24 घंटे बिजली उपलब्ध कराने के लिए खर्च हो रहे 136 करोड़

देश की आजादी के 74 साल बाद जमशेदपुर बिजली सर्किल के 16 नए स्थानों पर पहली बार फीडर बनाए जा रहे हैं। उसका मकसद है शहरी क्षेत्रों के साथ ही अब ग्रामीण क्षेत्रों में हर वक्त बिजली आपूर्ति करना।

JagranMon, 06 Dec 2021 09:15 PM (IST)
24 घंटे बिजली उपलब्ध कराने के लिए खर्च हो रहे 136 करोड़

मनोज सिंह, जमशेदपुर :

देश की आजादी के 74 साल बाद जमशेदपुर बिजली सर्किल के 16 नए स्थानों पर पहली बार फीडर बनाए जा रहे हैं। उसका मकसद है शहरी क्षेत्रों के साथ ही अब ग्रामीण क्षेत्रों में हर वक्त बिजली आपूर्ति करना। 16 में से तीन फीडर बनकर चालू हो गया है जबकि छह फीडर बनकर तैयार हो गया है। पांच फीडर में काम चल रहा है।

जमशेदपुर के जीएम प्रतोष कुमार ने बताया कि जमशेदपुर के शहरी क्षेत्रों के अलावा अब ग्रामीण क्षेत्रों में 24 घंटे बिजली देने की कवायद चल रही है। इस पर लगभग 136 करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं। इसके बन जाने से दो लाख से अधिक उपभोक्ताओं को डायरेक्ट फायदा होने लगेगा।

----

आने वाले समय में शहर हो या गांव 24 घंटे मिलेगी बिजली

जमशेदपुर एरिया बोर्ड के मुख्य अभियंता सह विद्युत महाप्रबंधक प्रतोष कुमार कहते हैं कि सभी फीडर बन जाने से आने वाले समय में शहर ही नहीं बल्कि ग्रामीण क्षेत्रों में भी 24 घंटे बिजली की आपूर्ति की जाएगी। उन्होंने बताया कि शहरी क्षेत्रों में बिजली आपूर्ति काफी हद तक सुधर गई है।

----

कहां-कहां बन रहे फीडर

बोड़ाम, नया ग्राम घाटशिला, कटिन, सिदगोड़ा, सुंदरनगर, गिद्धी झोपड़ी, बालीबांध, दोमुहानी, गजाडीह, सालडीह, छोटा गम्हरिया, बड़ा जामदा, बांधडीह, अमाईनगर, हथियाडीह तथा रोआम में बनाए जाने हैं। उपरोक्त स्थानों में से आदित्यपुर विद्युत डिवीजन के तहत हाथियाडीह में बन रहे फीडर का काम बंद है तथा रोआम में अब तक काम शुरू नहीं हुआ है। अधीक्षण अभियंता ने बताया कि फीडर निर्माण का काम चल रहा है। तीन फीडर बनकर चालू हो गया है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.