JRD Tata को 117वीं जयंती जयंती पर जमशेदपुर ने किया शिद्दत ये किया याद

टाटा स्टील ने भारत रत्न जेआरडी टाटा की 117वीं जयंती पर कई कार्यक्रमों का आयोजन किया। जेआरडी टाटा स्पोटर्स कॉम्प्लेक्स में 30 फीट की भित्ति चित्र (मुराल) का उद्घाटन किया गया। जेआरडी टाटा के इस विशाल चित्र को स्टोनियाई टेक्नोलॉजी कंपनी ने बनाया है

Rakesh RanjanThu, 29 Jul 2021 06:57 PM (IST)
जेआरडी टाटा ने पांच दशक तक एक टाटा समूह का नेतृत्व किया।

जागरण संवाददाता, जमशेदपुर। टाटा स्टील ने भारत रत्न जेआरडी टाटा की 117वीं जयंती के अवसर पर कई कार्यक्रमों का आयोजन किया। गुरुवार सुबह जेआरडी टाटा स्पोटर्स कॉम्प्लेक्स में 30 फीट की भित्ति चित्र (मुराल) का उद्घाटन किया गया। जेआरडी टाटा के इस विशाल चित्र को स्टोनियाई टेक्नोलॉजी कंपनी ने स्प्रे प्रिंटर द्वारा बनाया है जो एक साथ पांच रंगों की मदद से एक साथ पूरी पेटिंग स्प्रे कर बना सकता है। टाटा स्टील द्वारा रोबोटिक तकनीक से बनवाई गई यह दूसरी भित्ति चित्र है। नवल टाटा हॉकी एकेडमी में पहला भित्ति चित्र नवल टाटा का लगाया गया है। जिसका उद्घाटन टाटा समूह के अंतरिम चेयरमैन रतन टाटा ने दो मार्च वर्ष 2021 को किया था।

जेआरडी टाटा मुराल का अनावरण टाटा स्टील, कॉरपोरेट सर्विसेज के वाइस प्रेसिडेंट चाणक्य चौधरी और टाटा वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष संजीव कुमार चौधरी ने संयुक्त रूप से किया। आपको बता दें कि भारतीय उद्योग जगत में जेआरडी टाटा अग्रणी उद्यमी थे जिन्होंने पांच दशक तक देश के सबसे बड़े औद्योगिक समूह में से एक टाटा समूह का नेतृत्व किया।

खेलों को प्रोत्साहित करने के लिए बना जेआरडी टाटा स्पोटर्स कॉम्प्लेक्स

टाटा भारत में खेल प्रतिभाओं को प्रोत्साहित करने वाला पहला औद्योगिक घराना है। टाटा स्टील ने झारखंड में खेल और खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने के लिए दो मार्च 1991 को जेआरडी टाटा स्पोटर्स कॉम्प्लेक्स का उद्घाटन किया था। टाटा स्टील की प्लेटिनम जुबिली पर जमशेदपुर के नागरिकों के लिए यह उपहार था। 30 एकड़ में फैले स्पोटर्स कॉम्प्लेक्स में आठ लेन सिंथेटिक ट्रैक, स्वीमिंग पूल, बॉक्सिंग सेंटर, बास्केटबॉल कोर्ट, आर्चरी ग्राउंड, हैंडबॉल ग्राउंड, लॉन टेनिस कोर्ट, बॉलीबॉल कोर्ट, टेबल टेनिस हॉल, चेस सेंटर व एडवेंचर स्पोर्टस की सुविधा है। इसके अलावा जेआरडी टाटा स्पोटर्स कॉम्प्लेक्स का अपना जमशेदपुर एफसी के नाम से फुटबॉल क्लब भी है जिसने इंडियन सुपर लीग में भी हिस्सा लिया है और जमशेदपुर एफसी का अपना स्टेडियम भी है।

जेआरडी टाटा की जयंती पर क्लाइंबिंग स्पोटर्स एकेडमी का शुभारंभ

जेआरडी टाटा की जयंती 117वीं जयंती पर जेआरडी टाटा स्पोटर्स कॉम्प्लेक्स में भारत की पहली आवासीय स्पोटर्स क्लाइंबिंग एकेडमी का शुभारंभ किया गया। इस मौके पर चाणक्य चौधरी ने कहा कि टाटा स्टील एडवेंचर फाउंडेशन (टीएसएएफ) द्वारा भारती की पहली आवासीय स्पोटर्स क्लाइंबिंग एकेडमी शुरू किया गया है। इस एकेडमी में प्रतिभा को निखारने के लिए वैश्विक मंच प्रदान किया जाएगा। साथ ही यहां बच्चों को प्रशिक्षण के तहत क्लाइंबिंग की बारिकियों को समझने, परामर्श, आवास, बुनियादी सुविधा व उपकरणों के साथ-साथ अंतराष्ट्रीय स्तर पर प्रदर्शन करने का मौका भी प्रदान करेगी।

वर्चुअल वॉकथॉन का हुआ आयोजन

जयंती के मौके पर टाटा स्टील द्वारा वर्चुअल वॉकथॉन का आयोजन किया गया। इसमें टाटा स्टील के 320 अधिकारियों व कर्मचारियों ने हिस्सा लिया। जयंती के मौके पर टाटा स्टील विमानन विभाग द्वारा एक सत्र का आयोजन का आयोजन किया गया। इसमें जमशेदपुर व कलिंगनगर के 1000 से अधिक छात्र व शिक्षक ऑनलाइन जुड़े। इसके अलावा सेंटर फॉर एक्सिलेंस द्वारा ऑनलाइन क्विज प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया।

जेआरडी की विरासत को आगे बढ़ाने का ले संकल्प : एमडी

टाटा स्टील के सीईओ सह प्रबंध निदेशक टीवी नरेंद्रन ने श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि जेआरडी टाटा ने टाटा समूह की भावना और मूल्यों का प्रतीक बनाया। कई दशक तक उन्होंने टाटा स्टील को आकार दिया। उनका पत्र हमेशा कंपनी और कर्मचारियों के प्रति चिंता और उत्कृष्टता के लिए उनके जुनून को प्रकट करता है। हर साल हम उनका जन्मदिन बनाते हैं लेकिन इस बार हमें संकल्प लेना है कि हम उनकी विरासत को आगे बढ़ाएं।

जेआरडी टाटा से जो सीखा, हमेशा साथ रहा : सुधा मूर्ति

जेआरडी टाटा की जयंती के अवसर पर टाटा स्टील द्वारा विंडो ऑन द वर्ल्ड का आयोजन किया गया। इसमें अपने विचार रखते हुए इंफोसिस फाउंडेशन की चेयरपर्सन सुधा मूर्ति ने कहा कि टेल्को (अब टाटा मोटर्स) में मुझे उनके साथ काम करने का अवसर मिला। मैंने जेआरडी से जो सीखा और टाटा के साथ काम करने के अपने अनुभव से जो अनुभव मिला, हमेशा मेरे साथ रहेगा। सुधा ने बताया कि जेआरडी टाटा काफी उदार थे जो अपने कर्मचारियों, विशेष रूप से महिला कर्मचारियों की देखभाल को ज्यादा महत्व देते थे। जिस तरह से जेआरडी ने अपना जीवन जिया, उन्होंने मुझे एक साधारण जीवन जीने का महत्व दिखाया, चाहे आपकी स्थिति कुछ भी हो। वहीं, टाटा स्टील के पूर्व एमडी डा. जमशेद जे ईरानी ने कहा कि वे मेरे लिए गुरु के समान थे। जेआरडी टाटा के साथ दशकों किए गए काम और कई अनछुए पहलुओं को उन्होंने बताया। कहा कि जेआरडी टाटा दूरदर्शी नेता थे। जिन्होंने कंपनी को नई ऊंचाई तक पहुंचाया। जेआरडी टाटा वर्ष 1938 से 1984 तक टाटा स्टील के चेयरमैन रहे।

स्टील क्लब हाउस में पौधारोपण

जेआरडी टाटा की जयंती पर साकची स्थित स्टील सिटी क्लब हाउस में पौधारोपण किया गया। इस मौके पर टाटा स्टील के वाइस प्रेसिडेंट चाणक्य चौधरी सहित टाटा वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष संजीव चौधरी, महामंत्री सतीश सिंह सहित सभी पदाधिकारियों ने पौधारोपण किया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.