लुवाबासा जलापूर्ति योजना का काम शुरू होने की उम्‍मीद, छह माह से बंद है काम Jamshedpur News

लुवाबासा जलापूर्ति योजना के लिए जमीन का निरीक्षण करते पीएचडी एवं वन विभाग के पदाधिकारी। जागरण

Water Supply Project. जमीन के बदले पीएचइडी को वन विभाग की शर्त को पूरा करना होगा। सात करोड़ की लागत से बनने वाले लुआबासा जलापूर्ति योजना पूरी हो जाने से पांच गांवों के हजारों लोगों के घरों तक पेयजल की आपूर्ति हो सकेगी।

Publish Date:Fri, 15 Jan 2021 04:53 PM (IST) Author: Rakesh Ranjan

जमशेदपुर, जासं।  पेयजल एवं स्वच्छता विभाग जमशेदपुर द्वारा लुआबासा में लगभग सात करोड़ की लागत वाली  लुआबासा जलापूर्ति योजना का काम जुलाई 2020 में वन विभाग द्वारा काम बंद करा दिया गया था। वन विभाग का दावा था कि जलापूर्ति योजना के तहत बनाए जा रहे फिल्टर प्लांट व पाइप लाइन का काम वन विभाग की जमीन पर हो रहा है। इसलिए जब तक विधिवत वन विभाग से एनओसी नहीं ले लेता है तब तक काम करने नहीं दिया जाएगा।

इसके बाद पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के कार्यपालक अभियंता ने डीएफओ को पत्र लिखकर जमीन का संयुक्त रूप से निरीक्षण कर अनुमति प्रदान करने को पत्र लिखा था। पीएचइडी के पत्र के आलोक में शुक्रवार को पीएचइडी के एसडीओ अनुज कुमार सिन्हा, मानगो के रेंजर रामबाबू कुमार, फारेस्टर विनय कुमार, संवेदक आदि मौके पर जाकर जगह को देखा। इसके बाद वन विभाग ने जलापूर्ति योजना के जमीन देने पर सहमति प्रदान की। हालांकि इसमें रेंजर अपना रिपोर्ट बनाकर डीएफओ को सौंपेंगे। इसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। यही नहीं जमीन के बदले पीएचइडी को वन विभाग की शर्त को पूरा करना होगा। सात करोड़ की लागत से बनने वाले लुआबासा जलापूर्ति योजना पूरी हो जाने से पांच गांवों के हजारों लोगों के घरों तक पेयजल की आपूर्ति हो सकेगी। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.