सुहागिनों के हाथों में रचने लगी मेहंदी, सजना के लिए सोलह श्रृंगार की होने लगी तैयारी

करवा चौथ का पर्व बुधवार को मनाया जाएगा लेकिन इसकी तैयारी शुरू हो गई है। मेहंदी लगाने का सिलसिला तो सोमवार से ही शुरू हो गया है। फल-फूल से लेकर करवा और पूजन सामग्री का इंतजाम भी घर में शुरू हो गया है। इसके साथ ही पति व सास-ससुर से मिलने वाले उपहार को लेकर भी व्रती महिलाएं उत्साहित हैं।

JagranMon, 02 Nov 2020 09:13 PM (IST)
सुहागिनों के हाथों में रचने लगी मेहंदी, सजना के लिए सोलह श्रृंगार की होने लगी तैयारी

जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : करवा चौथ का पर्व बुधवार को मनाया जाएगा, लेकिन इसकी तैयारी शुरू हो गई है। मेहंदी लगाने का सिलसिला तो सोमवार से ही शुरू हो गया है। फल-फूल से लेकर करवा और पूजन सामग्री का इंतजाम भी घर में शुरू हो गया है। इसके साथ ही पति व सास-ससुर से मिलने वाले उपहार को लेकर भी व्रती महिलाएं उत्साहित हैं। परिवार के सदस्यों में उल्लास है। लौहनगरी में हालांकि इस पर्व को मनाने वाले अपेक्षाकृत कम हैं, लेकिन शहर के बाजार में इसकी रौनक रविवार से ही दिख रही है। पूजन सामग्री की दुकानों में भी करवा समेत अन्य सामग्री के साथ व्रत की कथा वाली पुस्तक उपलब्ध हो गई है। जिनके यहां व्रत होने वाला है, उनके पड़ोसी भी पकवान-व्यंजन का इंतजार कर रहे हैं।

-----

फोटो : 02 जेएमएल 3

मैं शादी के बाद पहली बार करवा चौथ कर रही हूं इसलिए मायका आकर निर्जला व्रत करूंगी। पहली बार है, इसलिए उजमन (व्रत का आदर करते हुए हर वर्ष करना) के रूप में विशेष करवा चौथ है। इसके लिए मम्मी कुसुम अग्रवाल ने काफी तैयारी की है। करवा चौथ के लिए मैंने मेहंदी लगाई है। शाम को चंद्रमा को अ‌र्घ्य देकर पति आशीष मोहनका को देखकर पूजा करूंगी, इसलिए मेरे पति भी करवा चौथ को लेकर काफी उत्साहित हैं।

-विशाखा अग्रवाल, बिष्टुपुर

-----

फोटो : 2 जेएमएल 12

करवा चौथ का यह मेरा दूसरा साल है। पति की लंबी उम्र के लिए यह व्रत किया जाता है। मैं करवा चौथ को लेकर काफी उत्साहित हूं। सास मां कुलविदर कौर पिछले साल सुबह चार बजे उठकर ही मेरे लिए सेवई और पांच किस्म का फल रख दिया था, जिसे सूरज निकलने से पहले मैंने ग्रहण करके निर्जला व्रत रखा था। व्रत के दौरान हम पंजाबी परिवार की महिलाएं सामूहिक रूप से कथा सुनकर पूजा की थाली घुमाती हैं। यह आकर्षक होता है।

-नीलम सरपाल, साकची

---

सास मां के कहने पर शुरू की करवा चौथ

हमारे ससुराल रायबरेली में हैं, जहां करवा चौथ का प्रचलन है। वहां सासु मां करवा चौथ करती थीं। शादी के बाद पहली बार उन्हीं के कहने पर करवा चौथ शुरू किया था। हमारे यहां बिहार (बक्सर) में करवा चौथ नहीं होता है। लेकिन ससुराल को देखकर पिछले 24 साल से करवा चौथ कर रही हूं। इस बार 25वां साल है। मैं अपने पति सुरेंद्र सिंह के साथ गोविदपुर में रहती हूं। इस बार करवा चौथ को लेकर काफी उत्साहित हूं।

---

पहली बार करूंगी करवा व्रत

फोटो : 2 जेएमएल 1

शादी के बाद ये मेरा पहला करवा चौथ है, इसलिए मैं कुछ ज्यादा ही उत्साहित हूं। सासु मां सरिता देवी बताती हैं कि वो कई सालों से श्वसुर जी के लिए करवा चौथ कर रही हैं। इसलिए मैंने भी अपने पति रूपेश के लिए करवा चौथ करने का निर्णय लिया है। इसके लिए मैंने कई दिनों पहले ही सासु मां को निर्जला व्रत करने की बात कह दी है। करवा चौथ के लिए सासु मां मुझे सरगी देने वाली हैं। सरगी में क्या-क्या सामान और गिफ्ट मिलेंगे।

-मयूरी साहू, टुइलाडुंगरी

--

पहली बार करवा चौथ करूंगी

- फोटो 02जेएमएल 5 मैं पहली बार करवा चौथ करूंगी, इसलिए इसके सारे रीति रिवाज व विधि-विधान के साथ बहुत ही खुशी से करने जा रही हूं। मैं अपनी सासु मां से इसकी रीतिरिवाज के बारे में जानकारी ले रही हूं, ताकि अपने पति हनी परिहार की लंबी आयु के लिए ईश्वर से प्रार्थना विधि से कर सकूं। करवा चौथ सुहागिनों के लिए अखंड सौभाग्य देने वाला होता है। करवा चौथ के दिन मां पार्वती, भगवान शिव कार्तिकेय, गणेश समेत शिव परिवार की पूजा किया जाता है।

-- किरण परिहार, गोलमुरी -------- - फोटो 02जेएमएल 8

मैं 25 साल से करवा चौथ कर रही हूं। सालभर इस त्यौहार का इंतजार करती रहती हूं। मैं करवा चौथ के लिए नए कपड़े और श्रृंगार का सामान खरीद चूकी हूं। करवा चौथ का व्रत पति की लंबी आयु व खुशहाली के लिए मनाया जाता है। जब से मैं करवा चौथ का व्रत कर रही हूं। मेरे घर में पति के साथ खुशहाली की जिदगी जी रहे हैं। पूरा परिवार व्रत के दिन पूजा की तैयारी में लगा रहता है। मैं तो निर्जला उपवास रहती हूं।

- ममता अग्रवाल, आदित्यपुर

------ - फोटो 02जेएमएल 9- काजल सहाय मैं 13 साल से करवा चौथ का व्रत करती आ रही हूं। मुझे इस व्रत का इंतजार रहता है, क्योंकि यह सुहागिनों का त्योहार है। इस व्रत की तैयारी में कर चुकी हूं, बस अब बेसब्री से उस दिन का इंतजार कर रही हूं। मैं मेंहदी लगवाउंगी, पूजा करने के लिए आकर्षक चलनी, थाली, लोट व गिलास मंगाई हूं, ताकि व्रत के दिन इसका उपयोग कर सकूं। मैं अपने पति की लंबी उम्र व अखंड सौभाग्य प्राप्ति के लिए व्रत करती हूं।

-----

29 साल से कर रही हूं करवा चौथ

फोटो :: 2जेएमएल 7

इस बार करवा चौथ थोड़ा अलग होगा। शाम को पूजा के दौरान शारीरिक दूरी का ख्याल रखना होगा। मास्क भी पहनना होगा। जीवन में ऐसा पहली बार होगा, जब इस तरह का बदलाव देखने को मिलेगा। 29 साल से मैं करवा चौथ कर रही हूं। करवा चौथ मेरा आत्मविश्वास बढ़ा रहा है। इस साल भी मैं करवा चौथ करूंगी। मैं अभी लखनऊ आई हूं। पति डा. अजय गुप्ता जमशेदपुर में ही हैं। डा. अजय गुप्ता टाटा मुख्य अस्पताल (टीएमएच) में ईएनटी रोग विशेषज्ञ हैं। वे सोनारी में रहते हैं।

- डा. नीना गुप्ता, आयुर्वेद रोग विशेषज्ञ सह सोनारी निवासी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.