रेल कर्मचारियों ने लिए जरूरी खबर, सेंट्रल स्टाफ बेनीफिट कमेटी ने की ये घोषणा

रेलवे मेंस कांग्रेस के संयुक्त महासचिव शशि मिश्रा। फाइल फोटो

Railway Central Staff Benefit Committee. कोविड 19 के कारण वर्ष 2020 में सेंट्रल स्टाफ बेनीफिट कमेटी की बैठक नहीं हो पाई है। रेलवे मुख्यालय हर मंडल को उनके कर्मचारियों के कल्याण के लिए 18 तरह की कल्याणकारी योजनाओं के लिए राशि उपलब्ध कराता है।

Rakesh RanjanWed, 27 Jan 2021 10:57 AM (IST)

जमशेदपुर, जासं।  दक्षिण- पूर्व रेल जोन में गुरुवार को केंद्रीय स्टाफ बेनीफिट कमेटी की बैठक होने वाली है। इसकी अध्यक्षता प्रिंसिपल चीफ पर्सनल ऑफिसर करेंगे। इस बैठक में दक्षिण रेल मंडल के खड़गपुर, टाटानगर, आद्रा और रांची डिविजन के मंडल संयोजक शामिल होंगे। 

रेलवे मुख्यालय हर मंडल को उनके कर्मचारियों के कल्याण के लिए 18 तरह की कल्याणकारी योजनाओं के लिए राशि उपलब्ध कराता है। इसमें गंभीर रूप से बीमार वैसे कर्मचारियों को आर्थिक मदद दी जाती है जो बीमारी के कारण विदआउट पे हो चुके हैं। ऐसे कर्मचाारियों को कमेटी द्वारा कर्मचारी का बेसिक दिया जाता है ताकि वे अपने परिवार का भरण-पोषण कर पाएं। वहीं, वैसे रेलवे के कर्मचारी जो इंजीनियरिंग, एमबीए सहित कई तरह के उच्च शिक्षा कर रहे हैं। ऐसे कर्मचारियों के बच्चों को एकमुश्त छात्रवृत्ति दी जाती है। 

आवेदन भेजने की अपील

केंद्रीय स्टाफ बेनीफिट कमेटी के सदस्य सह चक्रधरपुर मंडल मेंस कांग्रेस के संयुक्त महासचिव ने अपने सभी कर्मचारियों से अपील की है कि वे ऐसी तमाम योजनाओं का लाभ लेने अपने डिविजन के माध्यम से मुख्यालय को आवेदन भेजें। शशि मिश्रा का कहना है कि कोविड 19 के कारण वर्ष 2020 में बेनीफिट कमेटी की बैठक नहीं हो पाई है। ऐसे में वे पिछले वर्ष के आवेदनों पर भी प्राथमिकता के आधार पर कर्मचारियों की पुरानी मांगों को पूरा कराने का प्रयास करेंगे।

ये हैं पहले की उपलब्धियां

उन्होंने बताया कि वर्ष 2018-19 में उनके प्रयास से टाटानगर रेलवे अस्पताल सहित चक्रधपुर रेलवे अस्पताल को सौंदर्यीकरण के लिए 18 लाख रुपये स्वीकृत कराए गए थे। वहीं, 2018-19 चक्रधपरपुर, डांगवापोसी, टाटानगर, राउरकेला में कर्मचारियों के ठहरने के लिए सब ओडिएंट रेस्ट हाउस में 10-10 लाख रुपये स्वीकृत कराए गए थे। ऐसे में यह बेहद महत्वपूर्ण हो जाता है कि गुरुवार को होने वाली बैठक में चक्रधरपुर मंडल को कितने आवेदन स्वीकृत होते हैं और विभिन्न योजनाओं के लिए कितनी राशि स्वीकृत होती है।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.