दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

जमशेदपुर के जुगसलाई में होटल मालिक की हत्या का मामला, पूर्व जिला पार्षद उपाध्यक्ष के पति के हथियारों के लाइसेंस रद्द कराने की तैयारी में लगी पुलिस

जमशेदपुर के जुगसलाई में होटल मालिक की हत्या का मामला

Jamshedpur Crime जमशेदपुर के होटल मालिक वीरेंद्र विक्रम सिंह की हत्या मामले में पुलिस ने विभागीय कार्रवाई शुरु कर दी है। पूर्व जिला परिषद के उपाध्यक्ष अनिता देवी के पति के लाइसेंसी हथियारों के लाइसेंस रद्द पुलिस कराएगी।

Jitendra SinghSat, 08 May 2021 03:46 PM (IST)

जमशेदपुर, जागरण संवाददाता : शहर के जुगसलाई थाना क्षेत्र स्टेशन रोड में होटल एबी पैलेस परिसर में दो मई को होटल मालिक वीरेंद्र विक्रम सिंह की हत्या मामले में पुलिस ने विभागीय कार्रवाई शुरु कर दी है। पूर्व जिला परिषद के उपाध्यक्ष अनिता देवी के पति के लाइसेंसी हथियारों के लाइसेंस रद्द पुलिस कराएंगी। इसकी रिपोर्ट तैयार करने का आदेश एसएसपी एम तमिल वानन ने जुगसलाई थाना की पुलिस को दी है। होटल मालिक की हत्या मामले में टुनटुन सिंह को पुलिस ने छह मई को मानगो के डिमना चौक से गिरफ्तार किया था।

टुनटुन सिंह के घर से कई हथियार बरामद

एसएसपी ने बतााया लाइसेंसी हथियार आत्मरक्षा के लिए दिए जाते है ना कि किसी की हत्या के लिए के लिए। इस मामले में पुलिस हथियार का लाइसेंस रद्द कराने की कार्रवाई कर रही है। घर से जो दो हथियार बरामद किए गए है इनमें एक का लाइसेंस है और दूसरे 12 बोर वाले हथियार के लाइसेंस नहीं दिखाएं गए। घर में अवैध रूप से कारतूस भी रखे गए।

टुनटुन सिंह के खिलाफ हत्या की प्राथमिकी

इस मामले में परसुडीह थाना में टुनटुन सिंह के खिलाफ आर्म्स एक्ट की प्राथमिकी की कार्रवाई की गई है। एसएसपी ने बताया वीरेंद्र विक्रम सिंह की हत्या का मामला पांच लाख रुपये के लेन-देन के विवाद से जुड़े हुए है। वीरेंद्र विक्रम सिंह की हत्या मामले में अमर प्रताप सिंह की शिकायत पर ओम नरायण सिंह उर्फ टुनटुन सिंह, उसके पुत्र अभिषेक सिंह, समधी राजकुमार सिंह, शत्रुघन सिंह, उसकी पत्नी सुनीता सिंह और पुत्र आकाश सिंह के खिलाफ आपराधिक षडयंत्र के तहत गोली मारकर हत्या किए जाने की प्राथमिकी दर्ज की गई है।

होटल एबी पैलेस के पीछे मकान की छत पर मिला खोखा

होटल मालिक वीरेंद्र विक्रम सिंह की हत्या मामले में पिस्तौल के कारतूस का खोखा पुलिस के हाथ नहीं लगा था। पुलिस तलाश कर रही थी। हत्या के पांच दिन बाद सात मई की शाम को होटल के पीछे रहने वाले इंद्रजीत सिंह सचदेवा के छत पर खोखा मिला जिसकी सूचना पर पुलिस वहां पहुंची। खोखा को जब्त कर साथ ले गई। इससे साफ हो गया कि घटना के बाद साक्ष्य समाप्त करने को खोखा को उठाकर खिड़की से बहर फेंक दिया गया था। घटनास्थल से और भी सामान हटा दिए गए थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.