Kadma, Jamshedpur Brutal Murder : पत्नी, दो बच्चों और शिक्षिका की हत्या करने वाला दीपक धनबाद के हीरापुर से गिरफ्तार

हत्या के चार दिन बाद आरोपित की गिरफ्तारी से पुलिस ने राहत की सांस ली है।

Kadma Jamshedpur Brutal Murder Case. कदमा तीस्ता रोड क्वार्टर में पत्नी वीणा देवी दो पुत्रियों और शिक्षिका रिंकी घोष की हत्या करने के आरोपित दीपक कुमार को धनबाद की पुलिस ने हीरापुर से गिरफ्तार कर लिया। उससे पुलिस की पूछताछ जारी है।

Rakesh RanjanFri, 16 Apr 2021 06:03 PM (IST)

जमशेदपुर, जासं। Kadma, Jamshedpur Brutal Murder Case जमशेदपुर के कदमा तीस्ता रोड क्वार्टर में पत्नी वीणा देवी, दो पुत्रियों और शिक्षिका रिंकी घोष की हत्या करने के आरोपित दीपक कुमार को धनबाद की पुलिस ने हीरापुर से गिरफ्तार कर लिया। उससे पुलिस की पूछताछ जारी है। वहीं गिरफ्तारी की जानकारी के बाद जमशेदपुर पुलिस टीम धनबाद के लिए रवाना हो गई है।

हत्या के चार दिन बाद आरोपित की गिरफ्तारी से पुलिस ने राहत की सांस ली है। कैसे और किस परिस्थिति मेें गिरफ्तार किया गया, इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है। 12 अप्रैल को टाटा स्टील के कर्मचारी दीपक कुमार ने अपने परिवार समेत शिक्षिका की हत्या कर दी थी। इसके बाद अपने दोस्त रौशन कुमार और उसके साले अंकित पर जानलेवा हमला कर भाग निकला था। कदमा थाना मेंं हत्या की प्राथमिकी वीणा देवी के भाई आनंद कुमार की शिकायत पर दर्ज की गई है।

गहने बेचकर जमा किए थे साढे तीन लाख रुपये

दीपक कुमार ने रविवार मध्य रात अपनी पत्नी और दो पुत्रियों पर सोते समय हथौड़ी से सिर पर प्रहार कर दिया था। इसके बाद बारी-बारी से तकिया से मुंह दबाकर सभी की हत्या कर दी थी। हत्या के बाद अपने कदमा शास्त्रीनगर रोड नंबर एक स्थित अपनी ससुराल गया। वहां से पत्नी का सारा गहना लेकर कदमा बाजार गया। वहां आरके ज्वेलर्स को गहने की बिक्री साढ़े चार लाख रुपये में कर दी। तीन लाख रुपये लिए और बाकी डेढ़ लाख रुपये अपने परिचित के खाते में डाल देने को कहते हुए वापस अपने क्वार्टर में आ गया। 12 अप्रैल की सुबह 11 बजे जब ट्यूशन शिक्षिका रिंकी घोष उसके घर पहुंची तो उसके साथ दुष्कर्म किया। इसके बाद उसकी भी हत्या पत्नी और पुत्रियों की तरह कर दी थी।

हत्या का कारण बहुत नजदीकी मामला, पुष्टि के बाद ही मुंह खोलना चाहती पुलिस

जघन्य हत्या के मामले में वरीय पुलिस अधिकारियों ने स्पष्ट किया कि आरोपित से मिली जानकारी की सत्यता की पुष्टि की जा रही है। बयान का मिलान किया जाएगा इसके बाद ही पुलिस मामले में शनिवार को जानकारी देगी। हत्या का मामला बहुत नजदीकी मामला है इस कारण मामले में कुछ भी बोलना जल्दीबाजी होगी। एसएसपी एम तमिल वानन ने बताया आरोपित काफी शातिर है। अभी वह बहुत कुछ बोलेगा, लेकिन भी बातों पर यकीन नहीं किया जा सकता। बल्कि उसकी बातों की पुष्टि भी जरूरी है। धनबाद में लिखा-पढ़ी की कार्रवाई पुलिस ने कर ली है।

धनबाद से अपने भाई की खाते में रुपये भेजा था दीपक ने, खुदकुशी करने के प्रयास में था

इधर, आरोपित के पास से पुलिस ने एक लाख नौ हजार रुपये और एक बैग बरामद किए हैं। डेढ़ लाख रुपये उसने खाते में जमा कराए थे। बैंक जब वह गया था। उसने टोपी पहन रखी थी इस कारण उसकी पहचान उस समय नहीं हो पाई थी। दोबारा कुछ समय बाद जब वह बैंक आया तो उसकी तस्वीर देख बैंक मैनेजर दिनेश सिंह ने पहचान की। दीपक ने पुलिस को बताया विलासपुर में रहने वाले अपने भाई मृत्युजंय कुमार की खाते में रुपये भेजा था। जैसा कि कदमा थाना की पुलिस को भी पूछताछ में दीपक के भाई ने बताया था उसने अपने भाई से आर्थिक मदद मांगी थी। भाई ने मदद का आश्वासन भी दिया था। हत्या की घटना के एक दिन पहले 11 अप्रैल को भाई, भामी समेत सभी से बातचीत हुई थी। वहीं दीपक पुलिस वालों से यह भी कहता रहा कि वह जिंदा नहीं रहना चाहता। नहीं पकड़ा जाता तो वह खुदकुशी कर लेता।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.