं राशन व घरेलू सामान

निधि मिश्रा ने बताया कि मेरे आग्रह पर लोकगायिका मालिनी अवस्थी ने जमशेदपुर के कलाकारों के लिए आर्थिक मदद की जिससे अब तक करीब 14 कलाकारों के घर राशन व दैनिक उपयोग की घरेलू सामग्री पहुंचा चुकी हूं।

Rakesh RanjanFri, 11 Jun 2021 07:50 AM (IST)
लॉकडाउन में सबसे अधिक आफत कलाकारों पर पड़ी है।

जमशेदपुर, जासं। कोरोना की वजह से लगे लॉकडाउन में सबसे अधिक आफत कलाकारों पर पड़ी है। शादी-ब्याह में प्रतिबंध और सार्वजनिक आयोजन बंद होने से करीब डेढ़ वर्ष से कलाकार बेरोजगार बैठे हैं। कई की आर्थिक स्थिति इतनी दयनीय हो गई है कि चूल्हा तक उपवास रह जा रहा है।

इनकी मदद करने ना सरकार आगे आई, ना कोई स्वयंसेवी संस्था बड़ी राहत दे सकी। ऐसे में कलाकार होने के नाते जमशेदपुर निवासी भजन गायिका निधि मिश्रा कलाकारों तक मदद पहुंचा रही हैं। निधि मिश्रा ने बताया कि मेरे आग्रह पर लोकगायिका मालिनी अवस्थी ने जमशेदपुर के कलाकारों के लिए आर्थिक मदद की, जिससे अब तक करीब 14 कलाकारों के घर राशन व दैनिक उपयोग की घरेलू सामग्री पहुंचा चुकी हूं। मेरा लक्ष्य कम से कम 100 कलाकारों तक मदद पहुंचाना है। इसके लिए मैंने सांसद व अभिनेता रविकिशन शुक्ला, कामेडियन सुनील पाल, महाभारत में द्रोणाचार्य बने सुरेंद्र पाल सिंह समेत तमाम बड़े कलाकारों से मदद मांगी है। इन कलाकारों ने मदद का भरोसा भी दिया है। मेरे सम्मान में इन्होंने प्रशस्ति पत्र और वीडियो भेजकर मेरे प्रयास की सराहना की है।

शहर के रंगकर्मियों ने वीडियो बनाकर पीएम-सीएम से मांगा भत्ता

कोरोना की वजह से लगे लॉकडाउन को लगभग डेढ़ वर्ष हो गए हैं। इस बीच पार्क को छोड़कर लगभग सभी काम-धंधे को थोड़ा-बहुत ही सही, कमाने का अवसर मिला। एक थियेटर के कलाकार ही रहे, जिन्हें एक दिन के लिए भी रोजगार करने का अवसर नहीं मिला। शहर के रंगकर्मी रविकांत मिश्रा ने बताया कि उन्होंने कलाकारों की दुर्दशा पर एक वीडियो बनाया है, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से आग्रह किया गया है कि वे हम कलाकारों की सुध लें। हमें हमारा हक दें। यूरोपीय देशों की तरह कलाकारों को बेरोजगारी भत्ता ही दें। कतर-दोहा में करीब 15 वर्ष से रह रहे निर्देशक गौतम सिंह ने इसमें कहा है कि सऊदी अरब सहित यूरोप के सभी देश अपने कलाकारों को बेरोजगारी भत्ता देते हैं। क्या यह व्यवस्था भारत में नहीं हो सकती। आखिर हर राष्ट्रीय-राजकीय पर्व त्योहार पर कलाकार ही उस राज्य व देश की छवि दुनिया के सामने प्रस्तुत करते हैं।

इन्होंने भी दी आवाज

कोलकाता में रह रहे शहर के रंगकर्मी, अभिनेता व पत्रकार गौतम शंकर दास, डी. तारकेश्वर राव, फिल्म ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट पुणे के शिक्षक सुदीप्तो आचार्य, एक्टर संदीप जायसवाल व मशहूर पेंटर मनोहर जोशी ने भी इस वीडियो में सरकार के नुमाइंदों से यह आवाज दी है कि आप जिन कलाकारों की बदौलत अपनी सरकार की छवि दूसरों के सामने रखते हैं, उनकी ओर एक बार देख लें। जरा सोचें कि ये अपना और अपने परिवार का गुजारा कैसे कर रहे हैं। कलाकार क्रिएटिव होते हैं, वे चोर-डकैत, भिखारी की भूमिका निभा सकते हैं, लेकिन असल जिंदगी में यह काम नहीं कर सकते। आज भी कलाकार सरकार से अपना हक मांग रहे हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.