झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री के दरबार में जमशेदपुर वर्कर्स कॉलेज के छात्रों ने लगाई हाजिरी, रखी ये मांग

Jamshedpur Workers College जमशेदपुर वर्कर्स कॉलेज छात्र संघ का प्रतिनिधिमंडल जमशेदपुर पश्चिमी विधानसभा के विधायक सह झारखंड सरकार के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता से मुलाकात कर एक पत्र सौंपा गया। इसमें काॅलेज की बेहतरी के मामले उठाए गए हैं।

Rakesh RanjanSun, 11 Jul 2021 05:03 PM (IST)
स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता को ज्ञापन सौंपते वर्कर्स काॅलेज के छात्र।

 जमशेदपुर, जागरण संवाददाता।  जमशेदपुर वर्कर्स कॉलेज छात्र संघ के प्रतिनिधिमंडल ने जमशेदपुर पश्चिमी विधानसभा के विधायक सह झारखंड सरकार के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता से मुलाकात कर एक पत्र सौंपा । पत्र के माध्यम से बताया गया कि जमशेदपुर वर्कर्स कॉलेज आपके विधानसभा क्षेत्र में सरकारी कॉलेज है जहां सुदूर ग्रामीण क्षेत्र के पिछड़े, गरीब, अल्पसंख्यक एवं बहुसंख्यक छात्र-छात्राएं च्च शिक्षा ग्रहण करने आते हैं।

इस महाविद्यालय के उच्च शिक्षा का विकास करने हेतु कॉलेज के वर्तमान छात्र संघ ने कई सुझाव व मांग पत्र मंत्री बन्ना गुप्ता को सौंपा। ज्ञापन में बताया गया कि इस महाविद्यालय में लगभग 10,000 से अधिक विद्यार्थीगण विभिन्न कक्षाओं एवं संकायों में शिक्षा ग्रहण हेतु कॉलेज में आते हैं । महाविद्यालय में इंटरमीडिएट, स्नातक, पीजी, बीसीए एवं एमबीए तक की पढ़ाई सुचारू रूप से होती है । महाविद्यालय को जोड़ने वाली एक मुख्य सड़क है जो पिछले 4 सालों से जर्जर अवस्था में है। इस जर्जर सड़क मार्ग के कारण हमारे यहां पढ़ने आने वाले प्रत्येक छात्रों को काफी कठिनाइयां होती है। बरसात के दिनों में तो जगह-जगह गड्ढे हैं जिसमें पानी भर जाता है। साथ ही यह सड़क मार्ग जो सीधे छोटा पुल से जुड़े होने के कारण इस सड़क पर आवागमन बड़ी संख्या में गाड़ियों का होता रहता है।

ये किया गया आग्रह

कॉलेज का प्रमुख द्वार जर्जर अवस्था में आ गया है ,जो कभी भी किसी भी वक्त गिर सकता है। विद्यार्थियों व राहगीरों के चोटिल होने का खतरा बना हुआ है। कॉलेज स्वर्णरेखा नदी के किनारे पर स्थित है । नदी में जब बाढ़ जैसी स्थिति उत्पन्न होती है तब हमारे महाविद्यालय के भूमि का कटाव शुरू हो जाता है। अतः बांध बनाकर स्थाई चारदीवारी निर्माण करवाने की आवश्यकता है। महाविद्यालय के सौंदर्यीकरण हेतु महाविद्यालय परिसर में पेबर्स ब्लॉक लगवाने की गई।

छात्रों ने मंत्री को बताया, बगल में जमीन खाली है उसे कॉलेज को दे दें

महाविद्यालय में क्लासरूम की कमी, जगह नहीं होने के कारण कई तरह की समस्या उत्पन्न हो रही है । नए कोर्स प्रारंभ नहीं हो पा रहे हैं। छात्रों ने मंत्री को बताया कि कॉलेज के ठीक बगल में एक सरकारी पानी टंकी है, जो पिछले 8 सालों से बंद पड़ा हुआ है । आलम ऐसा हो गया है कि वहां असामाजिक तत्वों का एक अड्डा सा बन गया है। वहां अड्डा बाजी होने के कारण हमारे कॉलेज की छात्राओं को अक्सर काफी परेशानियां होती है। अगर उस सरकारी जमीन को उपयोग में लाने के लिए उसे कॉलेज को आवंटित कर दिया जाता है तो उस जगह का उपयोग कॉलेज नए भवन निर्माण कर उसमें कक्षाएं संचालित कर सकती हैं। मौके पर छात्र संघ के अध्यक्ष सत्यनाथ प्रमाणिक , विश्वविद्यालय प्रतिनिधि सागर ओझा, पूर्व उप सचिव अभिषेक ओझा, विवेक कुमार आदि उपस्थित थे।

मंत्री ने दिया आश्वासन

मंत्री ने वर्कर्स कॉलेज के छात्र संघ प्रतिनिधिमंडल को आश्वस्त किया कि वे उनके विधानसभा क्षेत्र के कॉलेज की मूलभूत सुविधाओं का वे त्वरित रूप से निष्पादन करेंगे तथा कॉलेज के विस्तारीकरण के लिए संबंधित विभाग को पत्र लिखेंगे। मंत्री ने कहा कि जब कॉलेज के बगल में खाली जमीन पड़ा हुआ है तो यह कॉलेज काे मिलनी ही चाहिए। इसके लिए वे अपने स्तर से प्रयास करेंगे। उम्मीद है छह माह के अंदर इसकी प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.