इंस्टीच्यूट ऑफ इलेक्ट्रिकल एंड इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियर्स (आइइइइ) यूएसए ने आरवीएस कॉलेज को प्रदान की चौथे अंतरराष्ट्रीय कांफ्रेस के आयोजन की अनुमति

चौथे अंतरराष्ट्रीय कांफ्रेस का आयोजन 11 एवं 12 फरवरी 2022 को आरवीएस कॉलेज में होगा। आइइइइ के उत्कृष्टता के चलते इस बार तकरीबन 200 से ज्यादा रिसर्च पेपर्स पूरी दुनिया से आने की संभावना है। यह कांफ्रेंस ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों ही मोड में होगा।

Rakesh RanjanWed, 22 Sep 2021 05:05 PM (IST)
कांफ्रेस की अनुमति की जानकारी कांफ्रेस के अध्यक्ष डा. राजेश कुमार तिवारी।

जासं, जमशेदपुर, जागरण संवाददाता। इंस्टीच्यूट ऑफ इलेक्ट्रिकल एंड इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियर्स (आइइइइ) यूएसए ने आरवीएस कॉलेज ऑफ इजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी जमशेदपुर को चौथे आइइइइ कांफ्रेस करने की स्वीकृति प्रदान कर दी है। मालूम हो कि आइइइइ विश्व का उत्कृष्ट रिसर्च संस्थान है। कांफ्रेस की अनुमति की जानकारी कांफ्रेस के अध्यक्ष डा. राजेश कुमार तिवारी ने कॉलेज में प्रेस वार्ता आयोजित कर दी।

चौथे अंतरराष्ट्रीय कांफ्रेस का आयोजन 11 एवं 12 फरवरी 2022 को आरवीएस कॉलेज में होगा। आइइइइ के उत्कृष्टता के चलते इस बार तकरीबन 200 से ज्यादा रिसर्च पेपर्स पूरी दुनिया से आने की संभावना है। यह कांफ्रेंस ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों ही मोड में होगा। वैसे स्टूडेंट्स जो कोविड या अन्य कारणों से आने में समर्थ नहीं होंगे वो आपने रिसर्च पेपर्स को अपने शहर से ही सम्मिलित करवा सकते हैं। बता दें कि पूरे झारखंड प्रदेश में आइइइइ कांफ्रेस केवल आईआईटी आईएसएम धनबाद तथा आवीएस कॉलेज जमशेदपुर में ही होता रहा है। इससे पहले सारे रिसर्च पेपर्स विश्व के अन्य जनरलों में प्रकाशित होता था परन्तु इस बार आइइइइ का मान्यता मिल जाने से ये कांफ्रेस और भी ज्यादा विशेष हो जाता है। इस कांफ्रेस के मुख्य वक्ता आस्ट्रेलिया से डा. एलेक्स, यूएस के इन्फोसिस हेड मनीष राठौड़, मलेशिया से मल्टीमीडिया यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर डा. लॉ तथा भारत से आईआईटी के प्रसिद्ध कम्प्यूटर साइंस के प्रोफेसर डा. राजीव मॉल है। गौरतलब है कि इन सभी गणमान्यों ने कॉन्फ्रेंस में अपनी उपस्थिति दर्ज कराने की स्वीकृति भी दे दी है।

प्रेस वार्ता में इनकी रही मौजूदगी

प्रेस वार्ता में कोषाध्यक्ष शत्रुध्न सिंह ने कहा कि इस कांफ्रेस से कॉलेज के ऐसे सभी छात्र जो कम्प्यूटर साइंस इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रॉनिक एंड कम्यूनिकेशन इंजीनियरिंग से संबंध रखते हैं उन्हें इसका विशेष लाभ प्राप्त होगा क्योंकि वे सभी अपने रिसर्च को इन जगहों एवं जनरलों में प्रकाशित करवा सकते हैं। ये कांफ्रेस अपने किए हुए रिसर्च को एक उच्चतम स्तर पर प्रदर्शित करने का एक उत्तम साधन है। आरवीएस कॉलेज इस तरह के कांफ्रेस एवं सम्मेलनों के माध्यम से अपने छात्रों को हमेशा ही ऐसा अवसर प्रदान करता रहा है जिससे छात्रों की प्रतिभा को एक नई ऊंचाई प्राप्त हो सकें।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.