दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

Coronavirus Death Panic : झारखंड के चाकुलिया में 6 घंटे में तीन कोरोना मरीजों की मौत, इलाके में दहशत; सड़क पर पसरा सन्नाटा

झारखंड के चाकुलिया के बिरसा चौक पर पसरा सन्नाटा। जागरण

Coronavirus Death Panic मना करने के बावजूद जो लोग बाहर घूमते नजर आते थे वैसे लोग तीन मौत की खबर सुनने के बाद अपने घरों में सिमट गए हैं। सबसे अधिक दुखद बात यह है कि तीनों ही मौतें 40 से 50 वर्ष आयु वर्ग वाले लोगों की हुई है।

Rakesh RanjanTue, 11 May 2021 01:32 PM (IST)

चाकुलिया (पूर्वी सिंहभूम), पंकज मिश्रा।  झारखंड के चाकुलिया में कोरोना वायरस अब अपना खौफनाक रूप दिखाने लगा है। महज 6 घंटे के भीतर तीन कोरोना पीड़ितों की मौत होने से पूरा इलाका दहल गया है। शहर में चारों तरफ खौफ का आलम है। सड़कों पर सन्नाटा पसरा हुआ है। मना करने के बावजूद जो लोग बाहर घूमते नजर आते थे, वैसे लोग तीन मौत की खबर सुनने के बाद अपने अपने घरों में सिमटने गए हैं।

सबसे अधिक दुखद बात यह है कि तीनों ही मौतें 40 से 50 वर्ष आयु वर्ग वाले लोगों की हुई हैं। बता दें कि सोमवार की मनहूस शाम सबसे पहले शहर के पुराना बाजार निवासी 41 वर्षीय युवा व्यवसायी सह सामाजिक कार्यकर्ता के निधन की सूचना आई। पेशे से दवा दुकानदार यह युवा कोरोना संक्रमित होने के बाद घर पर रहकर अपना इलाज खुद कर रहे थे। 7- 8 दिनों के बाद जब सांस लेने में दिक्कत होने लगी और ऑक्सीजन सैचुरेशन लेवल 50 पहुंच गया, तब आनन-फानन में उन्हें जमशेदपुर के एक नर्सिंग होम ले जाया गया। 2 दिन वहां रहने के बावजूद स्थिति में सुधार नहीं हुआ और हालत बिगड़ती गई। सोमवार शाम आखिरकार उन्हें टीएमएच अस्पताल ले जाया गया, लेकिन वहां भर्ती करने से पूर्व शाम करीब 5 बजे उन्होंने दम तोड़ दिया। मृतक के परिवार में अन्य कई लोग संक्रमित बताए जा रहे हैं जिसमें उनकी मां की हालत फिलहाल गंभीर है। 

3 घंटे बाद आई दूसरी मौत की खबर

अभी एक युवा व्यवसाई की मौत की खबर से पूरा शहर शोक में डूबा हुआ था, तभी एक और मनहूस खबर आ गई। दवा दुकानदार की मौत के 3 घंटे बाद शहर के जुगीपाड़ा निवासी 49 वर्षीय किराना दुकानदार ने झाड़ग्राम में दम तोड़ दिया। उक्त दुकानदार को बीते 8 मई को स्थानीय सीएचसी में जांच के दौरान पॉजिटिव पाया गया था। सांस लेने में दिक्कत होने पर उन्हें स्थानीय आनंदलोक अस्पताल में भर्ती किया गया था। परंतु 2 दिन के भीतर उनकी स्थिति और बिगड़ गई। सोमवार शाम परिवार के लोग उन्हें लेकर एंबुलेंस से पश्चिम बंगाल के झारग्राम पहुंचे। वहां चिकित्सक ने गंभीर स्थिति को देखते हुए तत्काल वेंटिलेटर लगाने को कहा। लेकिन वेंटीलेटर लगाने के क्रम में ही कोरोना पीड़ित की मौत हो गई।

रात 11 बजे आनंदलोक में हुई तीसरी मौत

शाम से रात होते होते 2 जवान मौतों के सदमे से शहर के लोग अभी उभरे नहीं थे कि रात करीब 11 बजे आनंदलोक अस्पताल में भर्ती एक 40 वर्षीय महिला मरीज ने दम तोड़ दिया। शहर के नागानल कॉलोनी निवासी उक्त महिला भी बीते 8 मई को जांच में कोरोना संक्रमित पाई गई थी। उन्हे भी सांस लेने में तकलीफ होने पर आनंदलोक अस्पताल में भर्ती किया गया था। मृत महिला के परिवार के अन्य छह सदस्य भी कोरोना से संक्रमित होकर जिंदगी की जंग लड़ रहे हैं।

गंडानाटा के बुजुर्ग की कोरोना से मौत

कोरोना संक्रमित होकर के शहर के आनंदलोक अस्पताल में इलाजरत बहरागोड़ा प्रखंड के गंडानाटा गांव निवासी 85 वर्षीय बुजुर्ग ने भी मंगलवार सुबह दम तोड़ दिया। उनकी जांच भी पश्चिम बंगाल से आने के क्रम में चाकुलिया चेक नाका पर बीते 8 मई को की गई थी जिसमें पॉजिटिव पाए जाने के बाद आनंदलोक अस्पताल में भर्ती किया गया था। इलाज के दौरान मंगलवार सुबह उन्होंने दम तोड़ दिया।

पीपीई किट पहनकर किया दाह संस्कार

कोरोना संक्रमित होकर मरने वाले लोगों के स्वजनों को प्रशासन की तरफ से पीपीई किट मुहैया किया गया ताकि कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए दाह संस्कार किया जा सके। बीडीओ सह इंसीडेंट कमांडर देवलाल उरांव ने बताया कि कोरोना प्रोटोकॉल के मुताबिक मृतक के शव को सील कर उसे परिजनों को सौंप दिया गया। शव लेने आए चार लोगों को पीपीई किट मुहैया किया गया तथा सभी जरूरी एहतियात बरतने का निर्देश दिया गया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.