Jamshedpur Education News: वर्षों नहीं, महीनों में दिखेगा को-आपरेटिव कालेज में बदलाव, नए प्राचार्य को भरोसा

जमशेदपुर को-आपरेटिव कालेज के नवनियुक्त प्राचार्य डा. अमर सिंह ।

Jamshedpur Education News जमशेदपुर को-आपरेटिव कालेज के नवनियुक्त प्राचार्य डा. अमर सिंह ने रविवार को वर्चुअल मीट के माध्यम से संस्थान के शिक्षक व शिक्षकेत्तर कर्मचारियों से परिचय कार्यक्रम में अपने अनुभव साझा किए। जानिए क्या जताया भरोसा।

Rakesh RanjanSun, 09 May 2021 09:05 PM (IST)

आदित्यपुर, जासं। जमशेदपुर को-आपरेटिव कालेज के नवनियुक्त प्राचार्य डा. अमर सिंह ने रविवार को वर्चुअल मीट के माध्यम से संस्थान के शिक्षक व शिक्षकेत्तर कर्मचारियों से परिचय कार्यक्रम में अपने अनुभव साझा किए। प्राचार्य ने अपने संबोधन में महाविद्यालय की कई समस्याओं और चुनौतियों पर विस्तार से प्रकाश डाला।

उन्होंने शिक्षकों व शिक्षकेत्तर कर्मियों से आग्रह किया कि सभी लोग आगे आएं, ताकि सबके सहयोग से महाविद्यालय में विकास की झलक व बदलाव वर्षों में नहीं, महीनाें में नजर आने लगे। डा. सिंह ने कहा कि कुलपति व कुलसचिव ने जो उन पर जो भरोसा दिखाया है, वे उस पर खरा उतरने का प्रयास करेंगे। महाविद्यालय के पुस्तकालय को हाइटेक बनाया जाएगा। इसे लेकर लाइब्रेरी कमेटी के साथ निरीक्षण कर इसे आधुनिक, ऑटोमेटेड व संसाधनयुक्त बनाया जाएगा। महाविद्यालय के परिसर एवं उसके संसाधनों की सुरक्षा को अपनी प्राथमिकताओं में जिक्र करते हुए तत्काल पर्याप्त सुरक्षा प्रहरियों तथा साफ-सफाई के लिए पर्याप्त सफाईकर्मियों की नियुक्ति के लिए विश्वविद्यालय से अनुरोध करेंगे। इसके लिए अनुरोध पत्र अगले ही सप्ताह प्रेषित कर दिया जाएगा। पुस्तकालय में नए पुस्तकों के साथ ही छात्र-छात्राओं के हाईटेक रीडिंग रूम की व्यवस्था की जाएगी। नैक को लेकर विभिन्न विभाग में बैठक करके उनकी आवश्यकताओं का आकलन करेंगे, ताकि नैक में बेहतर परिणाम मिल सके।

समस्या प्राथमिकता के आधार पर सुलझाएंगे

किसी भी शिक्षक व शिक्षकेत्तर कर्मी की समस्या काे प्राथमिकता के आधार पर सुलझाया जाएगा। सीसीटीवी, इंटरकॉम व पूरे परिसर तथा सभी भवनों व कमरों में प्रकाश की समुचित व्यवस्था तत्काल बहाल करने का प्रयास किया जाएगा। प्राचार्य ने अत्यधिक बिजली बिल भुगतान व परिसर के भूमि विवाद पर भी चर्चा की और इसे टाटा स्टील के पदाधिकारियों के साथ सार्थक बातचीत कर सुलझाने की बात कही। प्राचार्य ने इस बात पर बार-बार जोर दिया कि हम सभी का प्रयास होना चाहिए कि महाविद्यालय एक बार फिर अपने स्वर्णिम अतीत की तरह चमक सके।

मीट में ये रहे शामिल

कार्यक्रम के दौरान स्वागत भाषण डा. संजीव कुमार सिंह, विधि महाविद्यालय के प्रभारी प्राचार्य डा. जितेंद्र कुमार, कर्मचारी संघ के अध्यक्ष विश्वनाथ उर्फ ननका ने दिया। विभागीय परिचय डा. राजू ओझा व स्वरूप कुमार मिश्रा ने दिया। धन्यवाद ज्ञापन डा. नीता सिन्हा व संचालन डा. अशोक कुमार रवानी ने किया। वर्चुअल मीटिंग में सीनेट सदस्य डा. विजय कुमार पीयूष, डा. गजेंद्र सिंह, रविशंकर प्रसाद सिंह, एसएन ठाकुर, मंगला श्रीवास्तव, परीक्षा नियंत्रक डा. भूषण कुमार सिंह, डा. अमर कुमार, सुनीता सहाय, संजय नाथ, प्रभारी प्रशाखा प्रदाधिकारी चंदन कुमार समेत समस्त शिक्षक व शिक्षकेत्तर कर्मचारी उपस्थित थे।

पूर्व प्राचार्य को दी गई श्रद्धांजलि

वर्चुअल मीटिंग के दौरान शोक सभा भी हुई, जिसमें भूतपूर्व प्राचार्य डा. वीके सिंह को श्रद्धांजलि दी गई। उनकी आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन रखकर ईश्वर से प्रार्थना की गई। इसमें उनके परिवार के सभी सदस्यों को संबल प्रदान करने के लिए ईश्वर से प्रार्थना की गई। कार्यक्रम का समापन राष्ट्रीय गान के साथ हुआ।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.