Jharkhand Para Teacher Agitation : हेमंत सोरेन सरकार को वादा याद दिला रहे पारा शिक्षक, विधायकों के आवास का घेराव

आवास के समक्ष धरने पर बैठे पारा शिक्षकों को संबोधित करते चाकुलिया के विधायक समीर महंती।

Jharkhand Para Teacher Agitation. चुनावी वादा भूल गए हेमंत सोरेन को वादे की याद दिलाने के लिए पारा शिक्षक आंदोलन की राह पर हैं। वे विधायक के आवास का घेराव कर रहे हैं। पारा शिक्षक कह रहे हैं कि हेमंत सरकार किया गया स्‍थायी करने का वादा पूरा करे।

Publish Date:Sun, 17 Jan 2021 04:24 PM (IST) Author: Rakesh Ranjan

जमशेदपुर/चाकुलिया, जेएनएन।  झारखंड की हेमंत सरकार द्वारा किया गया चुनावी वादा पूरा नहीं करने से नाराज पारा शिक्षकों ने अपने राज्य स्तरीय कार्यक्रम के तहत रविवार को विधायकों के आवास का घेराव किया। इसी क्रम में चाकुलिया के  विधायक समीर महंती के  चाकुल‍िया  और पटमदा के विधायक मंगल कालिंदी के आवास का घेराव किया। 

पटमदा के प्रदर्शन में बोड़ाम व पटमदा तथा चाकुलिया के प्रदर्शन में चाकुलिया, बहरागोड़ा व गुड़ाबांधा के पारा शिक्षक शामिल थे। यह प्रदर्शन दोनों जगह दो घंटे का रहा। इस दौरान पारा शिक्षकों ने चुनाव के दौरान किए गए वादों को झामुमो विधायकों को याद कराया। प्रदर्शन के अंत में ज्ञापन विधायकों को सौंपा गया। बहरागोड़ा विधानसभा क्षेत्र के तीनों प्रखंडों से बड़ी संख्या में पारा शिक्षक दिन के करीब 11 बजे डाक बंगला परिसर में जुटे। यहां से नारेबाजी करते हुए थाना के समीप स्थित समीर महंती के आवास पहुंचे तथा धरने पर बैठ गए। उन्होंने विधायक के समक्ष अपनी समस्याएं रखीं। 

विधायक ने दिया खाली खजाने का हवाला

समस्याओं से अवगत होने के बाद विधायक ने कहा कि राज्य सरकार के लिए पिछला एक साल काफी मुश्किलों भरा रहा है। एक तो पिछली सरकार ने खजाना खाली कर दिया था, ऊपर से वैश्विक महामारी कोविड-19 का सामना भी हमें करना पड़ा। प्रदेश के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो को भी कोरोना पीड़ित होकर जिंदगी की जंग लड़नी पड़ी। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के नेतृत्व में हमने डटकर प्रतिकूल परिस्थितियों का मुकाबला किया। अब स्थिति में सुधार हो रहा है तो जल्द ही समस्याओं का भी समाधान होगा। विधायक ने कहा कि आपने पहले की सरकारों को 20 साल दिया है। हमारी सरकार पर विश्वास रखें और हमें 20 महीने का समय दें। 12 महीना बीत चुका है। अगले 8 महीने में पारा शिक्षकों को सरकार उनका हक मुहैया कर देगी। इस मसले पर वे मुख्यमंत्री से मिलकर अपनी बात रखेंगे। कार्यक्रम के दौरान पारा शिक्षक संघ की ओर से विधायक को मांगों से संबंधित ज्ञापन भी सौंपा गया। 

 चुनावी वादा पूरा करें सरकार: पारा शिक्षक

पटमदा के झामुमो विधायक मंगल कालिंदी को ज्ञापन सौंपते पारा शिक्षक।

पारा शिक्षक संघ की ओर से जिला सचिव गोविंद गोप ने कहा कि सरकार गठन के साल भर बीत जाने के बावजूद हेमंत सरकार ने अपना चुनावी वादा पूरा नहीं किया है। चुनाव से पूर्व उन्होंने सरकार बनने पर 3 महीने में पारा शिक्षकों के स्थायीकरण एवं वेतनमान लागू करने की बात कही थी। लेकिन अभी तक स्थिति जस की तस है। उन्होंने कहा कि पड़ोसी राज्य ओड‍िशा, पश्चिम बंगाल, छत्तीसगढ़ आदि में पारा शिक्षकों को स्थाई कर दिया गया है। लेकिन झारखंड के पारा शिक्षक बीते 17- 18 साल से स्थाई शिक्षकों की भांति हर काम करते आ रहे हैं। इसके बावजूद हमारी मांगों पर सरकार ध्यान नहीं दे रही है। बहरागोड़ा प्रखंड पारा शिक्षक संघ के अध्यक्ष कल्याण घोष ने कहा कि हम सबने झारखंड में सबसे अधिक मत से समीर महंती को जीता कर विधायक बनाया ताकि वे हमारे लिए आवाज बुलंद करें। इसलिए अब उनका दायित्व बनता है कि हमारी समस्याओं के समाधान के लिए सरकार से बात करें एवं हमारा हक दिलाएं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.