ज्वाइंट कंसल्टेशन के कारण टाटा स्टील में 90 सालों से है औद्योगिक शांति, जानिए किसने कही से बात

Industrial peace in Tata Steel टाटा स्टील में जब भी किसी तरह की समस्या आई कंपनी प्रबंधन और यूनियन नेतृत्व ने मिल बैठ कर उसे सुलझाया। कंपनी में औद्योगिक शांति होने के कारण कंपनी तरक्की कर रही है बल्कि सभी कर्मचारी भी खुशहाल हैं।

Rakesh RanjanTue, 14 Sep 2021 05:49 PM (IST)
हर कंपनी में ज्वाइंट कंसल्टेशन बढ़िया होना ही चाहिए।

जमशेदपुर, जागरण संवाददाता। टाटा स्टील में ज्वाइंट कंसल्टेशन कितनी अच्छी तरह से संचालित होता है इसका एकमात्र उदाहरण है कि पिछले 90 वर्षों में यहां एक बार भी हड़ताल या कोई विवाद नहीं हुआ। कंपनी में औद्योगिक शांति बनी हुई है। यह कहना है टाटा स्टील के वाइस प्रेसिडेंट (सेफ्टी, हेल्थ एंड सस्टेनबिलिटी) संजीव पॉल का। यूनाइटेड क्लब में टाटा स्टील के आइबीएमडी और सेफ्टी विभाग के जेडीसी का शुभारंभ करते हुए उन्होंने ये बातें कहीं।

उन्होंने बताया कि टाटा स्टील में जब भी किसी तरह की समस्या आई, कंपनी प्रबंधन और यूनियन नेतृत्व ने मिल बैठ कर उसे सुलझाया। कंपनी में औद्योगिक शांति होने के कारण कंपनी तरक्की कर रही है बल्कि सभी कर्मचारी भी खुशहाल हैं। इसलिए हर कंपनी में ज्वाइंट कंसल्टेशन बढ़िया होना ही चाहिए। वहीं, यूनियन अध्यक्ष संजीव चौधरी ने भी ज्वाइंट कंसल्टेशन पर एक कहानी सभी के साथ साझा की। कहा कि दोनो में से कोई एक पक्ष यदि अपनी ही बढाई करे तो उसका क्या नुकसान होता है, इसके बारे में बताया। वहीं, ज्वाइंट कंसल्टेशन से राजेश जेम्स में कंपनी में साझा समितियों के शुरूआत कब से हुई, इसके इतिहास के बारे में विस्तार से बताया। इस मौके पर आइबीएमडी चेयरमैन नीरज सिन्हा, सेफ्टी विभाग के वाइस चेयरमैन जयशंकर सिंह, सेफ्टी की एचआर अद्रिता मोइत्रा, एम भास्कर राव सहित विभागीय कमेटी मेंबर व अधिकारी उपस्थित थे।

पिलेट-काेक प्लांट की तरह मिलेगी सुविधा : चीफ

एलडी-3 टीएससीआर के कर्मचारियों को पिलेट व कोक प्लांट की तरह एमिनिटीज की सुविधा मिलेगी। सोमवार को फ्लैट प्रोडक्ट के सभागार में विभाग की जेडीसी को संबोधित करते हुए चीफ ऑफ मैन्युफैक्चरिंग (फ्लैट प्रोडक्ट) अनिल पुजारी ने ये बातें कहीं। वहीं, यूनियन अध्यक्ष संजीव चौधरी ने कहा कि टाटा स्टील और यूनियन 100 साल पुरानी है लेकिन कंपनी और दोनो संगठनों के बीच का संबंध अब भी पूरी तरह से जवां है। ज्वाइंट कंसल्टेशन में खासकर जब एमिनिटीज की बात आती है तो इसे गंभीरता से लेने की जरूरत है। वहीं, यूनियन महामंत्री सतीश सिंह ने कहा कि कंपनी का विजन सर्वोपरि है तो कर्मचारियों की सुख-सुविधा में भी कमी नहीं होनी चाहिए। इस मौके पर विभागीय चीफ हरि बाबू उपाध्याय, एचआरबीपी (जमशेदपुर) चीफ जीपी मिश्रा, विभाग के जेडसी वाइस चेयरमैन शिवरंजन कुमार सहित यूनियन व कंपनी के अधिकारी उपस्थित थे।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.