Coronavirus Jamshedpur News: जमशेदपुर में अब दवा का भी संकट गहराया, रेमडेसिवीर इंजेक्शन के लिए भटक रहे मरीज के परिजन

न तो दवा मिल रही और न ही इंजेक्शन व ऑक्सीजन। ऐसे में जान कैसे बचेगी।

Coronavirus Jamshedpur News बेड के बाद अब जमशेदपुर शहर में दवा का संकट गहराने लगा है। शनिवार को नेशनल हाइवे स्थित उमा हॉस्पिटल व टाटा मोटर्स अस्पताल में कई मरीजों की इस दवा की जरूरत पड़ी लेकिन नहीं मिल सकी।

Rakesh RanjanSun, 18 Apr 2021 10:46 AM (IST)

जमशेदपुर, जासं। बेड के बाद अब जमशेदपुर शहर में दवा का संकट गहराने लगा है। शनिवार को नेशनल हाइवे स्थित उमा हॉस्पिटल व टाटा मोटर्स अस्पताल में कई मरीजों की इस दवा की जरूरत पड़ी लेकिन नहीं मिल सकी। इसके बाद मरीज के परिजन पूरे शहर के दवा दुकान में घूम लिए लेकिन कहीं नहीं यह दवा मिली।

एक मरीज की तो मौत हो गई लेकिन उन्हें इंजेक्शन नहीं मिल सकी। दरअसल, उनकी स्थिति गंभीर देखते हुए चिकित्सकों ने उनके परिजन को रेमडेसिवीर इंजेक्शन लाने को कहा। इसके बाद वे एमजीएम सहित अन्य अस्पताल गए लेकिन कहीं नहीं मिला। कई दवा दुकानों का भी चक्कर लगाया लेकिन इंजेक्शन नहीं मिल सकी। शहर की स्थिति भयावह हो चुकी है। न तो दवा मिल रही और न ही इंजेक्शन व ऑक्सीजन। ऐसे में जान कैसे बचेगी।

एमजीएम, टीएमएच, ब्रह्मानंद सहित शहर के दो दर्जन से अधिक डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव

शहर के लिए बुरी खबर है। मरीजों की जान बचाने वाले लगभग दो दर्जन से अधिक चिकित्सक कोरोना संक्रमित हो गए हैं। इसमें महात्मा गांधी मेमोरियल (एमजीएम) मेडिकल कॉलेज अस्पताल, टाटा मुख्य अस्पताल (टीएमएच), ब्रह्मानंद नरायणा अस्पताल सहित कई नर्सिंग होम के चिकित्सक भी संक्रमित हो गए हैं। इनमें कई बड़े डॉक्टर भी शामिल हैं। ऐसे में, इन चिकित्सकों की जल्द से जल्द स्वस्थ होने की दुआ कीजिए, ताकि वे फिर से आपकी सेवा में जुट जाएं। कोरोना जैसे महामारी में इनकी अहम भूमिका है। इधर, शनिवार को एमजीएम के कोविड वार्ड में तैनात एक डॉक्टर सहित तीन कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव हो गए। इसमें लैब टेक्नीशियन व नर्स भी शामिल हैं। इससे अस्पताल में डॉक्टर, नर्स व टेक्नीशियन की कमी हो गई है। किसी तरह जीएनएम की ट्रेनिंग कर रही छात्रों को ड्यूटी पर लगाकर काम चलाया जा रहा है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.