Goa Revolution Day: झारखंड के मंत्री बन्ना गुप्ता जाएंगे गोवा, गोवा मुक्ति सेनानियों के स्मरण में होगा विचार मंथन

Goa Revolution Day गोवा मुक्ति सेनानियों के स्मरण में डॉ. राम मनोहर लोहिया रिसर्च फाउंडेशन नई दिल्ली द्वारा गोवा में 27-28 नवंबर को आयोजित होने वाले दो दिवसीय राष्ट्रीय विचार मंथन में झारखंड के स्वास्थ्य व आपदा प्रबंधन मंत्री बन्ना गुप्ता विशिष्ट अतिथि होंगे।

Rakesh RanjanThu, 25 Nov 2021 03:51 PM (IST)
झारखंड के स्वास्थ्य व आपदा प्रबंधन मंत्री बन्ना गुप्ता। फाइल फोटो

जमशेदपुर, जासं। गोवा क्रांति दिवस की 75वीं व गोवा मुक्ति के 60वें वर्ष के ऐतिहासिक अवसर पर गोवा मुक्ति सेनानियों के स्मरण में डॉ. राम मनोहर लोहिया रिसर्च फाउंडेशन, नई दिल्ली द्वारा गोवा में 27-28 नवंबर को आयोजित होने वाले दो दिवसीय राष्ट्रीय विचार मंथन में झारखंड के स्वास्थ्य व आपदा प्रबंधन मंत्री बन्ना गुप्ता विशिष्ट अतिथि के रूप में आमंत्रित किए गए हैं। इस कार्यक्रम का उद्घाटन गोवा के राज्यपाल पीएस श्रीधरन पिल्लई द्वारा किया जाएगा। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद रावत व प्रतिपक्ष के नेता दिगंबर कामत भी उपस्थित रहेंगे।यह कार्यक्रम गोवा के क्रांति भूमि मडगांव स्थित रवींद्र भवन में होगा।

एक्शन इन गोवा पुस्तक का होगा लोकार्पण

फाउंडेशन के अध्यक्ष अभिषेक रंजन सिंह के माध्यम से जमशेदपुर निवासी कमल किशोर अग्रवाल ने बताया कि इस सम्मेलन में गोवा मुक्ति संघर्ष पर डॉ. राममनोहर लोहिया की 1947 में लिखी पुस्तक "एक्शन इन गोवा" का अंग्रेजी, हिंदी, कोंकणी, मराठी व बांग्ला भाषाओं के संस्करणों का लोकार्पण किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि प्रख्यात समाजवादी विचारक लोहिया द्वारा लिखित यह पुस्तक मूल रूप से अंग्रेजी में है, जिसे 75 वर्ष बाद डॉ. राममनोहर लोहिया रिसर्च फाउंडेशन द्वारा चार भारतीय भाषाओं में अनुदित कर प्रकाशित किया गया है। इसके अलावा डॉ. राममनोहर लोहिया रिसर्च फाउंडेशन द्वारा रेवोल्यूशनरी सोशलिस्ट पार्टी के संस्थापक त्रिदिब चौधरी का जेल संस्मरण मूल रूप से बांग्ला में -"सालाजारेर जेले उन्नीस मास" को भी हिंदी, कोंकणी व अंग्रेजी भाषाओं में अनुदित कर प्रकाशित किया गया है। इसका भी लोकार्पण किया जाएगा।

गोवा मुक्ति वाहिनी के सेनानियों की स्मारिका

इस दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन में गोवा मुक्ति संघर्ष में शामिल रहे सेनानियों को जीवित व मरणोपरांत डॉ. राममनोहर लोहिया स्मृति सम्मान भी प्रदान किए जाएंगे। इस अवसर पर डॉ. राममनोहर लोहिया रिसर्च फाउंडेशन, नई दिल्ली द्वारा एक स्मारिका भी प्रकाशित की गई है़, जिसका विमोचन 28 नवंबर को उद्घाटन सत्र में झारखंड सरकार के स्वास्थ्य एवं आपदा प्रबंधन मंत्री बन्ना गुप्ता द्वारा किया जाएगा।

इन विषयों पर होगी चर्चा

इस दो दिवसीय सम्मेलन में कई विषयों पर चर्चा सत्र आयोजित की जाएगी। इसमें गोवा की मुक्ति में महिलाओं की भूमिका, डॉ. लोहिया और भारतीय भाषाएं, डॉ. लोहिया और नागरिक स्वतंत्रता, गोवा के स्वतंत्रता आंदोलन में ईसाइयों की भूमिका, समाजवादी नेता डॉ. लोहिया की दृष्टि- कल, आज और कल आदि। ज्ञात हो कि डॉ. राममनोहर लोहिया को समाजवाद का आधुनिक प्रवर्तक माना जाता है। उनकी स्मृति में आयोजित राष्ट्रीय स्तर के आयोजन में मंत्री बन्ना गुप्ता को बुलाया जाना झारखंड एवं जमशेदपुरवासियों के लिए गर्व का विषय है़। बन्ना गुप्ता प्रारंभ से ही लोहिया की विचारधारा से प्रभावित रहे हैं एवं अपने उदबोधन में वे अक्सर लोहिया का जिक्र करते हैं।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.